MP Political News: कांग्रेस का अब मोबाइल नंबर के जरिए अभियान

Share

MP Political News: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार कार्यकाल में हुए कथित घोटालों के संबंध में जानकारी देने के लिए जारी किया यह विचित्र नंबर, एक नहीं दो बार चार सौ बीस, कांग्रेस ने घोटाला शीट जारी किया

MP Political News
घोटाला शीट जारी करने के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ। यह चित्र कांग्रेस जनसंपर्क विभाग की तरफ से जारी।

भोपाल। मध्यप्रदेश में इस साल विधानसभा चुनाव है। इसलिए कांग्रेस के लिए करो या मरो की स्थिति है। पार्टी अब आक्रामक मूड में आ गई है। कांग्रेस पार्टी की तरफ से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेकर काफी गंभीर आरोप लगाए। इस दौरान घोटाला ही घोटाला, घोटाला सेठ और पचास प्रतिशत कमीशन रेट जैसे संगीन आरोप लगाए गए है। इतना ही नहीं कांग्रेस पार्टी ने दस अंकों का एक मोबाइल नंबर भी जारी किया है। जिसमें कांग्रेस (MP Political News) के इस अभियान से जुड़ने के लिए जनता से मिस्ड कॉल मारने की अपील पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने की है। वे प्रदेश कांग्रेस कार्यालय केे भवन में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

भ्रष्टाचार का कीर्तिमान रचने का आरोप

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) सरकार विश्व की सबसे अधिक घोटाले करने वाली सरकार है। मुख्यमंत्री पर उनके कार्यकाल में घोटाले पर घोटाले कर भ्रष्टाचार का कीर्तिमान रचने जैसे आरोप लगाए गए। कांग्रेस का दावा है कि ऐसे काले कारनामों का काला चिट्ठा बहुत लंबा है। जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण महाघोटालों को शामिल कर कांग्रेस पार्टी ने घोटाला-शीट तैयार की है। इससे मध्य प्रदेश की जनता को 50 प्रतिशत कमीशनराज की तथ्यात्मक हकीकत भली भांति समझ आएगी। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (EX CM Kamalnath) के साथ नेता प्रतिपक्ष डॉक्टर गोविंद सिंह, आरोप पत्र समिति के समन्वयक पारस सकलेचा, मप्र कांग्रेस के उपाध्यक्ष राजीव सिंह, मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा और प्रवक्ता सुश्री निकिता खन्ना इस दौरान मौजूद थी।घोटाला शीट में जिन प्रमुख घोटालों का जिक्र किया गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री का आरोप भगवान को भी नहीं छोड़ा

उनमें पहले नंबर पर 15000 करोड रुपए का पोषण आहार घोटाला, 12000 करोड रुपए का मिड-डे मील घोटाला, 9500 करोड रुपए का आंगनबाड़ी नल जल घोटाला, 600 करोड रुपए का गणवेश घोटाला, 2000 करोड रुपए का सर्व शिक्षा अभियान घोटाला, 2000 करोड रुपए का व्यापमं महा घोटाला, 2000 करोड रुपए का नर्सिंग घोटाला, 3000 करोड़ रुपए का कौशल घोटाला, 2500 करोड़ रुपए का पैरामेडिकल छात्रवृत्ति घोटाला, 94000 करोड़ का बिजली घोटाला, 10,000 करोड़ का जल जीवन मिशन घोटाला और 50,000 करोड रुपए का चेक पोस्ट घोटाला शामिल है। कमलनाथ ने कहा कि संसार में ऐसा उदाहरण कम ही मिलेगा जब किसी मुख्यमंत्री ने गर्भस्थ शिशु से लेकर मृत्यु को प्राप्त हो चुके मनुष्य तक को अपने घोटाले में शामिल कर लिया हो और इतना ही नहीं घोटाला करने में भगवान को भी ना छोड़ा हो।कमलनाथ ने कहा कि पोषण आहार घोटाले में शिवराज सरकार ने गर्भवती महिलाओं और गर्भस्थ शिशुओं के साथ भ्रष्टाचार किया। राशन घोटाले में सभी नागरिकों के भोजन में घोटाला किया। आयुष्मान घोटाले में मृतकों के नाम पर उपचार कराकर संसार से विदा हो चुके मृतकों के नाम पर भी घोटाला कर दिया। यही एक ऐसी सरकार है जिसने सिंहस्थ और महाकाल लोक घोटाले में भ्रष्टाचार कर भगवान के साथ भी धोखा किया है। शायद इन्हीं जैसे बेईमानों के लिए यह गाना लिखा गया था-भगवान को धोखा देते हैं, इंसान को यह क्या छोड़ेंगे? उन्होंने कहा कि नर्मदा मैया में अवैध उत्खनन कर इन्होंने मध्य प्रदेश की जीवनदायनी मां नर्मदा के साथ भी छल किया है। उन्होंने कहा कि इन्होंने दवा और दारू दोनों में घोटाला किया है। मध्यप्रदेश में हुआ नर्सिंग कॉलेज घोटाला और 86000 करोड़ रू. का शराब घोटाला इसी की बानगी है।

मीडिया रिपोर्ट को ट्वीट करने पर दर्ज करा दी एफआईआर

MP Political News
घोटाला शीट जारी करने के अवसर पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ। यह चित्र कांग्रेस जनसंपर्क विभाग की तरफ से जारी।

कमलनाथ ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में तो शिवराज सरकार (MP Political News) ने घोटालों की झड़ी लगा दी है। शिवराज सरकार जनमत से नहीं, बल्कि धनमत से बनी सरकार है। लोकतंत्र से घोटाला कर बनी शिवराज सरकार ने सरकारी खजाने को लूट कर घोटाला करना अपना मूल मंत्र बना लिया है। वह दिन दूर नहीं है जब आप गूगल पर घोटाला या स्कैम सर्च करोगे तो सामने शिवराज जी की तस्वीर आ जाएगी। शिवराज सरकार कमीशन, भ्रष्टाचार और घोटालों को अपना अधिकार समझने लगी है। इसीलिए जब एक ठेकेदार ने कमीशन राज से दुखी होकर पत्र लिखा और प्रतिष्ठित समाचार पत्रों ने उसे पत्र को प्रकाशित किया तथा कांग्रेस के नेताओं ने उन समाचारों को ट्वीट किया तो बजे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की शिवराज सरकार के इशारे पर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ पूरे प्रदेश में मुकदमे दर्ज करने का अभियान शुरू कर दिया गया। रीवा के दूसरे ठेकेदार ने कैमरे के सामने स्वीकार किया कि गौशाला निर्माण में भी 50 प्रतिशत कमीशनराज चल रहा है, इससे पता चलता है कि शिवराज सरकार चोरी और सीनाजोरी पर उतर आई है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case : प्यार, पैसा और धोखा, अस्मत लूटने पर खुली कलई

कर्ज लेकर किया जा रहा घोटाला

कमलनाथ ने कहा कि घोटाला शीट कांग्रेस के कार्यकर्ता मध्य प्रदेश के हर घर तक पहुंचाएंगे, ताकि मध्य प्रदेश की जनता यह जान सके कि उनके साथ किस तरह लूट की जा रही है। मध्यप्रदेश की जनता को यह जानने का अधिकार है कि शिवराज सरकार ने जो चार लाख करोड रुपए का कर्ज लिया है, वह जनता की भलाई के लिए नहीं लिया है, प्रदेश के विकास के लिए नहीं लिया है, बच्चों के भविष्य निर्माण के लिए नहीं लिया है, नए मध्यप्रदेश का निर्माण करने के लिए नहीं लिया है, बल्कि सरकार का कर्ज लेने का एक ही मकसद है कि अधिक से अधिक रकम कैसे भ्रष्टाचार के माध्यम से भाजपा की जेब में डाल दी जाए। कांग्रेस पार्टी की तरफ से 9593420420 यह मोबाइल नंबर जारी किया है। जिसमें पार्टी नेताओं ने जनता से मिस्ड कॉल करने की अपील की है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!