MP Cop News: कुख्यात जालसाज की शिकायत पर लाइन अटैच हवलदार वापस बहाल

Share

MP Cop News: डीसीपी के आदेश में लिखा था हवलदार नशे की हालत में था, रोजनामचे में रिपोर्ट भी डाली गई, बाहर के दो आदमियों के साथ आकर की थी अभद्रता, पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली में अफसरों के सुपर विजन का सामने आया यह कड़वा सच

MP Cop News
ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली में इतने सारे अफसर है उसके बावजूद सबकुछ पुराने पैटर्न पर ही चल रहा है। मामला भोपाल (MP Cop News) शहर के कोलार रोड थाने से जुड़ा है। यहां तैनात एक हवलदार को एक पखवाड़े पूर्व लाइन अटैच कर दिया था। उस पर कई संगीन आरोप लाइन अटैच करते वक्त जारी हुए आदेश में लिखे गए थे। लेकिन, अब उसी हवलदार को उसी थाने में अफसरों ने बहाल कर दिया। इससे साफ है कि शहर के अफसर किस तरह से थानों में सुपर विजन कर रहे हैं।

थाने में जाकर अभद्रता करने वाले वह दो शख्स कौन

राजस्थान की राजधानी जयपुर से कुख्यात जालसाज सुनील टिबड़ेवाल (Sunil Tibdewal) को भोपाल क्राइम ब्रांच गिरफ्तार करके लाई थी। उसके खिलाफ शहर के कई थानों में जालसाजी के प्रकरण दर्ज हैं। आरोपी के साथ थाने में अभद्रता हुई थी। जिसकी शिकायत करने जालसाज के वकील डीसीपी कार्यालय पहुंचे थे। आरोपों के बाद प्रभार में चल रहे डीसीपी जोन—चार श्रुतकीर्ति सोमवंशी ने हवलदार उपेंद्र सिंह(HC Upendra Singh)  को 05 फरवरी को लाइन हाजिर करने के आदेश जारी कर दिए थे। इसी आदेश में लिखा गया था कि हवलदार 02—03 फरवरी की दरमियानी रात लगभग दो बजे शराब के नशे की हालत में पहुंचे थे। उनके साथ दो बाहरी व्यक्ति भी थे। जिन्होंने सुनील टिबड़ेवाल के साथ अभद्रता की थी। हंगामा होने पर ड्यूटी पर तैनात एसआई जितेंद्र केवट (SI Jitendra Kewat) ने इसकी रिपोर्ट भी रोजनामचे में डाली थी। यह रिपोर्ट उन्होंने 03 फरवरी की सुबह सवा नौ बजे लिखी थी। जिसके आधार पर तत्काली प्रभाव से लाइन अटैच करने के आदेश दिए गए। इसी बीच 22 फरवरी को डीसीपी मुख्यालय रामशरण प्रजापति (DCP Ramsharan Prajapati) ने हवलदार को उसी थाने में तैनात करने के आदेश जारी कर दिए। हालांकि इसमें यह साफ नहीं किया गया है कि पूर्व के आरोपों की विभागीय जांच हुई कि नहीं। इसके अलावा यह भी साफ नहीं हो सका कि हवलदार उपेंद्र सिंह के साथ थाने के भीतर दो अन्य कौन व्यक्ति गए थे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Fake Electricity Phone Call : बिजली बिल के नाम पर सायबर फ्रॉड
Don`t copy text!