Chhattisgarh और Maharashtra के नक्सली कैडर के बीच पनप रहा विद्रोह

Share

मुखबिरी के शक में महाराष्ट्र के नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के नक्सली को उतारा मौत के घाट

फाइल फोटो

रायपुर। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) और महाराष्ट्र (Maharashtra) के नक्सल प्रभावित जिलों में नक्सलियों के बीच ही आपसी विद्रोह पनपने लगा है। ताजा मामला कांकेर (Kanker) जिले से सामने आया है, जहां नक्सलियों ने मुखबिरी के शक में अपने ही साथी को मौत के घाट उतार दिया। नक्सलियों की टोली ने शनिवार रात इस वारदात को अंजाम दिया। रविवार सुबह मारे गए नक्सली का खून से सना शव सड़क किनारे से बरामद किया गया। नक्सलियों को शक था कि उनका ही साथी रंजीत तिम्मा (28) पुलिस के लिए मुखबिर का काम कर रहा है। महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले से सटे उलिया गांव में रहने वाले रंजीत को धारदार हथियारों से काट दिया गया।

राजधानी रायपुर से करीब 250 किलोमीटर दूरी पर स्थित उलिया गांव में रहने वाले रंजीत तिम्मा (Ranjeet Timma) के घर शनिवार रात नक्सलियों की टोली पहुंची थी। “प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शनिवार रात को दो महिलाओं सहित छह नक्सली रंजीत के घर पहुंचे, उस वक्त रंजीत अपने परिवार के साथ टीवी देख रहा था। नक्सली उसे अपने साथ जंगल में ले गए फिर सुबह उसका शव सड़क किनारे मिला।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। जांच में पता चला कि तिम्मा इलाके में माओवादियों के जनताना सरकार समूह के प्रमुख के रूप में सक्रिय था। वो हत्या और अन्य नक्सली घटनाओं को अंजाम दे चुका था। अधिकारी ने कहा, ” तिम्मा की हत्या में शामिल सभी लोगों की पहचान कर ली गई है। वे नक्सली पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और भामरागढ़ में सक्रिय हैं और राज्य की सीमा पर नक्सली घटनाओं को अंजाम देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।” उन्हें ट्रेस करने के लिए ऑपरेशन शुरू किया गया है।

यह भी पढ़ें:   Fake Naxalite Encounter : Chhattisgarh Assembly में पेश होने से पहले लीक हो गई रिपोर्ट

पुलिस के मुताबिक टिम्मा को मुखबिरी के शक में मारा गया है। हालांकि, यह भी संकेत मिले कि छत्तीसगढ़ के कांकेर से माओवादी कैडर और गढ़चिरौली के कैडर के बीच मतभेदों के कारण हत्या हुई है। घटना की जांच चल रही है।

अपील- स्वतंत्र और निर्भीक पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए हमें सहयोग करें। ताकि विज्ञापन जनित दवाबों से मुक्त रहकर www.thecrimeinfo.com आप तक तथ्यपरक और मूल्य आधारित सूचनाएं पहुंचाता रहे। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें नई जानकारी जुटाने, शोध आधारित खबरें करने में मदद करेगा। आप हमें ऑनलाइन सहयोग प्रदान कर सकते है। साथ ही द क्राइम इन्फो के व्हाट्स एप ग्रुप से जुड़ने के लिए अपना मोबाइल नंबर, नाम एवं लोकेशन के साथ 9425005378 पर मैसेज करें। आप हमारे फेसबुक पेज The Crime Info को लाइक करें एवं यू ट्यूब चैनल The Crime Info को सब्सक्राइब करें।

Don`t copy text!