Bhopal Suspicious Death: फंदे और फर्श पर मिली दो भाईयों की मिली लाश

Share

Bhopal Suspicious Death : लाश की बदबू आने पर पहुंची थाने तक खबर, बहन के भोपाल आने का इंतजार

Bhopal Suspicious Death Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। संदिग्ध परिस्थितियों में दो व्यक्तियों (Bhopal Lalwani Brother Case) की मौत हो गई। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। घटना की खबर पुलिस को घर के भीतर से बदबू (Bhopal Suspicious Death Case) आने पर दी गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस को एक लाश फंदे पर तो दूसरी लाश फर्श पर मिली थी। दोनों भाई थे जो कि कपड़े बेचने का काम करते थे। पुलिस ने संभावना जताई है कि शव करीब पांच दिन पुराने हैं। सुसाइड नोट नहीं मिलने की वजह से मौत के यह दोनों मामले संदिग्ध (Bhopal Suspected Death Case) बने हुए हैं। पुलिस ने शव पीएम के लिए भेज दिए हैं।

पिता आश्रम में रहते हैं

बैरागढ़ थाना पुलिस ने बताया कि इलाहाबाद बैंक रोड़ शिव मंदिर के पास एक फ्लैट से दुर्गंध आने की सूचना लोगों ने रविवार सुबह दी थी। फ्लैट में नरेश लालवानी 40 साल और धर्मेश लालवानी उम्र 36 साल रहते थे। फ्लैट भीतर से बंद था इसलिए बाजू वाले फ्लैट से पुलिस भीतर पहुंची थी। नरेश लालवानी (Naresh Lalwani Suicide Case) का शव फंदे पर लटका हुआ था। वहीं नीचे फर्श पर धर्मेश लालवानी (Dharmesh Lalwani Suspicious Death) का शव पड़ा था। पुलिस को जांच में पता चला है कि दोनों भाई है और उनके पिता अजमेर (Ajmer) के एक आश्रम में रहते हैं।

दूसरे रिश्तेदारों से पूछताछ

बैरागढ़ में एक साथ दो लोगों के शव की बात बहुत तेजी से फैली। जिसके बाद वहां तमाशबीन भी पहुंचे। पुलिस को प्राथमिक जांच में पता चला है कि नरेश लालवानी फेरी लगाकर कपड़े बेचता है। वहीं धर्मेश लालवानी के बीमार रहने की जानकारी मिली है। यह जानकारी उनके मौसेरे भाई रमेश तिरयानी (Ramesh Tiryani) से पुलिस को मिली है। रमेश तिरयानी भी उसी अपार्टमेंट के एक फ्लैट में रहते हैं। रमेश​ तिरयानी ने पुलिस को बताया कि उन्होंने नरेश लालवानी को पांच दिन पहले देखा था। इसके बाद से कोई मुलाकात नहीं हुई थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft Case: मकान का टूटा ताला, दामाद ने दर्ज कराई एफआईआर

हत्या या आत्महत्या

पुलिस के सामने दोनों मौत चुनौती बने हुए हैं। अफवाह यह फैली थी कि बीमार रहने वाले धर्मेश लालवानी की हत्या (Dharmesh Lalwani Case) की गई है। जबकि पुलिस ने इस बात से इनकार कर दिया। पुलिस का कहना है कि धर्मेश का शव जल्द डिकम्पोज हुआ है। वहीं नरेश का शव फंदे पर लटके होने की वजह से ज्यादा नहीं सड़ा था। पुलिस को इस मामले में पीएम रिपोर्ट का इंतजार हैं। पुलिस को जानकारी मिली है कि एक बहन अजमेर में रहती है। पुलिस को उसके भोपाल आने का इंतजार है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!