City Hospital News: नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन से नौ लोगों की हुई थी मौत: एसपी

Share

City Hospital News: साफ्टवेयर से कई मरीजों का रिकॉर्ड डिलीट किया गया, सबूत मिटाने के लिए 200 शीशी तोड़ी गई

City Hospital News
यह तस्वीर जबलपुर कलेक्टर के आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से ली गई है। इसमें सिटी अस्पताल के मालिक सरबजीत सिंह मोखा दिख रहे हैं। उन्होंने मार्च, 2020 में रेडक्रास सोसायटी को पांच लाख रुपए दान दिए थे। यह दान का चैक लेते हुए कलेक्टर भरत यादव दिखाई दे रहे रहे हैंं।

जबलपुर। मध्य प्रदेश का बहुचर्चित सिटी अस्पताल (City Hospital News) का मामला सनसनीखेज बन गया है। इस मामले में ताजा खुलासा शनिवार को जबलपुर एसपी सिद्दार्थ बहुगुणा ने किया है। उन्होंने कहा है कि अस्पताल के साफ्टवेयर से कई सबूत मिटाए भी गए है। इन सबूतों को सायबर सेल की मदद से रिकवर किया जा रहा है। इसके अलावा छानबीन में यह भी पता चला है कि 200 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की शीशी तोड़ी गई है।

यह भी पढ़ें: बलात्कार का एक मामला जिसको दबाने के लिए दी गई थी रिश्वत, लेकिन इस कांड के कारण खुल गया मामला

15 लाख के आए थे इंजेक्शन

City Hospital News
सरबजीत सिंह मोखा (बाएं) अस्पताल का फार्मासिस्ट देवेश चौरसिया (दाहिनी तरफ)

जानकारी के अनुसार सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत मोखा अभी पुलिस अभिरक्षा में है। उसका बेटा हरकरण सिंह मोखा अभी फरार है। उसकी ताजा लोकेशन दिल्ली में मिली है। यहां उसकी ससुराल भी बताई जा रही है। सरबजीत मोखा विहिप के नर्मदा मंडल का अध्यक्ष भी था। उसकी भाजपा के कई नेताओं के साथ तस्वीरें भी वायरल हो रही है। पुलिस को जांच में पता चला है कि आरोपी सरबजीत मोखा ने सूरत से 15 लाख रुपए के नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदे थे। इसमें मेडिकल संचालक सपन जैन ने मदद की थी। उससे गुजरात पुलिस ने पूछताछ की थी। जिसके बाद मोखा पर दबिश देने और गिरफ्तारी की कार्रवाई की गई थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Dowry Case: व्हाट्सएप वीडियो कॉलिंग करके दिया तलाक

यह भी पढ़ें: भोपाल का माल्या, जिसने रकम तो नहीं लेकिन कई कोरोना संक्रमितों के जीवन को दांव पर लगा दिया था

पत्नी भी हिरासत में

City Hospital News
जबलपुर सिटी अस्पताल की प्रशासक सोनिया खत्री जो गिरफ्तार है

पुलिस को रिकॉर्ड में पता चला है कि कोरोना की दूसरी लहर में अप्रैल से अब तक अस्पताल में 468 मरीजों का इलाज हुआ था। इसमें 209 नकली इंजेक्शन 171 मरीजों को लगाए गए थे। इन मरीजों में से नौ की मौत होने की जानकारी पुलिस के हाथ लगी है। इसके अलावा पुलिस की एक टीम ने सरबजीत मोखा के करीबी राकेश शर्मा के घर पर भी छापा मारा था। पुलिस ने सरबजीत मोखा के अलावा अस्पताल में फार्मासिस्ट देवेश चौरसिया, प्रशासक सोनिया खत्री, मोखा की पत्नी जसमीत मोखा से भी पुलिस ने पूछताछ की है। दोनों आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें: गर्लफ्रेंड नर्स और ब्यॉयफ्रेंड की हरकतों की वजह से बेखबर कोविड संक्रमित मरीजों की मुश्किल में आ गई जान

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!