Bhopal News: दो मकानों में घुसकर चोरी की वारदातें 

Share

Bhopal News: कोतवाली पुलिस ने चुप्पी साधी तो देरी से दर्ज किए मुकदमे की वजह पूछने पर आ गया पसीना

Bhopal News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। शहर में दो स्थानों पर सादा चोरी की दो घटनाएं अलग-अलग जगहों पर हुई है। यह मामले भोपाल (Bhopal News) सिटी के पिपलानी और कोतवाली इलाके में हुए हैं। कोतवाली थाना पुलिस मामले को लेकर खामोश है। चोरी गई संपत्ति के अलावा एफआईआर में हुई देरी के सवाल पर वह आला अधिकारियों को जिम्मेदार बता रही थी। थाना पुलिस ने कहा कि इस संबंध में पुलिस नियंत्रण कक्ष को अवगत करा दिया है। बहरहाल पुलिस नियंत्रण कक्ष के क्षेत्राधिकार का यह प्रकरण नहीं था।

पुलिस ने चुप्पी साधी

पिपलानी थाना पुलिस के अनुसार 16 अगस्त की दोपहर लगभगदो बजे 645/22 धारा 380 सादा चोरी का मामला दर्ज किया गया है। शिकायत राहुल सिंह राठौर पिता स्वर्गीय रवीन्द्र सिंह राठौर उम्र 30 साल की शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया गया है। घटना 15 अगस्त की शाम लगभग साढ़े पांच बजे हुई थी। राहुल सिंह राठौर (Rahul Singh Rathore) ने बताया कि वह दैनिक समाचार पत्र में नौकरी करते हैं। मकान में काम भी चल रहा है। इसी बीच वे शादी कार्यक्रम में चले गए थे। वहां से लौटकर वे घर पर आराम कर रहे थे। उनकी बुजुर्ग दादी ने देखा कि अलमारी खुली है। पर्स जिसमें 10 हजार रूपए के अलावा नाक की लौंग गायब मिली। इधर, कोतवाली थाना पुलिस ने 17 अगस्त को 188/22 धारा 380 का मामला दर्ज किया है। घटना गुलिया दाई मोहल्ला में 11 अगस्त को हुई थी। शिकायत अभिलाष जैन (Abhilash Jain) ने दर्ज कराई है। कोतवाली थाना पुलिस ने प्रकरण दर्ज करने में हुई देरी का खुलासा नहीं किया है। इसके अलावा चोरी गई संपत्ति की जानकारी भी साझा नहीं की है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: अमेज़ॅन कंपनी की सुरक्षा गार्ड पर सुपरवाइजर की बुरी नजर
Don`t copy text!