MP Corrupt Officer News: बिन मटन—बीयर पीएम ड्राफ्ट भेजने से इंकार का आरोप

Share

MP Corrupt Officer News: विवादों में फंसे एफएसएल अधिकारी बचाव में बोले निराधार आरोप, एसपी बोले दस्तावेज मेरे पास आए नहीं, सोशल मीडिया में रोजनामचा वायरल

MP Corrupt Officer News
सांकेतिक चित्र साभार

भोपाल। आपने पुलिस को रिश्वत लेते सुना क्या देखा भी होगा। कभी आपने सुना है कि पुलिस ने भी रिश्वत दी हो। आप यकीन नहीं करेंगे पर यह सच्ची घटना मध्य प्रदेश (MP Corrupt Officer News) की हैं। मामला पुलिस थाने के रोजनामचे में बकायदा दर्ज भी है। वह सोशल मीडिया में वायरल होते—होते भोपाल भी पहुंच गया। फिर क्या था बचाव में जिले के एसपी से लेकर एफएसएल के अधिकारी भी आ गए। घटना शाजापुर जिले की है। यहां एक चौकी के हवलदार को मौत के मामले में पीएम ड्राफ्ट भोपाल भेजने के लिए मटन और बीयर की रिश्वत देनी पड़ी थी।

पूरा थाना हिल गया

मामला मध्य प्रदेश के आगरा मालवा जिले से सामने आया है। यहां मर्ग क्रमांक 07/2021 दर्ज किया गया है। इस मर्ग में पुलिस के अफसरों को कुछ बातों का पता लगाना था। जिसके लिए जांच भोपाल रीजनल लैब (Bhopal Regional Lab) से कराना जरुरी थी। इस लैब में जांच के लिए मर्ग इंटीमेशन, जब्ती, शार्ट पीएम रिपोर्ट से लेकर कई अन्य चीजें सबमिट करके ड्राफ्ट तैयार होना था। यह ड्राफ्ट पर हस्ताक्षर शाजापुर में एफएसएल अधिकारी को करने थे। लेकिन, वे इस काम के बदले में 06 किंगफिशर की बोतल और एक हजार रुपए मटन (MP Bribe News) के लिए मांगने लगे। यह बात हवलदार ने चौकी प्रभारी से लेकर थाने के प्रभारी को बताई। फिर क्या था पूरा थाना ही हिल गया।

यह भी पढ़ें:   राम मंदिर निर्माण का भव्य स्वागत करेगी कांग्रेस

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

चौकी प्रभारी तक पहुंचा मामला

MP Corrupt Officer
यह है नलखेड़ा थाने के रोजनामचे का हिस्सा जो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है

आगर मालवा जिले से सिपाही त्रिलोक चंद्र गोयल (Trilok Chandra Goel) को ड्राफ्ट तैयार करने के लिए भेजा गया था। शाजापुर में एफएसएल अधिकारी आरसी भाटी (RC Bhati) से उसकी मुलाकात हुई। यहां जब उसके सामने 06 किंगफिशर बोतल और एक हजार रुपए मटन के मांगे तो उन्होंने बड़ा गांव चौकी में हवलदार जगदीश पेजवाल (Jagdish Pejwal) को बताया। हवलदार ने चौकी प्रभारी माधव सिंह परिहार (Madhav Singh Parihar) को दी थी। हालांकि आगर मालवा एसपी राकेश सगर ने द क्राइम इंफो से बातचीत में कहा मेरे पास ऐसा कुछ नहीं आया है। दस्तावेज होंगे तो मेरी तरफ से जांच की जाएगी।

मध्य प्रदेश में पुलिस विभाग की महिला सब इंस्पेक्टर को डाकिया बना रहे पुरुष अधिकारी, जानिए क्यों

मामला संगीन आप संवेदनशीलता बरतें

यह पूरा मामला आगर मालवा जिले के नलखेड़ा थाना क्षेत्र के बड़ागांव पुलिस चौकी का है। जिसमें विवादों में फंसे वरिष्ठ वैज्ञानिक आरसी भाटी ने कहा कि आरोप निराधार और झूठे हैं। जबकि इस पूरे मामले की 19 मार्च की शाम को थाने के रोजनामचे में बकायदा रिपोर्ट भी डाली गई है। सिपाही ने अपनी जेब से बीयर के लिए 1380 रुपए खर्च किए। इसके अलावा एक हजार रुपए मटन के लिए उसने दिए थे। इस संपूर्ण घटनाक्रम में प्रतिक्रिया देते वक्त एसपी ने कहा कि मामला बेहद संवेदनशील है, आप संवेदनशीलता बरतें।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!