Bhopal Cyber Crime: गिफ्ट का झांसा देकर सायबर फ्रॉड

Share

Bhopal Cyber Crime: बागसेवनिया थाने में दो सायबर फ्रॉड तो एक नकली नोटों की गड्डी थमाने का केस दर्ज

Bhopal News
फाइल फोटो — थाना बागसेवनिया, भोपाल

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज सायबर फ्रॉड (Bhopal Cyber Crime) से जुड़ी है। इनकी संख्या 13 है जबकि एक मामला नकली (Bhopal Fraud Case) नोटों की गड्डी थमाने का भी है। यह सारे प्रकरण कमला नगर, कोलार, हबीबगंज, गोविंदपुरा, मिसरोद, कटारा हिल्स, कोहेफिजा, गुनगा के अलावा बागसेवनिया थाने में दर्ज (Bhopal Cheating Case) हुए हैं। बागसेवनिया थाने में तीन मुकदमे जालसाजी (Bhopal Cyber Crime ) के दर्ज हुए है। जिसमें दो केस सायबर फ्रॉड से संबंधित हैं।

गड्डी में थे एक पचास का नोट 
बागसेवनिया थाना पुलिस के अनुसार 28 जुलाई की शाम लगभग चार बजे धारा 420 के तहत केस दर्ज किया गया है। शिकायत कांति पंडित (Kanti Pandit) पत्नी रामसागर पंडित उम्र 45 साल ने दर्ज कराई है। इस मामले का आरोपी फिलहाल अज्ञात है। घटना गणेश मंदिर के पास हुई थी। जिसमें आरोपी कांति पंडित से 12 हजार रुपए कीमत की सोने की झुमकी ले गया। पुलिस ने बताया इससे पहले टीटी नगर में भी इस तरह की वारदात हो चुकी है। पीड़िता विश्वकर्मा मंदिर के पास रहती है। आरोपियों की संख्या दो है। आरोपियों ने उसको पचास के नोट की गड्डी दिखाकर उससे जेवर उतरवा लिए थे।
रिश्तेदार बनकर बातचीत की थी
Bhopal Cyber Crime
सांकेतिक चित्र

इसके अलावा बागसेवनिया थाना पुलिस ने 420/66—डी जालसाजी और सूचना प्रोद्योगिकी कानून के तहत केस दर्ज किया है। इस मामले की एफआईआर 28 जुलाई की सुबह 10 बजे दर्ज की गई है। घटना मार्च, 2021 में हुई थी। पीड़ित साकेत नगर निवासी राजेश कुमार शर्मा (Rajesh Kumar Sharma) है। पीड़ित आरटीओ में एजेंट का काम करता है। उससे यूपीआई कोड भेजकर खाते से 20 हजार रुपए निकाल लिए गए थे। पुलिस ने बताया आरोपी ने जालंधर में रहने वाले जीजा बनकर बातचीत की थी। उसने कहा कि उनके खाते में रकम डलवा रहा है। उसे बाद में भेज देना। उसने लिंक भेजी जिसके बाद खाते से रकम निकल गई।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Road Mishap: हार्वेस्टर में घुसी कार, गई जान
एफआईआर पर देरी से नाराज हुआ छात्र
बागसेवनिया थाना पुलिस ने तीसरा मुकदमा पिपलिया पेंद खां निवासी अमर कुमार कुशवाहा (Amar Kumar Kushwaha) की शिकायत पर दर्ज किया है। यह घटना जनवरी, 2021 की है। जिसमें आरोपियों ने 16330 रुपए उसके खाते से निकाल लिए। पीड़ित अपनी एफआईआर देरी से दर्ज करने को लेकर काफी नाराज भी था। उसने शिकायत सायबर क्राइम में की थी। पुलिस ने बताया अमर कुमार कुशवाहा को फोनपे में गिफ्ट देने का लालच दिया था। मूलत: रीवा निवासी कुशवाहा बीएससी का कोर्स कर रहा था। वह भोपाल में किराए से रहता है। उसका यूनियन बैंक में खाता था। उसको परिजनों ने भोपाल में रहकर पढ़ाई करने के लिए दिए थे।
खबर के लिए ऐसे जुड़े
Bhopal Cyber Crime
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!