Bhopal Rape Case: बलात्कार की एफआईआर टीआई ने भेजी एसपी को, जानिए क्यों

Share

Bhopal Rape Case: महिला के दोस्त और उसके दो रिश्तेदारों ने एक पखवाड़े में कई बार उसकी आबरू लूटी

Bhopal Gang Rape Case
सांकेतिक फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के इन दिनों बहुत बुरे हालात है। महिला अपराधों पर नियंत्रण नहीं हो पा रहा है। वहीं पुलिस मुख्यालय के आदेशों की वजह से मैदानी अफसरों पर काफी दबाव है। बार—बार मैदानी अफसर अपनी समस्याओं से अवगत करा चुके हैं। लेकिन, कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है। ऐसा ही एक मामला ऐशबाग से सामने आया है। यहां एक शादीशुदा महिला से तीन लोगों ने एक पखवाड़े के भीतर बलात्कार (Bhopal Rape Case) किया। इसकी एफआईआर तो महिला अधिकारी ने थाने के प्रभारी की जुगाड़ से दर्ज कर ली। पर प्रकरण की जांच के लिए महिला अफसर थाने में नहीं थी। इसलिए टीआई ने केस डायरी एसपी को भेज दी। ऐसी ही अन्य डायरी एसपी की टेबल पर कई थानों से पहुंच रही है। एसपी भी परेशान है आखिर महिला अफसरों की कमी को कैसे पूरा करे।

ऐसे किया बलात्कार

ऐशबाग थाना प्रभारी अजय नायर ने बताया कि 16 अक्टूबर की रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे धारा 376/376(2)एन/506 (बलात्कार, कई बार बलात्कार और धमकाने) का मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले में पीड़ित महिला के दोस्त आरोपी सचिन सोलंकी (Sachin Solanki) और उसके दो रिश्तेदारों को आरोपी बनाया गया है। सचिन सोलंकी इंदौर का रहने वाला है। वहीं रिश्तेदारों में एक उसके बड़े पापा का साला है। दूसरा उसके गांव में ही रहने वाला रिश्तेदार है। तीनों ने नवंबर, 2018 में अलग—अलग तारीखों में उसके साथ बलात्कार (Bhopal Gang Rape Case) किया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Airport News: हेलीकॉप्टर पर पथराव करके कांच तोड़े, फ्लाइट के आगे लेटा

कोल्डड्रिंक पीने के बाद बेसुध

पीड़ित महिला की उम्र 27 साल है। वह रातीबड़ स्थित एक निजी कॉलजे से प्रायवेट एमबीए कर रही थी। इसके लिए वह एक पखवाड़े के लिए नवंबर, 2018 में भोपाल आई थी। ऐशबाग थाना क्षेत्र स्थित एक निजी स्कूल के भवन में उसकी दो बहनें किराए से रहती है। उसी भवन में वह आकर रुकी थी। सबसे पहले इंदौर से आए दोस्त सचिन सोलंकी ने बलात्कार किया। इस घटना के दो दिन बाद रिश्तेदार ने कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर बलात्कार किया। बलात्कार की यह खबर उसके ही गांव में रहने वाले रिश्तेदार को पता चल गई। वह भी भोपाल आया और कुछ दिन बाद मुंह दबाकर उसके साथ बलात्कार करके भाग गया।

यह है थानों में समस्या

इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब पति को राज पता चला। उसने पत्नी को एफआईआर दर्ज कराने के लिए तैयार किया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके मेडिकल के बाद पीड़िता को गांव भेज दिया है। इस मामले में मजिस्ट्रीयल बयान से लेकर अन्य जांच अभी बाकी है। लेकिन, थाने में महिला अफसर न होने के कारण सूत्रों के अनुसार टीआई ने केस डायरी एसपी साउथ भोपाल साई कृष्णा थोटा को भेज दी है। जांच करने का अधिकार महिला अधिकारी को है पर थाने में महिला अधिकारी इस वक्त नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: प्यार के नाम पर मिला छात्रा को ऐसा धोखा

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!