UP Crime : 1500 रुपए के लिए 12 साल के लड़के की हत्या

मुख्य आरोपी के साथ मृतक का सहपाठी भी था शामिल

सांकेतिक चित्र

बांदा। लॉकडाउन के चलते लोग बेरोजगार है, ऐसे में आर्थिक तंगी की वजह से होने वाले अपराधों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। थोड़े रुपयों के लिए भी लोग जान लेने को उतारू है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बांदा से सामने आया है। जहां महज 1500 रुपए के लिए एक 12 साल के लड़के को मौत के घाट उतार दिया। लड़का किराने का सामान लेने जा रहा था। लेकिन उसे क्या पता था कि घर का सामान खरीदने के लिए जेब में रखे पैसों की वजह से उसकी हत्या कर दी जाएगी।

चित्रकूट (Chitrakoot) जिले के मानिकपुर थानाक्षेत्र के अहिरी गांव में एक बच्चे की हत्या करने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) बलवंत चौधरी (ASP Balwant Choudhari) ने सोमवार को बताया कि शनिवार शाम अहिरी गांव के बच्चे धनप्रसाद (Dhanprashad 12) उर्फ धन्नू का शव छेरिहाई गांव के जंगल में पाया गया था, जिसके गले में फंदा लगाने का निशान था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी गले में फंदा लगाए जाने से मौत की पुष्टि हुई है।

उन्होंने बताया कि पुलिस की तहकीकात में पाया गया कि धन्नू डेढ़ हजार रुपये घर से लेकर अपने दोस्त के साथ साइकिल से परचून की दुकान का सामान लेने जा रहा था, तभी रास्ते में उसे सरैयां गांव का विजय पाल मिला। चौधरी ने बताया कि विजय ने धन्नू के साथ गए उसके सहपाठी तथा एक और अन्य नाबालिग लड़के को साजिश में शामिल कर धन्नू के गले में कपड़े से फांसी का फंदा लगाकर उसकी हत्या कर दी और शव जंगल में फेंक दिया। मुख्य आरोपी विजय के हवाले से चौधरी ने बताया कि धन्नू के पास से मिले डेढ़ हजार रुपये तीनों आरोपियों ने आपस में बराबर-बराबर बांट लिए।

यह भी पढ़ें:   Usury : मकान हड़पना चाहता था रिटायर्ड एसआई, प्रताड़ित शख्स ने एसएसपी के सामने दे दी जान

हत्या की एक वजह पुरानी रंजिश भी बताई जा रही है। एएसपी ने बताया कि विजय और धन्नू के पिता का कुछ दिन पहले किसी मामूली बात को लेकर झगड़ा हुआ था। संभवत: इसी का बदला लेने के लिए विजय ने हत्या की है।उन्होंने बताया कि आरोपियों को अदालत के सामने पेश किया जाएगा।

Don`t copy text!