Bhopal Cheating Case: कपड़े कारोबार में नुकसान के बाद नकली सैनिटाइजर बनाना शुरु किया

Share

कंपनी ने ग्राहक बनकर पकड़ी धांधली, आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया

Hanuman Ganj Thane Main 420 Ka Mamla Hua Darj
गिरफ्तार आरोपी ऋषभ

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) कोरोनावायरस के कारण सामाजिक बदलाव में अंतर देखने को मिल रहा है। वहीं इसका असर कारोबार में भी सामने आने लगा है। कई कारोबारियों का लॉक डाउन के चलते धंधा चौपट है। इसलिए कर्ज के बोझ तले दबे हैं। लेकिन, एक कारोबारी ने इससे बाहर निकलने के लिए अपराध की दुनिया (Bhopal Cloth Merchant Cheat Case) में ही कदम रख लिया। मामला मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) का है। कारोबारी ब्रांडेड कंपनी का सैनिटाइजर में पानी मिलाकर (Bhopal Duplicate Sanitizer Case) उसको बेचने लगा। इस बात की भनक कंपनी को लग गई। जिसके बाद कंपनी के ही कर्मचारियों ने स्टिंग करके कारोबारी को दबोच लिया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जालसाजी (Bhopal Cheating Case) का प्रकरण दर्ज किया है।

हनुमानगंज थाना पुलिस ने www.thecrimeinfo.com (द क्राइम इंफो डॉट कॉम) को बताया कि अरेरा कॉलोनी निवासी संजय गुप्ता (Sanjay Gupta) की मंडीदीप में पेंट बनाने की फैक्ट्री है। उसी कारखाने में वह सैनिटाइजर भी बनाते हैं। उनके सैनिटाइजर का डिस्ट्रीब्यूटर का काम भोपाल में विक्रम एजेंसी (Vikram Agencies) के पास है। संचालक संजय गुप्ता को पता चला कि उनकी कंपनी का हूबहू नाम इस्तेमाल करके कोई नकली सैनिटाइजर (Bhopal Pirated Sanitizer Case) बेच रहा है। उन्होंने इस बात की पड़ताल के लिए बेटे मनु गुप्ता (Manu Gupta) को भेजा। मनु गुप्ता अपनी ही कंपनी के दो कर्मचारियों के साथ मनोहर डेयरी के नजदीक दुकान पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Love Jihad News: ब्यू​टीशियन को पत्नी बनाने का देता रहा झांसा
बेटा पकड़ाया बाप फरार

यहां उनके कंपनी का स्कैन किया हुआ लोगो के साथ सैनिटाइजर मिला। वह माल देखकर डिब्बे लेकर आए व्यक्ति से पूछा तो वह नकली माल छोड़कर भाग गया। कुछ देर बाद मुख्य आरोपी वहां आया। वह धमकाते हुए एक्टिवा और उसमें रखा माल ले गए। यह माल खरीदने से पहले मनु गुप्ता ने फोन पर सैनिटाइजर बेच रहे कारोबारी से बातचीत की थी। मनु गुप्ता इसके बाद हनुमानगंज थाने पहुंचा। यहां उन्होंने पूरा घटनाक्रम पुलिस को बताया। मोबाइल नंबर के आधार पर आरोपी रिषभ लांबा (Rishabha Lamba) पिता सुखबिंदर उम्र 21 साल के रुप में पहचान हुई। दूसरा आरोपी उसका पिता सुखबिंदर लांबा (Sukhabinder Lamba) निकला। रिषभ को दबोच लिया गया है।

कर्ज चुकाने ऐसा प्लान

देश में कोरोनावायरस के बीच काला बाजारी, नकली माल समेत कई अन्य तरह की शिकायतें मिलना शुरु हो गई है। पीपीई किट की क्वालिटी को लेकर बहस छिड़ी है। इस बीच नकली सैनिटाइजर (Bhopal Fake Sanitizer Case) ने बीमारी को लेकर सुरक्षा इंतजाम की चुनौतियों को भी बड़ा बना दिया है। आरोपी रिषभ ने बताया कि वह दिल्ली से रेडीमेड माल लाकर भोपाल में बेचता था। लॉक डाउन की वजह से कपड़े का कारोबार बंद हो गया था। इसलिए उसको कारोबार में 15 लाख रुपए का कर्ज हो गया। कर्जदार उस पर दबाव बना रहे थे। इसलिए उसने कंपनी के पांच—पांच लीटर वाले असली सैनिटाइजर खरीदकर उसमें वह पानी मिलाकर बेचने लगा। आरोपी को अदालत में पेश करके पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।

अपील

क्या आप द क्राइम इंफो से जुड़ना चाहते हैं! अब द क्राइम इंफो एप्प की शक्ल में आपके साथ रहेगा। यह संदेश पढ़ने तक एक मैसेज आपके पास आएगा। आप उसको अलाउ करें, फिर आपके और हमारे बीच की दूरियां कम होगी। यह एप्प आपके मोबाइल पर दिखाई देने लगेगा। बस क्लिक कीजिए और अपने आस—पास चल रही खबरों को तुरंत जानिए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है।
हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!