Bhopal News: बेटे को पाने के लिए माता—पिता के बीच संघर्ष

Share

Bhopal News: चार महीने पहले पत्नी ने दर्ज कराया था दहेज प्रताड़ना का केस, एक सप्ताह पहले बेटे को पुलिस चौकी में पति को सौंप गई थी पत्नी

Bhopal News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। पति—पत्नी के बीच चल रहे घरेलू हिंसा के सर्वाधिक शिकार बच्चे होते हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला भोपाल (Bhopal News) देहात क्षेत्र में स्थित बैरसिया थाना क्षेत्र का है। यहां मुस्लिम पति—पत्नी के बीच कलह के चलते पत्नी ने चार महीने पहले मुकदमा दर्ज करा दिया। फिर  एक सप्ताह पहले बेटे को पति के हवाले कर दिया। अब पत्नी बेटे को वापस लेने ससुराल पहुंच गई। जिसको लेकर पति—पत्नी के दोनों गुटों में खूनी संग्राम हो गया।

इस बात को लेकर हुआ था विवाद

बैरसिया (Berasia) थाना पुलिस के अनुसार यह घटना 12 सितंबर की दोपहर लगभग साढ़े बारह बजे हुई थी। जिसमें पुलिस ने 680—681/23 मारपीट की धाराओं में काउंटर केस दर्ज किया है। जिसमें पहले पक्ष की तरफ से 28 वर्षीय पति फरियादी है। उसने बताया कि उसके खिलाफ दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज है। पिछले एक सप्ताह पूर्व पत्नी ने ललरिया चौकी में अपने बेटे को पुलिस की मौजूदगी में उसे सौंप दिया था। अब वह बेटा वापस मांगने आई थी। जिसको लेकर मेरी तरफ से यह कहा गया कि वह पुलिस की मौजूदगी में बेटे को उसे सौंपेंगा। यह बोलने पर उसकी पत्नी और उसके साथ आए तीन अन्य लोगों ने मारपीट कर दी। पीड़ित पति का कहना था कि वह मां के साथ रहता भी नहीं है। लेकिन, बेटे को लेने वह वहां पर गई थी। इधर, दूसरे पक्ष से 26 वर्षीय पत्नी ने मारपीट का केस दर्ज कराया। पत्नी का आरोप है कि बेटा ले जाने की बात पर पति और उसके तीन रिश्तेदारों ने जमकर मारपीट की।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal  News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime News : सीआईएसएफ का हवलदार दुर्घटना में जख्मी
Don`t copy text!