Bhopal Property Fraud: फर्जी बही बनाकर बेच रहा था जमीन

Share

Bhopal Property Fraud: नामांतरण करते वक्त तहसील कार्यालय से उजागर हुआ राज, पीड़ित को लगाई पंद्रह लाख रुपए की चपत

Bhopal Property Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। किसान ने एक व्यक्ति को फर्जी बही बनाकर जमीन बेचने का प्रयास किया। ऐसा होता उससे पहले जालसाज का राज खुल गया। हालांकि तब तक पीड़ित से आरोपी पंद्रह लाख रुपए ऐंठ चुका था। यह वारदात भोपाल (Bhopal Property fraud) देहात क्षेत्र में स्थित गुनगा इलाके की है। पुलिस ने इस मामले में जालसाजी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

इन धाराओं में दर्ज किया गया प्रकरण

गुनगा (Gunga) थाना पुलिस के अनुसार यह एफआईआर तहसील कार्यालय से जारी रिपोर्ट के आधार पर दर्ज की गई है। जिसकी शिकायत भोपाल शहर के अयोध्या नगर थाना क्षेत्र स्थित नरेला शंकरी निवासी अनस अली (Anas Ali) पिता शाकिर अली उम्र 28 साल ने दर्ज कराई है। अनस अली ने बताया कि उसने मार्च, 2020 में मनीखेड़ी (Manikhedi) में जमीन देखी थी। यहां चार एकड़ जमीन पर मालिकाना कब्जा अजब सिंह राजपूत (Ajab Singh Rajput) ने अपना दर्शाया था। जमीन का सौदा 15 लाख रुपए में तय किया गया। बयाने के तौर पर एक लाख रुपए दे दिए गए। इसके बाद किस्त में बाकी रकम का भुगतान किया गया। आरोपी ने उसकी रजिस्ट्री भी काफी मशक्कत के बाद कराई। यह कराने के बाद जमीन के नामांतरण के लिए अनस अली ने तहसील कार्यालय में आवेदन लगाया। जिसमें पता चला कि जिस बही के आधार पर यह सौदा किया जा रहा है वह फर्जी है। तहसील कार्यालय से वह बही जारी नहीं हुई है। इस आधार पर पुलिस ने आरोपी अजब सिंह राजपूत के खिलाफ 17 अप्रैल की रात लगभग नौ बजे 101/24 धारा 420/467/468/471 (जालसाजी, दस्तावेजों की कूटरचना, कूटरचित दस्तावेजों का इस्तेमाल करने का मुकदमा) दर्ज कर लिया गया।

पहले भी हो चुके हैं गिरफ्तार

जालसाजी के इस मामले की जांच एएसआई रामचरण मीना (ASI Ramcharan Meena) कर रहे हैं। उन्होंने तहसील कार्यालय से फर्जीवाड़े की रिपोर्ट भी हासिल की है। अनस अली के पिता शाकिर अली सरकारी विभाग में जॉब करते थे। वहां से रिटायर होने के बाद उन्हें मिली रकम से मनीखेड़ी की जमीन खरीदी थी। यह जमीन हेम सिंह राजपूत,(Hem Singh rajput)  अजब सिंह राजपूत, लीला बाई राजपूत (Leela Bai Rajput) और कुसुम बाई राजपूत (Kusum Bai rajput) के नाम पर है। इससे पहले यह जमीन अजब सिंह राजपूत के पिता के नाम पर थी। उनके निधन के बाद हर एक व्यक्ति के हिस्से में चार—चार एकड़ जमीन आई थी। लेकिन, अनस अली से जिस बही को लगाकर सौदा किया गया वह फर्जी था। अजब सिंह राजपूत और उसका परिवार ऐसा ही फर्जीवाड़ा एक अन्य परिवार से कर चुका है। जिसमें यह सभी भोपाल शहर के अयोध्या नगर (Ayodhya Nagar) थाने में गिरफ्तार हो चुके हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Property fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: बाइक सवार की मौत
Don`t copy text!