Bihar Rape Case : ज्यादती के बाद जन्मे बच्चे को पंचायत ने बेचने का फैसला सुनाया

Share

जानकारी मिलने के बाद हरकत में आई पुलिस, दो व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज, वीडियो बनाकर करता था ब्लैकमेल

Bihar Rape Case
सांकेतिक चित्र

मुजफ्फरपुर। नाबालिग (Minor Rape Case) से जन्मे बच्चे को बेच देने का आदेश सुनाया गया। यह चौंका देने वाली खबर बिहार (Bihar) के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur Kidnapping Case) जिले की है। यह खबर जब फैली तो पुलिस तक पहुंची। जिसके बाद पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ ज्यादती का प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपियों में से एक मुस्लिम समाज का कथित धर्मगुरु (Dharmguru Rape Case) बताया जा रहा है। आरोपियों ने नाबालिग का अश्लील वीडियो (Porn Video) भी बना लिया था। जिसको दिखाकर वह उसको ब्लैकमेल करते थे।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घटना जनवरी, 2019 की है। आरोपी में से एक धर्मगुरू और इलेक्ट्रिशियन (Electrician Rape Case) बताया जा रहा है। पीड़ित  (Bihar Rapr Case) ने पुलिस को बताया है कि मुस्लिम धर्मगुरू ने उसके साथ कथित तौर (Allegedly Rape Case) पर बलात्कार किया है। पीड़ित के मुताबिक मुस्लिम धर्मगुरु को गांव के लोग बारी-बारी से खाने के लिए घर में भेजते थे। उसी दौरान जनवरी के महीने में पीड़ित के घर निमंत्रण पर वह खाना खाने आया था। आरोपी धर्मगुरू ने बलात्कार (Minor Rape Case) से से पहले उसको बेहोश कर दिया था। इस दौरान आरोपी ने नाबालिग का वीडियो भी बनाया था। इसी वीडियो को दिखाकर वह अक्सर उसके साथ बलात्कार करता था। यह बात दूसरे आरोपी जो इलेक्ट्रीशियन को मालूम हुई तो उसने भी उसको अपनी हवस का शिकार बनाया।

पंचायत के मामले में खामोश हुई पुलिस
बलात्कार के बाद नाबालिग जब गर्भवती (Minor Pregnant) हुई तो उसके पिता का नाम देने के लिए कहा गया। लेकिन, दोनों आरोपियों ने बच्चे को अपना वारिस मानने से इनकार कर दिया। इसके बाद पीड़ित परिवार समाज की पंचायत के पास पहुंचा। जिसमें पंचायत (Panchayat) ने एकतरफा फैसला सुना दिया। उसने नाबालिग (Minor Rape Case in Panchayat) के बच्चे को बेचने का फरमान सुना दिया। पंचायत के इस फैसले के बाद पीड़ित पुलिस के पास पहुंची और सारा घटनाक्रम  (Bihar Events) बताया। उसने पुलिस से मांग की है कि उसके बच्चे का डीएनए टेस्ट (DNA Test) कराया जाए। पुलिस ने भी इस मामले में एकतरफा कार्रवाई की है। उसने ज्यादती करने वाले दोनों आरोपियों पर तो मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन, पंचायत के मामले में वह खामोश हो गई।
यह भी पढ़ें:   ट्रैक्टर से टकराई तेज रफ्तार स्कॉर्पियो, 12 की मौत, 4 घायल
Don`t copy text!