Bhopal Lokayukt Trap : ट्रेनिंग में ही रिश्वत लेने की कला सीख ली

लोकायुक्त पुलिस ने 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए सहायक वन संरक्षक को दबोचा, साले की मदद से ले रहा था रिश्वत

Bhopal Lokayukt Trap
आरोपी विजय मोरे,विवेक तोमर

भोपाल। राज्य वन सेवा (MP State Forest Service) के एक अफसर ने ट्रेनिंग में ही रिश्वत (Hoshangabad Bribe Case) लेने की कला सीख ली। उसको भोपाल लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत (Bhopal Lokayukt Police Trap) लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। इस मामले में उसके भाई के साले को भी आरोपी बनाया गया है। उसकी ही मदद से वह रिश्वत ले रहा था। लोकायुक्त पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि आरोपी विजय मोरे (Vijay More) हैं। वह वन विभाग में सहायक वन संरक्षक के पद पर तैनात हुआ है। फिलहाल वह ट्रेनिंग पीरियड में चल रहा है। विजय को मगलवार रात साढ़े नौ बजे 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए दबोचा गया है। यह कार्रवाई वन विभाग के होशंगाबाद रेस्ट हाउस में की गई। जहां से 7 लाख रुपए नकद ओर मिले हैं। लोकायुक्त भोपाल पुलिस को यहां से हिसाब—किताब का एक रजिस्टर भी मिला है। डीएफओ होशंगाबाद अजय कुमार पांडे (DFO Ajay Kumar Pande) का कहना है कि उन्हें मामले की जानकारी मिली है। लोकायुक्त पुलिस की रिपोर्ट के बाद उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री स्वास्थ्य योजना का लोगो एनजीओ की साइट पर लगाने वालों पर यह हुई कार्रवाई

लोकायुक्त पुलिस ने बताया कि शिकायत महेश तिवारी (Mahesh Tiwari) ने की थी। उनके पास रेलवे की जमीन पर पेड़ काटने का ठेका मिला था। उनकी दो ट्राली को आरोपी विजय मोरे ने जब्त कर लिया था। इसे छोड़ने के एवज में आरोपी विजय मोरे ने अपने भाई के साले विवेक तोमर (Vivek Tomar) की मदद से महेश से 3 लाख रुपए की मांग की थी। जिसकी शिकायत महेश तिवारी ने लोकायुक्त पुलिस से की थी। आरोपी रिश्वत की पहली किस्त लेते हुए दबोचा।

यह भी पढ़ें:   Corrupt Officer: आयुष्मान वाले से करा लो हार्निया का ऑपरेशन, यह कहकर डॉक्टर ने मांगी रिश्वत

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!