Naxlite Encounter News: कुख्यात गणेश मडावी मुठभेड़ में ढ़ेर

Share

Naxlite Encounter News: एमपी की हॉक फोर्स को नक्सलियों के पीएलजीए वीक से पहले मिली बडी कामयाबी

Naxlite Encounter News
मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय भवन- फ़ाइल फोटो

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस के लिए सिरदर्द गणेश मडावी एक मुठभेड़ के बाद ढ़ेर हो गया। इसके अलावा एक ओर कुख्यात नक्सली (Naxlite Encounter News) को भी मार गिराया गया। यह कार्रवाई एमपी पुलिस की हॉक फोर्स टीम ने की है। दोनों नक्सलियों पर करीब 43 लाख रूपए का इनाम था। मारे गए दोनों कुख्यात नक्सलियों के कब्जे से एके—47 के अलावा रायफल बरामद हुई है।

छह घंटे चली थी मुठभेड़

आईजी नक्सल विरोधी अभियान फरीद शापू ने बताया कि मध्‍यप्रदेश पुलिस के हॉक फोर्स के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने यह कार्रवाई की है। जिसमें डिवीजन कमेटी मेम्बर और प्रभारी समन्‍वय टीम एमएमसी जोन नक्सली गणेश मड़ावी (Ganesh Madavi) और एसीएम/कमांडर (भोरमदेव एरिया कमेटी-पीएल 2) नक्‍सली राजेश मारा गया है। साथ ही इनसे एक एके-47 और एक 315 बोर की रायफल बरामद हुई है। नक्सलियों के लिए 2 से 8 दिसंबर तक मनाए जाने वाले पीएलजीए वीक को लेकर बालाघाट जिले के सूपखार वन क्षेत्र (मंडला तथा कवर्धा, छ0ग0 सीमावर्ती) में अलर्ट जारी किया गया था। दोनों नक्सलियों को लेकर हॉक फोर्स को सटीक सूचना मिली थी। ठंड, सघन जंगल तथा दुर्गम पहाड़ों पर तलाशी तथा नक्‍सलियों के आने के संभावित रास्‍तों पर एम्‍बुश तथा सर्चिंग करते हुए पुलिस पार्टी प्रात: वन विभाग के नाका के पास पहुँची। नक्सलियों ने आहट पाकर पुलिस पर अंधाधुंध फायरिंग की। फायरिंग 11 बजे तक जारी रही।

इसलिए कुख्यात माना जाता था गणेश मडावी को

Naxlite Encounter News
मुठभेड़ मे मारा गया नक्सली गणेश मड़ावी।

पुलिस ने बताया कि 35 वर्षीय गणेश मड़ावी थाना ग्येराहपत्ती जिला गढ़चिरौली, महाराष्ट्र का रहने वाला है। उस पर मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र और छत्तीसगढ राज्य में 29 लाख का इनाम घोषित था। दूसरे नक्सली (Naxlite Encounter News) की पहचान 30 वर्षीय राजेश (Rajesh) के रूप में हुई। वह छत्तीसगढ़ के पश्चिम बस्तर का रहने वाला है। राजेश पर तीनों राज्यों की पुलिस ने करीब 14 लाख का इनाम घोषित था। एमपी की हॉक फोर्स (MP Hawk Force) की तरफ से पांच महीने में दो बड़ी मुठभेड़ों में पांच दुर्दान्‍त माओवादियों को मार गिराया है। गणेश मड़ावी हिंसक गतिविधियों में लिप्‍त कंपनी नंबर 4 में रहकर गढ़चिरोली में सक्रिय था। वर्ष 2015 में विस्‍तार के लिए जीआरबी डिवीजन बालाघाट आया था। माओवादी गतिविधियों के अमरकंटक क्षेत्र तक विस्‍तार हेतु वर्ष 2016 में गठित प्‍लाटून-2 (भोरमदेव एरिया कमेटी) में सक्रिय रहा। गणेश मडावी के खिलाफ एमपी में 08, छत्तीसगढ़ में 04 और महाराष्‍ट्र में तीन प्रकरण दर्ज है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: हत्या के प्रयास का आरोपी गिरफ्तार

हिडमा का दाहिना हाथ था राजेश

Naxlite Encounter News
मुठभेड़ मे मारा गया नक्सली राजेश।

इसी तरह हिंसक बटालियन नंबर 1 में दुर्दांत कमांडर हिडमा के साथ राजेश काम कर चुका है। वह भी 2015 में विस्तार हेतु एसजेडसीएम सुरेन्द्र उर्फ कबीर (निवासी सुकमा) के साथ पहली खेप में जीआरबी भेजा गया था। जहां से यह अमरकंटक तक माओवादी गतिविधियें के विस्तार हेतु वर्ष 2016 में गठित पीएल-2 (भोरमदेव एरिया कमेटी) में भेजा गया। डीव्हीसी दिवाकर के आत्मसर्मण पश्चात पीएल-2 के डिप्टी कमांडर के पद पर कार्यरत था। इसके विरूद्ध म0प्र0 में 13 तथा छ0ग0 में 05 अपराधिक प्रकरण दर्ज है।

इसलिए मनाया जाता है पीएलजीए वीक

यह संगठन वर्ष 2000 में बना था। इसको पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) कहा जाता है। इसी संगठन का स्थापना दिवस 2 से 8 दिसंबर के बीच मनाया जाता है। इसे पीएलजीए वीक (PLGA Week) कहा जाता है। पीएलजीए सप्ताह के दौरान नक्सली (Naxlite Encounter News) बंद का आह्वान करते हैं। इसके अलावा नक्सलियों के बड़े लीडर आने वाले नए साल के लिए रणनीति तैयार करते हैं। इसमें नक्सली संगठन के लड़ाकुओं को शामिल किया जाता है। ये लड़ाकू जवानों के साथ आमने-सामने की मुठभेड़ में शामिल होते हैं। अत्याधुनिक हथियारों से लैस पीएलजीए सदस्य गुरिल्ला आर्मी वॉर मे माहिर होते है। हर साल 2 दिसंबर से 8 दिसंबर तक अपने इन पीएलजीए के सदस्यों के मारे जाने की याद में नक्सली इस सप्ताह को मनाते हैं। इसके साथ ही अपने पूरे साल का लेखा-जोखा जारी करते हैं। बैठक में सेंट्रल कमेटी के मेंबर समेत बड़े नक्सली लीडर और नक्सली कमांडरों को भी शामिल किया जाता है। बैठक में सालभर में संगठन को हुए नुकसान, फायदे और लेवी की राशि से सम्बंधित और हथियारों की सप्लाई सभी तरह के विषयों पर चर्चा की जाती है। इस दौरान नक्सली अपने निचले कैडरों को बंद की जिम्मेदारी सौंपते हैं ताकि पीएलजीए सप्ताह के दौरान पुलिस की पहुंच उन तक ना पहुंचे। इसीलिए जगह-जगह मार्ग को अवरुद्ध करने के साथ ही अंदरूनी क्षेत्रो में आवागमन भी प्रभावित नक्सली करते हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Naxlite Encounter News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: घर के बाहर खड़ी कार में आग लगाई
Don`t copy text!