Bhopal Molestation Case: थाने में नहीं है महिला जांच अधिकारी, टीआई ने साधी चुप्पी

Share

Bhopal Molestation Case: शराब के नशे में पिता ने बेटी को साथ सोने के लिए किया था मजबूर

Bhopal Molestation Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश में यौन उत्पीड़न (Bhopal Molestation Case) के मामले को लेकर राजनीतिक बयानबाजी होती रहती है। निशाने पर पुलिस महकमा ही होता है। लेकिन, यह महकमा सरकार के बूते ही चलता है। महकमे की हालत इन दिनों काफी खराब चल रही है। मामला नाबालिग बच्ची से यौन उत्पीड़न से जुड़ा है। आरोपी उसका पिता ही है। इस मामले की जांच करने के लिए थाने में महिला पुलिस अधिकारी ही नहीं हैं। घटना किसी दूरस्थ जिले की नहीं बल्कि प्रदेश की राजधानी भोपाल की है। घटना बैरसिया थाना क्षेत्र की है जिसमें महिला पुलिस अधिकारी न होने के कारण केस डायरी थाना प्रभारी के पास सुरक्षित रखी हुई है।

बच्ची की मां गई थी अस्पताल

बैरसिया थाना पुलिस ने बताया 16 वर्षीय बच्ची थाना क्षेत्र की रहने वाली है। पीड़िता की मां ने बताया पति मजदूरी करता है। आरोपी पति शराब पीने का आदी है। आए दिन शराब के नशे में वह घर आता है। उसके चार बच्चे है। घटना के कुछ दिन पहले पीड़िता की मां की डिलीवरी हुई थी। जिस दौरान उसके बच्चे की मौत हो गई। पीड़िता की मां उसकी बहन के साथ बैरसिया अस्पताल में भर्ती थी। घर में उसके दो बाई और एक छोटा भाई था। घर के आगे वाले कमरे में बच्ची के दादा सो रहे थे।

शराब के नशे में आया था पिता

Bhopal Molestation Case
सांकेतिक चित्र

पीड़िता ने बताया घटना वाले दिन दोपहर तीन बजे पिता शराब के नशे में घर आया था। पिता को देखकर उसके भाई—बहन घर से बाहर चले गए। तभी आरोपी पिता उससे बोला कि वह खाना रख दे और हाथ पकड़कर बच्ची से बोला चल मेरे साथ सोना। बच्ची ने डर के कारण उससे हाथ छुड़ाया और शोर मचाया। उसके दादा नींद से उठकर कमरे में आए और पिता को समझाया। जिसके बाद पिता घर से बाहर चले गए। शाम को मां अस्पताल से घर आई तो उसे सारी आप—बीती बताई। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर धारा 354/354क/7/8 (छेड़छाड़ और पोस्को एक्ट) का मामला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: मामूली विवादों में भिड़े परिवार के सदस्य

टीआई बचते नजर आए

सूत्रों के अनुसार थाने में महिला जांच अधिकारी की कमी है। इस कारण दूसरे थाने से महिला अफसर को बुलाकर एफआईआर कराई गई। केस डायरी बैरसिया थाना प्रभारी कैलाश नारायण भारदवाज (TI Kailash Narayan Bhardwaj) के पास ही है। इस जानकारी पर प्रतिक्रिया के लिए द क्राइम इंफो ने उनसे संपर्क भी किया। लेकिन, उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। जवाब नहीं देने पर उन्हें एसएमएस पर भी जानकारी चाही गई थी। खबर लिखे जाने तक उनका कोई जवाब नहीं आया।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!