MP Lokayukta Trap: उमरिया में सीईओ रिश्वत लेते गिरफ्तार

Share

MP Lokayukta Trap: एमपी लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई, कर्मचारी के जीपीएफ भुगतान के लिए मांग रहा था कमीशन

MP Lokayukta Trap
सांकेतिक ग्राफिक डिजाईन टीसीआई।

भोपाल। कर्मचारी के जीपीएफ भुगतान के एवज में कमीशन मांग रहे मुख्य कार्यपालन अधिकारी को रिश्वत लेते हुए दबोचा गया। यह कार्रवाई एमपी लोकायुक्त (MP Lokayukta Trap) पुलिस की टीम ने की। सीईओ उमरिया जिले के करकेल जनपद में तैनात थे। लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम समेत अन्य धारा में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

सरकारी बंगले में रिश्वत लेते हुए दबोचे गए

रीवा (Rewa) लोकायुक्त पुलिस के अनुसार आरोपी दिवाकर नारायण पटेल (Diwakar Narayan Patel) हैं। वे करकेली जनपद में सीईओ हैं। इस मामले की शिकायत राम लखन साकेत (Ram Lakhan Saket) ने दर्ज कराई थी। वे पंचायत में समन्वय अधिकारी थे। रीवा जिले के नईगढ़ी थाना क्षेत्र के ग्राम बररोहा में वे रहते हैं। कई महीनों से चक्कर काटने के बावजूद उनकी रकम का भुगतान नहीं किया जा रहा था। उनकी क्रमोन्नति और जीपीएफ राशि भुगतान के लिए रिश्वत मांगी जा रही थी। आरोपी रकम पास करने के बदले में 10 हजार रूपए की मांग कर रहा था। घूस की यह रकम आरोपी ने अपने सरकारी बंगले में ली थी। रिश्वत लेने की यह कार्रवाई निरीक्षक प्रमेंद्र कुमार (Pramendra Kumar) की अगुवाई में की गई थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Lokayukta Trap
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: हत्या के बाद लाश घसीटकर फेंकी थी स्कूल के पीछे
Don`t copy text!