Odisha Gang Rape: पुलिस वाले ने ही दोस्तों के साथ मिलकर लूट ली अस्मत

Share

भरोसे के लिए दिखाया पुलिसकर्मी ने अपना आई कार्ड, गैंगरेप करने वाला आरोपी पुलिसकर्मी गिरफ्तार उसके दो साथी फरार

 

Odisha Gang Rape Case
सांकेतिक फोटो

ओडिशा। देश में महिला सुरक्षा (Women Safety) को लेकर बहस छिड़ी है। सारी सरकारें अपने पुलिसकर्मियों को महिलाओं का भरोसा जताने के लिए कहा जा रहा है। लेकिन, एक पुलिसकर्मी ने भरोसे की आड़ में ही दरिंदगी (Odisha Gang Rape) कर दी। मामला ओडिशा (#Odisha Gang Rape) राज्य के पुरी (Puri Crime) जिले का है। आरोपी पुलिसकर्मी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर एक महिला की अस्मत (#Puri Gang Rape) लूट ली। वारदात में शामिल पुलिसकर्मी दबोच लिया गया है लेकिन, उसके दो साथी फरार है।

पुलिस ने बताया कि पीड़ित महिला भुवनेश्वर (#Bhuvneshwar) से अपने गांव काकटपुर जा रही थी। इसके लिए बस अड्डे पर बस का इंतजार कर रही थी। तभी एक युवक उसके पास आया। उसने खुद को पुलिसकर्मी बताया। पुलिसकर्मी ने महिला को लिफ्ट देने के लिए कहा। महिला असहज हुई तो उसने भरोसा दिलाने के लिए पुलिस विभाग की तरफ से जारी आई कार्ड को दिखाया। यह देखने के महिला को थोड़ा भरोसा हुआ और वह उसके साथ जाने के लिए तैयार हो गई। पुलिसकर्मी ने कुछ दूर जाकर अपने दो साथियों को भी बैठा लिया। उन्हें बैठाते हुए पुलिसकर्मी महिला से  बोला हम सब एक—दूसरे को जानते हैं। यह सुनकर महिला ने पुलिस वाले की बात पर ऐतबार कर लिया। घटना स्थल से कुछ दूर पहले महिला के साथ पीछे बैठे एक शख्स ने महिला के मुंह पर रूमाल बांधा। आरोपी महिला को काकटपुर ले जाने की बजाय पुरी ले गए। वहां एक घर में ले जाने के बाद एक युवक ने दरवाजा बाहर से बंद कर दिया।
ओडिशा (@Odisha Gang Rape) में पुलिसकर्मी और उसके एक साथी ने महिला के साथ बलात्कार किया। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी मौके से फरार हो गए थे। महिला को उनमें से एक शख्स का आधार कार्ड मिल गया था।

यह भी पढ़ें:   Odisha Bus Accident : 30 फीट नीचे गिरी बस, 6 की मौत, 30 घायल

यह भी पढ़े: भगोड़ो को भारत लाने का दावा करने वाली एजेंसी एक बच्ची को तलाश नहीं पा रही

जिसको लेकर वह थाने पहुंची थी। गैंगरेप का सारा घटनाक्रम उसने पुलिस को बताया। महिला ने जिस आरोपी का पहचान पत्र पुलिस को दिया था उसके जरिए पुलिस ने आरोपी पुलिसकर्मी को पकड़ लिया। इस मामले की जानकारी जब पुलिस के आला अफसरों को लगी तो उन्होंने आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई का चाबुक भी चलाया। उसे सस्पेंड करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी पुलिसकर्मी ने अपने दो साथियों के नामों का खुलासा कर दिया है। लेकिन, गिरफ्तारी से न बच सके इसके लिए पुलिस उन नामों का खुलासा फिलहाल करने से बच रही है।

Don`t copy text!