Bhopal Suspicious Death : कमरे में मिले सैनेटाइजर से मौत की कहानी उलझी

Share

Bhopal Suspicious Death : गैस चूल्हा कंपनी के लिए करता था मार्केटिंग का काम, कंपनी के दफ्तर में ही मिली लाश

Bhopal Suspicious Death Case
प्रभात सिंह की लाश बिस्तर पर ऐसे मिली

भोपाल। मौत की एक कहानी ने पुलिस को उलझन (Bhopal Suspicious Death) में डाल दिया है। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। जिस व्यक्ति की लाश मिली है वह गैस चूल्हा कंपनी के लिए मार्केटिंग का काम करता था। जहां लाश मिली है उसके ही नजदीक सैनेटाइजर की शीशी भी मिली है। शक इस बात को लेकर भी जताया जा रहा है कि कहीं सैनेटाइजर पीने से मौत (Bhopal Sanitizer Drink Case) वजह नहीं हो। फिलहाल शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

घर वालों ने दी थी जानकारी

पिपलानी थाना पुलिस ने बताया कि इलाके में इंद्रपुरी स्थित त्रिलोक अपार्टमेंट (Trilok Apartment Death Case) में शनिवार दोपहर शव पड़ा मिला। शव की पहचान प्रभात सिंह (Prabhat Singh) पिता भानू प्रताप उम्र 33 साल के रूप में हुई। वह मूलत: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जालौन जिले के माधवगढ़ थाना क्षेत्र का रहने वाला था। तीन—चार दिन से परिजनों ने बातचीत नहीं की थी। इसलिए परिवार ने मकान मालिक को फोन लगाकर जानकारी दी। वह जब अपार्टमेंट में पहुंचे तो प्रभात सिंह (Prabhat Singh Death Case) की लाश पड़ी हुई थी।

यह भी पढ़ें: भोपाल का बिल्डर जो सगाई के बाद दूसरी शादी करने के चक्कर में ऐसा फंसा

इसलिए हैं पेंच

मामले की जांच कर रहे अधिकारी एएसआई भारत मीणा (ASI Bharat Meena) ने बताया कि प्रभात सिंह गैस चूल्हा बनाने वाली कंपनी के लिए नौकरी करता था। वह कंपनी के दफ्तर में ही रहता भी था। यह कंपनी गैस चूल्हा बनाने के अलावा जॉब कार्ड बनाने और उसको सुधारने का भी काम करती है। मौत (Bhopal Suspicious Death Case) को लेकर अभी राय साफ नहीं है। एफएसएल के वैज्ञानिकों को सैनिटाइजर (Bhopal Sanitizer Peene Se Mout ) की दो खाली शीशी भी मिली है। इस कारण मौत को लेकर यह भी अटकल है कि कहीं सैनेटाइजर पीकर आत्महत्या (Bhopal Suicide Case) न की हो। पुलिस को फिलहाल पीएम रिपोर्ट का इंतजार है।

यह भी पढ़ें:   MP IPS Transfer: बाहुबली फेम “सचिन” की कप्तानी समाप्त

यह भी पढ़ें: कमजोर दिल के हैं तो विश्व हिन्दू परिषद के नेता का लाइव मर्डर होते मत देखिए

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!