Hathras : गैंगरेप पीड़िता के शव के साथ पुलिस की निर्दयता

Share

परिवार की गैर मौजूदगी में रातों-रात कर दिया अंतिम संस्कार, देखें वीडियो

Hathras Gang Rape
मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी और अंतिम संस्कार

हाथरस। (Hathras) उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म (Hathras Gang Rape) की शिकार हुई युवती की लाश के साथ भी निर्दयता की गई। झकझोर देने वाली वारदात में बेटी को खोने वाले माता-पिता को अंतिम संस्कार का मौका भी नहीं मिला। उत्तर प्रदेश प्रशासन और पुलिस ने पीड़िता का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस ने इस निर्दयी कारनामे को रात ढ़ाई बजे अंजाम दिया। इस कृत्य की चौतरफा निंदा की जा रही है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने पुलिस की निर्दयता का वीडियो भी शेयर किया है।

दरिंदों ने हैवानियत की थी

14 सितंबर को 19 वर्षीय दलित युवती के साथ गैंगरेप हुआ था। 4 दरिंदों ने हैवानियत की हदें पार कर दी थी। सामूहिक दुष्कर्म के बाद युवती की जीभ काट दी गई थी। उसकी गर्दन तोड़ दी गई थी। इलाज के लिए पीड़िता को पहले अलीगढ़ और बाद में दिल्ली रैफर किया गया था। मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता मौत से जंग हार गई। घटना के 15 दिन बाद पीड़िता की मौत हो गई।

पुलिस ने लाश को भी नहीं छोड़ा

मंगलवार को अस्पताल में मौत के बाद पीड़िता के शव को हाथरस के बुलगाड़ी गांव लाया गया। बड़ी संख्या में प्रशासन और पुलिस के अधिकारी मौके पर मौजूद थे। पुलिस बल को बुलगाड़ी गांव में तैनात किया गया था। पीड़िता का शव रात 12.40 मिनट पर गांव में पहुंचा। जैसे ही शव गांव पहुंचा अधिकारियों ने तुरंत अंतिम संस्कार करने की जिद शुरु कर दी।

रात में नहीं होता अंतिम संस्कार

लेकिन हिंदू रीति-रिवाज के मुताबिक सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार नहीं किया जाता। लिहाजा पीड़िता के परिवार ने रात में अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस और प्रशासन ने अपना रूप दिखाया। पीड़िता के शव का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में मीडिया भी मौके पर मौजूद था। लेकिन पुलिस अधिकारियों ने किसी की नहीं सुनी। जवाब देना भी जरूरी नहीं समझा।

यह भी पढ़ें:   इतना मंहगा हुआ प्याज की होने लगी लूट, UP के Gorakhpur से सामने आया मामला

राहुल गांधी ने उठाए सवाल

राहुल गांधी ने कहा- भारत की एक बेटी का रेप-क़त्ल किया जाता है, तथ्य दबाए जाते हैं और अन्त में उसके परिवार से अंतिम संस्कार का हक़ भी छीन लिया जाता है। ये अपमानजनक और अन्यायपूर्ण है।

यह भी पढ़ेंः फिल्मी स्टाइल में रिवॉल्वर तानकर पूछताछ कर रहे था टीआई. चल गई गोली

वहीं कलेक्टर का एक बयान सामने आया है। जिसमें वो कह रहे है कि मृतका के परिजन की अनुमति से ही अंतिम संस्कार किया गया था। लेकिन युवा कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से शेयर किया गया ये वीडियो बताता है कि परिजन को पीड़िता का शव भी नहीं दिया गया।

केजरीवाल का बयान

हाथरस की पीडिता का पहले कुछ वहशियों ने बलात्कार किया और कल पूरे सिस्टम ने बलात्कार किया। पूरा प्रकरण बेहद पीड़ादायी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान

हाथरस में बालिका के साथ घटित दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दोषी कतई नहीं बचेंगे। प्रकरण की जांच हेतु विशेष जांच दल का गठन किया गया है। यह दल आगामी सात दिवस में अपनी रिपोर्ट देगा। त्वरित न्याय सुनिश्चित करने हेतु इस प्रकरण का मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा।

फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस

हाथरस गैंगरेप और मर्डर केस में देशभर से आ रही प्रतिक्रिया के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान सामने आया है। उन्होंने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है। तीन सदस्यीय स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) की कमान गृह सचिव भगवान स्वरूप के सौंपी गई है। वहीं डीआईजी चंद्रप्रकाश और आईपीएस पूनम को टीम का सदस्य बनाया गया है। एसआईटी एक हफ्ते के अंदर अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। साथ ही ये मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!