PM Narendra Modi Speech: पीएम मोदी ने बच्चों से मांगी मदद

Share

PM Narendra Modi Speech: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बड़ों को सुधारने के लिए दिया बाल मित्रों को यह मंत्र, कहा लॉक डाउन लगाना अंतिम विकल्प

PM Modi Speech
नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री, भारत सरकार (पीआईबी से साभार)

दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi Speech) मंगलवार रात पौने नौ बजे देश के सामने संबोधित करने आए। यह जानकारी उन्होंने अपने ट्वीट के जरिए दी थी। इससे पहले तीन दिनों से उनके संबोधन की अटकलें मीडिया में चल रही थी। आशंका थी कि प्रधानमंत्री कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। हालांकि उन्होंने पूरे भाषण में बाल मित्रों को प्रमुखता से रखते हुए बड़ों को सुधारने के लिए कहा। इसके अलावा उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि लॉक डाउन अब देश के लिए अंतिम विकल्प होगा।

फ्रंट लाइन वर्कर की तारीफ की

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड रहा है। कुछ सप्ताह पहले तक स्थिति संभली हुई थी। फिर कोरोना की दूसरी वेव तूफान बनकर आ गई है। जो पीड़ा आपने सही और जो सह रहे हैं उसका मुझे पूरा अहसास है। जिन लोगों ने अपनों को खोया है देशवासियों की तरफ से उनके प्रति मेरी संवेदना है। मैं आपके दुख में शामिल हूं। चुनौती बड़ी है। लेकिन, मिलकर अपने संकल्प, अपने हौसले और तैयारी के साथ इसको पार करना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अपनी बात को विस्तार देने से पहले मैं देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ, पैरा मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मचारी, एम्बुलेंस के ड्रायवर, सुरक्षा बल और पुलिसकर्मी सभी की सराहना करना चाहता हूं।

जरुरतमंदों को ऑक्सीजन मिले

PM Modi Speech
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगस्त 2020 में राज्यों के मुख्यमंत्री से कोविड महामारी को लेकर चर्चा करते हुए

प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi Speech) ने कहा कि कोरोना की पहली वेव में आपने लोगों का जीवन बचाया था। आज फिर इस संकट में सुख और परिवार की चिंता छोड़कर दूसरा का जीवन बचाने में कोरोना वॉरियर जुटे हैं। हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए।  किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सही निर्णय ले और प्रयास करें तो हम विजय हासिल कर सकते हैं। इसी मंत्र के साथ आज देश काम कर रहा है। बीते दिनों में जो फैसले लिए गए है, उससे स्थिति सुधरेगी। इस बार कोरोना संकट के अनेक हिस्सों में ऑक्सीजन की डिमांड तेजी से बड़ी है। इस विषय पर तेजी से काम किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें:   World Crime: India's Most Wanted की आवाज सुनने को तरस गई Agencies

यह भी पढ़ें: अस्पताल में तो ऑक्सीजन आज नहीं तो कल पहुंच जाएगा लेकिन यह जो तस्वीरें आ रही है उसे कोई भी इतनी आसानी से नहीं भूल सकता

प्रायवेट सेक्टर की तारीफ की

अपने संबोधन में मोदी ने कहा केंद्र, राज्य सरकार और प्रायवेट सेक्टर सभी की पूरी कोशिश है कि जरुरतमंदों को ऑक्सीजन मिले। इसको बढ़ाने के लिए कई स्तर पर इसके उपाय किए जा रहे है। नए प्लांट स्थापित से लेकर उद्योगों के सिलेंडर भी इस्तेमाल करने का काम किया जा रहा है। फार्मेसी सेक्टर ने दवाई का उत्पादन बड़ा दिया है। इसे भी तेज किया जा रहा है। कल फार्मा इंडस्ट्री के प्रमुख लोगों से लंबी चर्चा हुई है। उत्पादन बढ़ाने के लिए दवा कंपनियों की मदद ली जा रही है। हम सौभाग्यशाली है कि हमारे देश का फार्मा सेक्टर बहुत मजबूत है। अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई जा रही है। विशाल और विशेष कोविड अस्पताल बनाए जा रहे हैं। पिछले साल कोरोना वायरस के खिलाफ प्रभावी वैक्सीन बनाने का काम शुरु कर दिया गया था। बहुत कम समय में इसको विकसित किया गया।

वर्क फोर्स को तेजी से मिलेगी वैक्सीन

PM Modi Speech
नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री, भारत फाइल फोटो पीआईबी से साभार

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया में सस्ती वैक्सीन भारत के पास है। इस प्रयास में हमारे प्रायवेट सेक्टर ने इनोवेशन का बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वैज्ञानिक तरीके से मदद को बढ़ाया गया है। जिसके कारण हमारा भारत दो मेड इन इंडिया वैक्सीन के साथ दुनिया का टीकाकरण अभियान शुरु कर सका। जरुरतमंद और ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन लोगों तक पहुंचाने का फैसला लिया गया। अब तक 12 करोड़ वैक्सीन डोज लगाया जा चुका है। हमारे हेल्थ केयर वकर्स, फ्रंटलाइन कोरोना वारियर समेत कई अन्य प्रमुख चिन्हित लोगों को वैक्सीन लगाया जा चुका है। 1 मई से 18 साल से अधिक व्यक्तियों को वैक्सीन लगाया जा सकेगा। वैक्सीन का जो भी निर्माण होगा उसमें से आधा हिस्सा राज्यों को मिलेगा। मुफ्त वैक्सीन समेत पुराने तय कार्यक्रम को भी जारी रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: जिस मरीज को डॉक्टर भी पीपीई किट पहनकर परीक्षण करते हैं उससे सिरफिरा मनचला आधी रात गंदी हरकत करने पहुंच गया

यह भी पढ़ें:   अब योगी सरकार ने लखनऊ बुलाई खाली बसें, नए फरमान पर बिफरी प्रियंका गांधी

मजदूरों के पलायन को रोके सरकारें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi Speech) ने कहा कि हम सभी का प्रयास जीवन बचाने के लिए है। प्रयास यह भी है कि आर्थिक गतिविधियां और आजीविका कम से कम प्रभावित हो। शहरों के वर्क फोर्स को तेजी से वैक्सीन मिल सकेगी। राज्य सरकारों की तरफ से आग्रह है कि श्रमिकों का भरोसा जगाए रखे। उनसे कहा जाए कि वे जहां है वहीं रहे। जिस शहर में वे हैं, वहां उन्हें वैक्सीन लगाने और काम बंद न होने का भरोसा दिलाया जाए। इस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए पहले वेव में हमारे पास पर्याप्त लैब, पीपीई प्रोडक्शन से लेकर कई अन्य तकनीकी बिंदुओं से देश जूझ रहा था। उसमें सुधार किया गया और कोरोना के इलाज की एक्सपर्ट भारत बन गया है।

प्रचार तंत्र डर और अफवाह न फैलाए

PM Modi Speech
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री_ File Photo

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पर्याप्त मात्रा में अब लैब भी है। देश में कोरोना के खिलाफ बहुत मजबूती और धैर्यता के साथ लड़ाई लड़ी है। इसका श्रेय देश के नागरिकों को ही जाता है। देश को यहां तक लाने का योगदान जनभागीदारी रही है। हम इस तूफान को भी परास्त कर देंगे। इस वक्त देश में कई लोग, सामाजिक संस्था सेवाभाव के साथ लोगों को मदद पहुंचा रहे हैं। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि जरुरतमंदों तक समाज के लोग मदद पहुंचाने का सिलसिला जारी रखे। युवा साथियों से कहा कि कोविड अनुशासन पालन कराने में मदद करें। ऐसा करने पर सरकारों को कंटेनमेंट, लॉक डाउन लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

माइक्रो कंटेंनमेंट बनाया जाए

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि स्वच्छता अभियान के लिए मुझे मेरे बाल मित्रों ने मदद की थी। मेरे बाल मित्र घर में ऐसा माहौल बनाइए कि बड़े लोग बिना काम बिना जरुरत बाहर न निकले। मीडिया की जगह प्रचार तंत्र शब्द का इस्तेमाल करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि डर और अफवाह का माहौल खत्म करने में मदद करे। देश को लॉक डाउन से बचाने का प्रयास करें। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्यों को माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा जोर देना चाहिए। राज्य सरकार को भी लॉक डाउन को अंतिम विकल्प मानकर काम करना चाहिए।

Don`t copy text!