Bihar Rape Victim Burn: उन्नाव के बाद बेतिया में जलाई गई रेप पीड़िता

Share

वारदात को अंजाम देकर फरार हुए आरोपी को पुलिस ने दबोचा

 

Biohar Burn Case
सांकेतिक फोटो

पटना। हैदराबाद (Hyderabad Gang Rape), उन्नाव (Unnao Gang Rape), मुजफ्फरपुर (Mujjafarpur Gang Rape) और अब बिहार (Bihar Rape Victim Burn) का बेतिया (Betiya Gang Rape) बदनाम हो गया। यहां भी एक रेप पीड़िता को जला दिया गया। रेप पीड़ित महिला की मौत हो गई है। आरोपी को पुलिस ने दबोच लिया है। लेकिन, इस घटना ने एक बार फिर झकझोर दिया है। आरोपी ने पूरी घटना को अपने गुनाह को छुपाने के लिए अंजाम दिया था। हालांकि अब वह सलाखों के पीछे हैं।

घटना बिहार (#Bihar Gang Rape) के बेतिया (#Betiya Gang Rape) जिले के नरकटियागंज इलाके के शिकारपुर थाना क्षेत्र की है। घटना मंगलवार को हुई थी। यहां पीड़ित युवती को घर में घुसकर आरोपी ने केरोसिन डालकर जला दिया था। इलाज के लिए पटना ले जाते वक्त रास्ते में हाजीपुर के पास उसकी मौत हो गई। पुलिस को घटना की सूचना उसके भाई ने दी थी। भाई ने पुलिस को बताया कि डेढ़ महीने पहले अरमान (Gang Rapist Arman) नाम के शख्स ने उससे बलात्कार किया था। जिसके बाद बहन ने लोक लाज के डर से परिजनों को इस बात की कोई जानकारी नहीं होने दी थी। उसके बाद बेखौफ आरोपी अपने कारनामे को अंजाम देता रहा। इस दौरान वह गर्भवती हो गई थी। राज तब खुला जब उसको घर में उल्टियां होने लगी। इलाज के लिए उसे अस्पताल ले जाया गया। यहां डॉक्टरों ने परिवार को उसके गर्भवती होने की जानकारी दी।
युवती से पूछने पर उसने सच्चाई परिजनों को बताई थी। घटना से दो दिन पहले रविवार को परिजन आरोपी मोहम्मदपुर निवासी बसीर मियां के 20 वर्षीय पुत्र अरमान मियां के घर गए थे। परिजनों ने दोनों की शादी कराने के लिए कहा था। वह परिवार शादी के लिए राजी नहीं हुआ। परिजन उल्टे पैर वापस घर आ गए थे। घटना वाली सुबह सब जाने के बाद युवती घर में अकेली थी। इस दौरान आरोपी घर में घुसा और केरोसिन डालकर मौके से फरार हो गया था। आग की लपटों से झुलसी पीड़िता चीखती—चिल्लाती घर के आगन में आ गिरी। लोगों ने युवती पर कंबल डालकर आग बुझाई और परिजनों को घटना की सूचना दी थी।

यह भी पढ़ें:   गैस कटर से एटीएम काटकर 25 लाख रुपए ले उड़े बदमाश

यह भी पढ़ें: वीडियों में देखिए टीआई का सिंधी समाज को लेकर क्या है सोचना, मचा बवाल

परिजन उसे नरकटियागंज अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां डॉक्टरों ने उसे प्राथमिक उपचार में कहां की वह 70 प्रतिशत तक जल चुकी है। बेतिया जीएमसीएच रेफर कर दिया गया। यहां पहुंचने से पहले युवती की रास्ते में दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों से लिए बयानों के बाद पुलिस आरोपी अरमान मियां की तलाशी के लिए जगह—जगह छापे मार रही थी। पुलिस को सूचना मिली की आरोपी अपने पड़ोसी के घर में छिपा हुआ है। सूचना के बाद पुलिस ने पड़ोसी के घर से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Don`t copy text!