सीएम शिवराज के गृह जिले में दलित महिला से गैंगरेप

Share

घटना की जानकारी छुपाती रही पुलिस, कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने साधा निशाना

सांकेतिक तस्वीर

सीहोर । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर में एक दलित महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। यहां दो दरिंदों ने महिला को हवस का शिकार बनाया। घटना 7 अक्टूबर की है। जिले के जावर थाना इलाके में वारदात को अंजाम दिया गया। मामले में पुलिस की गंभीर लापरवाही सामने आई है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है।

शादीशुदा है पीड़िता

दलित समाज की महिला शादीशुदा है और 3 बच्चों की मां भी है। 7 अक्टूबर को गांव के ही दो युवकों ने महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया। आरोपी महिला को अगवा कर खेत में गए थे। थाना प्रभारी मदन इवने ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि मामले में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों का नाम धर्मेंद्र देवड़ा और श्रवण उर्फ प्रभु है।

कमलनाथ ने साधा निशाना

मध्यप्रदेश में लगातार सामने आ रहा है गैंगरेप के मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने एक बार फिर शिवराज सरकार पर निशाना साधा सीएम शिवराज के गृह जिले सीहोर में हुई घटना पर ट्वीट करते हुए कमलनाथ ने लिखा कि-

‘महिला अपराधों में , दुष्कर्म में प्रदेश फिर देश में शीर्ष पर पहुँच रहा है।
बहन-बेटियों के साथ प्रदेश में रोज़ दरिंदगी की घटनाएँ घट रही है। ‘

‘प्रदेश का कोई भी हिस्सा सुरक्षित नहीं है।
अब आपके ही गृह ज़िले सिहोर के जावर थाना क्षेत्र में एक दलित महिला के साथ दुष्कर्म की घटना घटित हुई है।
आख़िर कब यह घटनाएँ रुकेगी ?’

यह भी पढ़ें:   Bhopal Murder Case: महिला की सिर कुचलकर हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार

मामले को दबाती रही पुलिस

दलित महिला से गैंगरेप केस मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठे हैं । सीएम के गृह क्षेत्र का मामला होने की वजह से पुलिस ने घटना को दबाने की कोशिशें भी की। ए एसआई मंगल सिंह यादव चार बार फोन लगाने के बावजूद जानकारी नहीं दे पाए। तरह-तरह के बहाने करके मामले को टालते रहे। सूत्रों के हवाले से खबर है कि टीआई मदन अभिनय ने भी शुरुआती जांच में लापरवाही बरती थी

Don`t copy text!