TIT Bhopal: प्रबंधन ने बोला था ठोंक दूंगा, मीडिया ने एडीजी को सौंप दिया ज्ञापन

Share

बवाल के दौरान कवरेज कर रहे मीडिया से बदसलूकी की हुई शिकायत, गदर पर प्रबंधन खामोश, लेकिन, पुलिस की मदद से बच्चों पर डाल रहा दबाव

TIT Bhopal
टीआईटी कॉलेज में हुए बवाल के बाद जमा छात्रों की भीड़

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में टेक्नोक्रेट इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी (TIT) में मचा बवाल अभी थमा नहीं हैं। बवाल के दौरान टीआईटी प्रबंधन ने मीडिया से बदसलूकी की थी। जिसकी शिकायत मीडिया के एक प्रतिनिधि मंडल ने भोपाल रेंज के आईजी एडीजी आदर्श कटियार (IGP Adarsh Katiyar) से की है। इधर, पुलिस पर आरोप लग रहे हैं कि वह प्रबंधन के इशारों पर गदर करने वाले छात्रों को टारगेट कर रहा है।

जानकारी के अनुसार दो ​दिन पहले नयन भारद्वाज का शव हथाईखेड़ा डैम (Nayan Suicide Case) में मिला था। यह पता चलने पर टीआईटी कैम्पस (TIT Campus) में जमकर बवाल हो गया। छात्रों का आरोप था कि उसने प्रबंधन के दबाव के चलते खुदकुशी की है। छात्रों ने जमकर कॉलेज के फैकल्टी के वाहनों और परिसर में तोड़फोड़ (TIT Riot) की थी। इसकी सूचना मिलने पर मीडिया भी वहां पहुंचा था। मीडिया ने जब प्रबंधन से प्रतिक्रिया मांगी तो एक व्यक्ति मीडिया को धमकाने लगा। उसका कहना था कि वह बिना अनुमति भीतर कैसे आ गए। वह धमकाते हुए ठोंक दूंगा शब्द का इस्तेमाल कर रहा था। पुलिस के अफसरों ने आकर मीडिया का बचाव किया और मामला शांत कराया था। इस मामले में मीडिया का एक प्रतिनिधि मंडल शनिवार को आईजी के पास पहुंचा। धमकाने के मामले में कार्रवाई की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा गया।

इधर, पुलिस पर टीआईटी कॉलेज के छात्र आरोप लगा रहे हैं कि वह पुलिस की मदद से उन पर दबाव बना रहा है। दबाव बनाने के लिए सोशल मीडिया में वायरल वीडियो में दिख रहे बच्चों की जानकारी प्रबंधन की मदद से हासिल कर रहा है। उन्हें नोटिस देकर थाने तलब किया जा रहा है। इस मामले में छात्र संगठन राजनीतिक संगठनों से मदद लेने की तैयारी में हैं। जिसके बाद जल्द ही टीआईटी कॉलेज के खिलाफ मंत्री से मिलकर शिकायत करने की तैयारी की जा रही है। हालांकि पिपलानी थाना पुलिस ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया। थाना प्रभारी राकेश श्रीवास्तव का कहना था कि अभी किसी भी तरह की जांच पुलिस नहीं कर रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: लिव इन में रह रहे युवक ने फांसी लगाई
Don`t copy text!