MP Political Gossip: छत्तीसगढ़ के बाद एमपी में केजरीवाल की रैली

Share

MP Political Gossip: दलित समाज के बाद अब ब्राह्मण समाज अगले महीने दिखाएगा राजधानी में शक्ति प्रदर्शन, सोशल मीडिया के जरिए गुपचुप अभियान शुरू, मंत्री ने किरकिरी से सबक सीखकर अपनाया नया पैंतरा

MP Political Gossip
सांकेतिक चित्र टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश (MP Political Gossip) में इस साल विधानसभा चुनाव होना है। इसके लिए राजनीतिक पार्टियां घमासान में जुट गई है। भाजपा—कांग्रेस के अलावा इस बार समीकरण बिगाड़ने के लिए आम आदमी पार्टी भी मैदान में उतर रही है। अभी तक भाजपा—कांग्रेस के अलावा किसी अन्य पार्टी का कोई अस्तित्व दूर—दूर तक नजर नहीं आ रहा। हालांकि दूसरी पार्टियां सिर्फ वोट काटकर मूल पार्टियों के लिए बी श्रेणी का काम जरूर करेगी। जिसका फायदा चुनाव परिणाम सामने आने के बाद उजागर होगा। इसके अलावा यह भी पता चलेगा कि किस दल के लिए कौन व्यक्ति भीतरघात कर रहा था।

पार्षद के पंगे से परेशान थाने के एक टीआई

भोपाल के विधानसभा क्षेत्र में भाजपा नेताओं की विकास यात्रा चल रही है। इसी यात्रा में एक पार्षद बड़ी गर्मजोशी से जुटे हुए थे। कार्यक्रम सफल होता उससे पहले उनके परिवार से जुड़ा एक मामला पुलिस थाने पहुंच गया। प्रकरण लेन—देन का था जिसमें आरोप लगाने वाले व्यक्ति ने सोशल मीडिया में जाकर धरना देने की चेतावनी भी दे दी। पार्षद महोदय अपने बेटे के नाम पर कंस्ट्रक्शन कंपनी भी चलाते हैं। उन्हें वकालत के क्षेत्र का भी काफी अच्छा अनुभव है। इसलिए गठजोड़ करके मामले को उन्होंने सुलझा लिया। हालांकि इस बात से थाने के प्रभारी कई दिनों तक माथा पकड़कर जरूर परेशान होते रहे।

दूध का जला छाछ भी फूंककर पीता है

पिछले दिनों प्रदेश सरकार में कैबिनेट स्तर के मंत्री का वीडियो जमकर वायरल हुआ था। वे बीच सड़क पर उफनते सीवेज को देखकर काफी तमतमाए थे। यह वीडियो नेशनल मीडिया में भी आया था। इस घटना से उन्होंने सबक लिया। मामला शांत होता तभी यात्रा के दौरान उन्हें महिलाओं ने घेर लिया। भीड़ क्षेत्र में अंधेरे की समस्या और कैमरा नहीं होेने के कारण सुरक्षा को लेकर चिंतित थी। इस पूरे घटनाक्रम को कई हाथों में मोबाइल लेकर खड़े नागरिक कैद कर रहे थे। यह देखकर संयमित हुए मंत्री महोदय ने तुरंत निगम अफसर को बुलाया। उन्होंने तत्काल बिजली व्यवस्था का इंतजाम करने का आदेश देते हुए महिला के घर जाकर चाय पीने की इच्छा जताई। हालांकि इस प्रयास में भी वे एक्सपोज हो गए। क्योंकि उन्होंने निगम अधिकारी को बकायदा नाम लेकर पुकारा था। इसके बावजूद क्षेत्र की समस्या लंबे अरसे से वह अफसर सुधार नहीं पा रहे थे।

यह भी पढ़ें:   Ratlam Gang Rape and Murder Case : 13 साल की बच्ची को 3 दरिंदों ने डुबो-डुबोकर मारा था

केजरीवाल कर पाएंगे करिश्मा

MP Political Gossip
सांकेतिक चित्र टीसीआई

मध्यप्रदेश में जल्द दिल्ली केे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) रोड शो करने की तैयारी कर रहे है। खबर है कि यह मेगा इवेंट वे राजधानी में करने जा रहे है। जिसके लिए पार्टी भीतर ही भीतर रणनीति बना रही है। वहीं टिकट के दावेदार इस दौरान अपनी ताकत का मुजाहिरा करने के लिए लंगोट कस रहे हैं। खबर तो यह भी है कि केजरीवाल छत्तीसगढ़ के बाद एमपी का दौरा करेंगे। एमपी में वह आकर नई कार्यकारिणी का ऐलान भी कर सकते हैं। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष में कोई चौका देने वाला चेहरा सार्वजनिक करने को लेकर अटकल चल रही है। इस कार्यकारिणी को लेकर पार्टी के भीतर ही कई नेता भी इंतजार कर रहे हैं। वह यह देखना चाहते हैं कि कोई पैराशूट वाला नेता न आ जाए। यदि ऐसा हुआ तो आप शुरू होने के पहले ही खत्म हो जाएगी। दरअसल, मध्यप्रदेश के नागरिकों का राजनीति में नजरिया कुछ अलग ही है। एमपी के वोटरों को पंजाब (Punjab) या फिर गुजरात (Gujrat) के तर्ज पर रिझाया नहीं जा सकता।

YouTube video

हमारे इस समाचार के बाद अस्पतालों में दवा का इंतजाम तो हुआ। लेकिन, मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक कार्यक्रम के दौरान जो बात बोली थी, उसे वीडियो के आखिर में सुनिए, जिससे सिस्टम की संवेदनशीलता उजागर हो जाएगी।

दलित सम्मेलन केे बाद ब्राह्मण एकता का प्रदर्शन

प्रदेश में पिछले एक पखवाड़े से भीतर ही भीतर ब्राह्मण नेता एकता का प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए बकायदा एक एजेंडा भी बनाया गया है। इस आयोजन को पिछले दिनों दशहरा मैदान में हुए दलित सम्मेलन का जवाब माना जा रहा है। जबकि राजनीतिक पंडित इसे वोट बैंक के ध्रुवीकरण (MP Political Gossip) से जोड़कर इस घटनाक्रम को देख रहे हैं। जानकारों का कहना है कि यदि ​गणित सटीक बैठ गया तो भाजपा को फायदा होगा। यदि गलत हुआ तो एक ही व्यक्ति को नुकसान होगा। वह व्यक्ति कौन है आप समझ ही गए होंगे। इसलिए यह पता लगाया जा रहा है कि इस योजना के पीछे किस—किस मंत्री, नेता, विधायक अथवा सांसद का भीतरी समर्थन मिल रहा है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: छेड़खानी के लिए घर में घुसा

यह भी पढ़िएः तीन सौ रूपए का बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटने के लिए आने वाला अमला, लेकिन करोड़ों रूपए के लोन पर खामोश सिस्टम और सरकार का कड़वा सच

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Political Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!