हाथियों का आतंक, तीन ग्रामीणों को कुचल दिया

Share

छत्तीसगढ़ के 7 जिले प्रभावित

elephant Attack
फाइल फोटो

जशपुर। (Jashpur) छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में हाथियों का आतंक जारी है। एक ही दिन में हाथियों ने तीन ग्रामीणों को मौत के घाट उतार दिया। अलग-अलग इलाकों में हाथियों ने ग्रामीणों पर हमला किया। वन अधिकारियों ने सोमवार को घटनाओं की जानकारी दी। जिले के पत्थलगांव वन परिक्षेत्र में घटनाएं हुई। वन अधिकारी ने बतायाकि सराईटोला गांव में रहने वाला 50 वर्षीय दिसाईराम चौहान दुमरबहार गांव से लौट रहा था। इसी दौरान रास्ते में हाथी ने उस पर हमला कर दिया। हाथियों की मौजूदगी के चलते वन विभाग ने ग्रामीणों को उस रास्ते का इस्तेमाल करने को मना किया था, जिस पर चौहान जा रहा था।

वन अधिकारियों ने बताया कि अन्य दो घटनाएं भी जिले में ही हुई। 62 वर्षीय जगत राम और 65 वर्षीय कारू को झिमकी गांव के पास हाथियों ने निशाना बनाया। मृतकों के परिजन को त्वरित मुआवजे के तौर पर 25-25 हजार रुपए दिए गए है। 5.75 लाख रुपए की राशि भी दी जाएगी।

छत्तीसगढ़ के 7 जिलों में मनुष्य और हाथियों के बीच टकराव की घटनाएं सामने आती रहती है। सरगुजा, सूरजपुर, कोरबा, रायगढ़, जशपुर, बलरामपुर और कोरिया जिले में सघन जंगल है। वहां बड़ी संख्या में हाथी मौजूद है। यहां जंगली हाथी ग्रामीणों पर हमला कर देते है। घर तोड़ देते है, फसलें भी बरबाद करते है।

यह भी पढ़ेंः महिला के साथ निर्भया जैसी हैवानियत, गुप्तांग में रॉ़ड डाली

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Anti Naxal Operation : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में महिला समेत तीन इनामी नक्सली गिरफ्तार
Don`t copy text!