Fake Currency : गुजरात में 2 करोड़ के नकली नोटों के साथ 4 तस्कर गिरफ्तार

Share

नोटबंदी में किए गए दावे की एक बार फिर खुली पोल, असली नोटों में छिपाकर नकली नोट खपाने की तैयारी में थे तस्कर

सांकेतिक फोटो

सूरत। नोटबंदी (Demonetization) के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कहा था कि इससे नकली नोट की समस्या खत्म हो जाएगी। लेकिन तमाम खबरें, पीएम मोदी के दावे को झूठा साबित करती है। अब उनके ही गृह राज्य गुजरात (Gujarat) से सनसनीखेज खबर सामने आई है। पुलिस ने 2 करोड़ रुपए के नकली नोटों (Fake Currency) के साथ 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। शनिवार को पुलिस ने सूरत (Surat) में छापामार कार्रवाई कर नकली नोट बरामद किए है। इतनी बड़ी मात्रा में नकली नोट पहली बार बरामद किए गए है।

पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए आरोपी नकली नोटों के साथ अपने असली नोटों को एक्सचेंज करके लोगों को ठगना चाहते थे। शुक्रवार की रात एक चेक पोस्ट के पास बसों की नियमित जांच के दौरान, सूरत पुलिस ने मुंबई के चार लोगों को नोटों के बंडलों के साथ गिरफ्तार किया।

आरोपी 200 रुपए के नकली नोटों के 9981 बंडल ले जा रहे थे। नकली नोटों पर “चिल्ड्रन अकाउंट ऑफ इंडिया” छपा हुआ है। नोटों पर सीरियल नंबर नहीं छापा गया था। आरोपियों के पास से 200 रुपए के असली नोट भी बरामद किए गए है। पुलिस का कहना है कि इन्हीं असली नोटों को दिखाकर आरोपी नकली नोट खपाने की फिराक में थे।

अधिकारी ने कहा, “आरोपी, लोगों को दिवाली के उत्सव के दौरान नकली नोटों के साथ असली नोटों की अदला-बदली करने की योजना बना रहे थे। उन्होंने नकली नोटों को धोखा देने के लिए असली लोगों के बीच रखा था।” पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 420 (धोखाधड़ी और बेईमानी से संपत्ति की डिलीवरी को रोकना), 120 (बी) (साजिश), और 114 (जब अपराध किया गया हो तो उपस्थित होना) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें:   Fake Currency : नागमणि पाकर धनवान बनना चाहता था ये तांत्रिक, पैसा जुटाने के लिए छापे नकली नोट
Don`t copy text!