Unsafe Girl & child: जबलपुर में आंते निकलने तक चाकू से गोदा तो महू में पांच साल की बच्ची के साथ हैवानियत

Share

दोनों शहरों में लोगों की आंखों में गुस्सा, डीजीपी ने एसपी से मांगी रिपोर्ट, जल्द चार्जशीट दाखिल करने से लेकर ट्रायल करने के आदेश

Unsafe Girl & Child
सांकेतिक चित्र

भोपाल। हैदराबाद (#Hyderabad) में वेटरनरी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी (#Dr Priyanka Reddy) की ज्यादती के बाद पेट्रोल डालकर हत्या (#Rape & Killing ) का मामला अभी थमा नहीं है। इसी बीच मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime) के दो शहरों से रूह को कंपा देने वाली खबर मिल रही है। यह दिल दहला देने वाली खबर जबलपुर (Jabalpur Crime) और महू (Mhow) से सामने आई है। जबलपुर (#Jabalpur) में एक लड़की को बदमाश ने चाकू से इतना गोदा कि उसकी आंते बाहर आ गई। वहीं महू (#Mhow) में पांच साल से ज्यादती के बाद हत्या का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस को आरोपी नहीं मिल सका है।

जानकारी के अनुसार घटना जबलपुर (@Jabalpur) के कुदवारी गांव की है। आरोपी शिवकुमार (Shiv Kumar) है जिसको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी एक लड़की से एकतरफा प्यार (One Sided Love) करता था। इस कारण कुछ महीने पहले उसके खिलाफ लड़की के परिवार ने मामला दर्ज कराया था। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। आरोपी जमानत से छूटने के बाद जेल से बाहर आया था। वह 10 दिन पहले ही जेल से छूटा था। वह लड़की को सबक सिखाना चाहता था। इसके लिए उसने चायनीज चाकू खरीदा था। वह मौके की फिराक में था। सोमवार को जब कोई घर में नहीं था तो वह लड़की के कमरे में घुस गया। लोगों ने उसको दरवाजा खोलने के लिए कहा लेकिन वह राजी नहीं हुआ। भीतर से लड़की की चीखें गूंज रही थी। कुछ देर बाद आवाजें आना बंद हो गई। पुलिस ने जब कमरा खुलवाया तो वह नजारा देखकर हैरान रह गई। चारों तरफ खून ही खून था। लड़की के शरीर में 70 से अधिक चाकू के वार थे।

यह भी पढ़ें:   Ghaziabad Rape: कार में छात्रा से बलात्कार

यह भी पढ़ें: बच्चियों की रक्षा के लिए संकल्पित केन्द्र सरकार की सबसे बड़ी एजेंसी सीबीआई एक बच्ची को आज तक नहीं तलाश पाई

इधर, इंदौर (Indore) के नजदीक महू (# Mhow Crime) इलाके में पांच साल की बच्ची के साथ ज्यादती की गई। फिर उसकी हत्या करके शव फेंक दिया गया। बच्ची का शव खंडहर के नजदीक मिला है। आरोपी बच्ची को मां के नजदीक सोते से उठा ले गया था। जिसकी भनक परिवार को भी नहीं लगी। बच्ची का परिवार मजदूरी करता है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को दे दिया है। इस मामले में पुलिस को कामयाबी नहीं मिली है। पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद से आरोपी की तलाश की। पुलिस का खोजी कुत्ता एक जगह जाकर ठहर गया। जहां ठहरा था वहां देर रात असामाजिक तत्वों का जमावड़ा रहता है।

यह भी पढ़ें: जिन्हें अपराधियों के खिलाफ सबूत जुटाने थे वह उसको मिटाने के लिए परिवार से कैमरे में सौदा करते और पैसा लेते हुए कैसे हुए कैद देखिए

उल्लेखनीय है कि देश में महिला बच्ची पर होने वाले अपराधों को लेकर बहस छिड़ी है। कई शहरों में कैंडल मार्च निकाले जा रहे हैं। सरकारों के खिलाफ नाराजगी जताई जा रही है। इन सबके बीच घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही है। इस बात को देखते हुए मध्यप्रदेश (@Madhya Pradesh) के डीजीपी विजय कुमार सिंह (DGP Vijay Kumar Singh) ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए चेताया था। इधर, मामले की जानकारी लगने के बाद डीजीपी ने दोनों जिलों के एसपी से फोन पर बातचीत की। जिसके बाद जबलपुर (*Jabalpur) की घटना के मामले में जल्द चार्जशीट दाखिल करके ट्रायल कराने के लिए कहा। वहीं महू (*Mhow) में हुई वारदात के आरोपी को तलाश करके उसको बेनकाब करने के आदेश दिए।

Don`t copy text!