Bhopal Honey Trap: बलात्कार के झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर रंगदारी मांगी

Share

Bhopal Honey Trap: थाने के नजदीक एमपी पुलिस के एक जवान की मदद से हुआ था पांच लाख रूपए और प्लॉट लेकर सौदा, कोचिंग संचालक समेत कई अन्य रसूखदारों को भी दे चुकी हैं झांसा, पति—पत्नी गिरफ्तार किए गए, एक दिन पहले ही महिला ने दर्ज कराया था प्रॉपर्टी डीलर के खिलाफ बलात्कार का मामला, शहर के कई अन्य थानों में भी पहुंची थी महिला, सभी मामलों में सच्चाई पता लगाने मोबाइल कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस

Bhopal Honey Trap
सांकेतिक चित्र

भोपाल। एमपी में हनी ट्रैप सुनते साथ कई सफेदपोश लोगों की सांसे उखड़ने लगती है। ऐसा ही एक ओर गिरोह सामने आया है। जिसमें एमपी पुलिस के एक कर्मचारी की भी संदिग्ध भूमिका सामने आई है। इस रैकेट के झांसे में कोचिंग संचालक समेत कई प्रॉपर्टी डीलर फंसे हुए हैं। यह मामला भोपाल (Bhopal Honey Trap) शहर के टीटी नगर थाना क्षेत्र का है। जिसमें पुलिस ने युवती और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के मोबाइल कॉल डिटेल और खातों में जमा रकम से उनकी पूरी पोल खुलेगी। इसके लिए आरोपियों को अदात में पेश करके पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जा रहा है। पुलिस को इस गिरोह में शामिल तीसरे व्यक्ति की तलाश है। वह एमपी पुलिस का कर्मचारी बताया जा रहा है।

इस कारण हो गई थी नाराज

टीटी नगर (TT Nagar) थाना पुलिस के अनुसार 07—08 जुलाई की रात लगभग पौने दो बजे 409/23 धारा 389/120—बी/34 (बलात्कार मामले में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेलिंग, साजिश और एक से अधिक आरोपी का मामला दर्ज) किया गया है। शिकायत 51 वर्षीय प्रॉपर्टी डीलर ने दर्ज कराई है। उसका न्यू एमएलए क्वार्टर (New MLA Quater) में दफ्तर है। इस मामले में आरोपी वर्षा गोस्वामी (Varsha Goswami) , उसका पति प्रहलाद गोस्वामी (Prahlad Goswami)  और गोपाल सिंह सिसोदिया (Gopal Singh Sisodiya) है। पीड़ित प्रॉपर्टी डीलर ने टीटी नगर थाने के नजदीक बना एक वीडियो भी सबूत के तौर पर पेश किया है। पीड़ित कोटरा सुल्तानाबाद (Kotra Sultanabad) का रहने वाला है। उसने पुलिस को बताया कि वर्षा गोस्वामी से उसकी पहचान कोचिंग संचालक दोस्त के जरिए हुई थी। कुछ समय आरोपी वर्षा गोस्वामी प्रॉपर्टी डीलर के दफ्तर में भी जॉब कर चुकी थी। उसे सात हजार रूपए महीने की सैलरी पर रखा गया था। लेकिन, प्रॉपर्टी डीलिंग में नुकसान होने के कारण मार्च, 2023 में उसे नौकरी से निकाल दिया था।

इस बात पर हुआ था तोड़

Bhopal Honey Trap
सांकेतिक चित्र

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि वह आरोपी वर्षा गोस्वामी को एक साल से जानता है। नौकरी से निकाले जाने के बावजूद दोनों के बीच अक्सर बातचीत हुआ करती थी। उसने कुछ समय (Bhopal Honey Trap) पहले आर्थिक तंगी बताकर नौकरी भी मांगी थी। उसको नौकरी से निकालने के बाद दूसरी युवती को रख लिया था। यह बात उसे पता चली तो वह नाराज हो गई। इसी बीच 7 जून को वह टीटी नगर थाने पहुंच गई। वह उसके खिलाफ बलात्कार की झूठी रिपोर्ट दर्ज करा रही थी। वह भी उसके पीछे पहुंचा तो पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। इसके बाद प्रॉपर्टी डीलर का बड़ा भाई और तीन दोस्त भी थाने पहुंच गए। युवती से झूठी रिपोर्ट लिखाने की बात को लेकर बातचीत की गई। उस वक्त पति प्रहलाद गोस्वामी और उसका दोस्त गोपाल सिंह सिसोदिया भी थे। सिसोदिया बाइक एमपी—04—क्यूएफ—5964 पर सवार था। तीनों पांच लाख रूपए नकद और प्लॉट देने पर एफआईआर दर्ज न कराने पर सहमत हुए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: छोटे भाई ने बड़े भाई को पीटा 

पुराने मामलों की भी होगी जांच

बाइक गोपाल सिंह सिसोदिया की है जो 25वीं बटालियन भदभदा के पते पर रजिस्टर्ड है। बताया जा रहा है कि सिसोदिया बटालियन का कर्मचारी है। हालांकि वह किस बटालियन में तैनात है यह साफ नहीं हो सका है। पीड़ित प्रॉपर्टी डीलर ने बताया कि उसके बड़े भाई ने जब पांच लाख रूपए दिए तब चोरी—छुपे वीडियो भी बना लिया था। साथ ही प्लॉट देने की बात भी तय हो गई थी। जिसकी बकायदा लिखा—पढ़ी भी कराई गई थी। इसके बाद वर्षा गोस्वामी ने थाने में दिया अपना आवेदन वापस ले लिया था। लेकिन, उसकी रजिस्ट्री न होने के कारण वर्षा गोस्वामी उसको धमका रही थी। प्रॉपर्टी डीलर तब थाने पहुंचा जब वर्षा गोस्वामी ने रातीबड़ थाने में दूसरे प्रॉपर्टी डीलर के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पीड़िता इसके पहले हबीबगंज थाने के अलावा कई अन्य थानों में भी ऐसे ही आवेदन देकर वापस ले चुकी है। पुलिस उन आवेदनों के अलावा रातीबड़ थाने में दर्ज प्रकरण की नए सिरे से जांच कर रही है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Honey Trap
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: बुखार की टैबलेट खाने के बाद मौत
Don`t copy text!