MP News:  कोरोना की दूसरी लहर में मारे गए परिवार को अनुग्रह राशि देगी सरकार

Share

MP News: योजना बनाने पर मंथन शुरु, कागजों में अभी आना बाकी

MP News
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मध्यप्रदेश

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP News) की सरकार ने तय किया है कि वह कोरोना की दूसरी लहर में मृत व्यक्ति के परिजनों को एक लाख रुपए की अनुग्रह राशि देगी। इस योजना की घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की है। हालांकि यह कवायद भाजपा विधायकों की बैठक में आए प्रस्ताव के दौरान किया गया है। इसको प्रदेश सरकार के अफसर अभी कागजों में तैयार करेंगे। जिसके बाद इस योजना की आधिकारिक घोषणा होगी।

इसलिए आयोजित हुई थी बैठक

MP  News
विष्णु दत्त शर्मा, सांसद भाजपा— फाइल फोटो

भारतीय जनता पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार मैदान में पार्टी की बिगड़ी छवि को लेकर काफी दिनों से सूचनाएं मिल रही थी। कई कार्यकर्ता और पदाधिकारी कोरोना महामारी में सरकार के रवैये से नाराज चल रहे हैं। इस नाराजगी को दूर करने के लिए भाजपा विधायकों के साथ मुख्यमंत्री ने बैठक की थी। इस बैठक में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा समेत कई अन्य संगठन के पदाधिकारी भी मौजूद थे। बैठक में हुई बातचीत तो बाहर नहीं आई। लेकिन, इसी बैठक में कोरोना संक्रमित से मृत व्यक्ति के परिजनों को एक—एक लाख रुपए देने की बात सामने आई है।

यह भी पढ़ें: भोपाल का माल्या, जिसने रकम तो नहीं लेकिन कई कोरोना संक्रमितों के जीवन को दांव पर लगा दिया था

कई बिंदु पर स्थिति साफ नहीं

MP News
एमपी विधानसभा—फाइल फोटो साभार

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस योजना का फायदा उन्हें मिलेगा जो दूसरी लहर में मृत हुए है। पहली लहर में मृत परिजनों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। इसके अलावा सरकारी आंकड़ों में मृत को ही कोरोना अनुग्रह राशि का लाभ मिलेगा। जबकि सरकारी आंकड़ों में मृतकों की संख्या को लेकर मध्य प्रदेश सरकार की काफी किरकिरी मीडिया में ही हुई है। मंत्रालयीन सूत्रों के अनुसार इस योजना को लेकर सरकारी नोडल एजेंसी तय करने और उसके नियम बनाने के लिए कमेटी और उसके कानूनी रुप के प्रस्ताव पर अभी काफी काम करना बाकी है। इस योजना को कैबिनेट की बैठक में पास करने के बाद विधानसभा के सत्र में लाया जाएगा। फिर बिल बनने के बाद इस स्कीम का फायदा मिलेगा। यह सारी कवायदों में लगभग तीन महीना से अधिक का समय लग सकता है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दवा दुकान के नौकर का अपहरण
Don`t copy text!