MP Political Gossip: जिस पार्टी को देखों वह सिर्फ बहनों को साधने में जुटा है

Share

MP Political Gossip: प्रदेश में युवा और भैया इस बार एकतरफा हो गए तो दोनों ही दलों को दे सकते हैं पटखनी, सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ महंगाई, बेरोजगारी, पैमाना तय न कर पाने जैसे संगीन आरोप, होर्डिंग की होड़ के लिए हो जाइए तैयार

MP Political Gossip
सांकेतिक चित्र टीसीआई

भोपाल। एमपी में इस साल विधानसभा चुनाव है। जिसकी बिगुल दो महीने बाद कभी भी फूंक सकती है। ऐसे में भाजपा—कांग्रेस दोनों दल महिलाओं के मत को साधने में जुटे हैं। एक तरफ लाडली बहना है तो दूसरी तरफ नारी सम्मान। अब यह प्रयास कांग्रेस से ज्यादा भाजपा (MP Political Gossip) के लिए सिरदर्द बन रहा है। क्योंकि कई बहनों  के खातों में आज तक रकम ही नहीं पहुंची। वहीं कुछ बैंकों के कारण पहली किस्त भी नहीं ले पाई। इस महीने दूसरी किस्त आ गई है। उसके लिए लाखों—करोड़ों रूपए सिर्फ प्रचार में फूंक दिए गए। इन्हीं बातों से घर चलाने वाले पुरूष एकतरफा मन बनाने लगे हैं। अब यह मन किसकी झोली में वोट बनकर गिरते हैं। यह भविष्य में साफ हो जाएगा।

पार्षद ने खड़ी की विधायक की मुश्किलें

एमपी में इन दिनों आडियो—वीडियो की राजनीति चल रही है। यह साल राजनीतिक लिहाज से खास है। इसलिए हर आवाज के बाद सरकार जाग जाती है। पिछले दिनों सीधी के पेशाब कांड से भाजपा की जमकर किरकिरी हुई। एमपी के सीएम ने पीड़ित को बंगले बुलाकर उसके पैर पखारकर सरकार विरोधी लहर को थामने के लिए पूरी कोशिश की। हालांकि वह बात अलग है कि उससे ज्यादा असर नहीं हुआ। कुछ सरकार के समर्थन में सोशल मीडिया और मैन स्ट्रीम मीडिया में भी लहर चलाई गई। लेकिन, घटना को लेकर पनपा नाराजगी का पारा कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। यह मामला ठंडा होता तभी इंदौर और ग्वालियर की दो घटनाओं ने फिर सरकार की परेशानियां बढ़ा दी। अब ताजा आडियो बैरसिया के विधायक विष्णु खत्री (MLA Vishnu Khatri) के समर्थक पार्षद का बंट रहा है। जिसमें वह एक मतदाता को यह बोलकर गाली—गलौज करते हुए धमका रहे है कि वह उसके एक वोट देने से नहीं जीता है। पीड़ित का आवेदन पुलिस थाने में लटका हुआ है।

थाना प्रभारी कुछ नहीं कर सकते

MP Political Gossip
सांकेतिक चित्र टीसीआई

आवेदन में पूरे आडियो के साथ घटनाक्रम का ब्यौरा भी है। मामला लेन—देन का है जिसे पार्षद धमका रहे हैं उससे पैसा लेना है। इसी बात को लेकर बवाल मचा और वह कई दिनों से वायरल हो रहा है। वहीं पीड़ित के आवेदन पर थाना प्रभारी निर्णय नहीं ले पा रहे। उसकी वजह यह है कि उनकी तारीफ भोपाल की सांसद भी कर चुकी है। मामले को तूल पकड़ना होता तो वह कुछ घंटों में सरकार के पास चला जाता है। यह बात अलग है कि भीतर ही भीतर पार्षद को संगठन ने अपने स्तर पर जरूर तान दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: पतंजलि स्टोर का चोरों ने तोड़ा ताला 

पूर्व मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करना छोड़कर अपना इस्तीफा सौंप दिया

पिछले दिनों बालाघाट के पूर्व मंत्री गोरी शंकर बिसेन (Gauri Shankar Bisen) का वीडियो जमकर वायरल हुआ। वे भाजपा (MP Political Gossip) के एक कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चियों के शरीर को कुछ गलत तरीके से स्पर्श करते दिख रहे हैं। इस मामले ने काफी तूल पकड़ा लेकिन, उनके खिलाफ कोई कार्रवाई थाने में नहीं की गई। जबकि गुलाबी गैंग (Gulabi Gang) इस मामले को लेकर लगातार पूर्व मंत्री की घेराबंदी कर रही है। इसके लिए छिंदवाड़ा और भोपाल में विरोध किया जा चुका है। लेकिन, जब हमने पूछा कि यह प्रदर्शन बालाघाट में क्यों नहीं किया गया। तब पता चला कि वहां गुलाबी गैंग की जो जिला अध्यक्ष थी वह भाजपा की नेता थी। जब उनसे पूर्व मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन के लिए बोला गया तो वह अपना इस्तीफा देकर ही चली गई। इसलिए गुलाबी गैंग की कमांडर को मुखर होकर मोर्चा संभालना पड़ रहा है।

भरी विधानसभा सत्र में हुजूर की किरकिरी

मध्यप्रदेश की राजनीति में रामेश्वर शर्मा (BJP MLA Rameshwar Sharma) नाम अपनी पहचान के लिए मोहताज नहीं हैं। उनके इस बार निर्वाचन के दौरान कांटे का मुकाबला कोलार तक चला था। कोलार के बाद पूरा मामला ही बदल गया था। बात कोलार (Kolar) की हो रही है तो उसी कोलार इलाके में उनकी काफी किरकिरी हो रही है। दरअसल, सोशल मीडिया में एक नाबालिग दिखने वाला चेहरा बहुत बड़े छुरे के साथ है। उसने अपना बकायदा स्टेट्स भी डाल रखा है। जिसमें उसकी तस्वीर के दाहिनी तरफ विधायक की तस्वीर लगी है। यह तस्वीर कैसे कहां लगी है इसकी सफाई वह जरूर देंगे। लेकिन, बुधवार को यह पूरा घटनाक्रम सोशल मीडिया की सुर्खियों में रहा। उस वक्त एमपी विधानसभा का सत्र शुरू भी हुआ था। वीडियो में चाकू दिखाने वाला शख्स बेल्ट से पीटते हुए भी दिख रहा है। हमें लगता है कि यह देखने के बाद पूर्व प्रोटेम स्पीकर की तरफ से बहुत जल्द सफाई आने वाली है।

कौन कहता है नहीं दिखे, गली—गली तो दिख रहे हैं

MP Political Gossip
सांकेतिक चित्र टीसीआई

यहां बात एमपी सरकार में मंत्री विश्वास सारंग (Mantri Vishwas Sarang) की हो रही है। उन्होंने पिछले दिनों धार्मिक आयोजन करके खूब वाहवाही लूटी। इससे पहले वे सुभाष नगर आरओबी निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारी को फटकारते हुए भी दिख गए थे। भोपाल टॉकीज और चेतक ब्रिज को चौड़ा करने के मामले को भी वह बताते नहीं थकते। यह सब वह इवेंट हैं जो जनमानस के पटल पर बार—बार बोलकर रटा दिए गए हैं। फिर भी इस साल चुनाव होना है इसलिए खतरा मोल लिया नहीं जा सकता। इसका तोड़ नरेला विधानसभा के लिए स्पेशल उन्होंने निकाला। उन्होंने जहां—जहां अपने इस कार्यकाल के दौरान जो—जो काम कराए उसके बोर्ड़ लगा दिए हैं। ऐसे में विपक्ष को उन्हें घेरने का मौका ही नहीं मिलेगा। वहीं आम मतदाता को घर के बाहर निकलते ही अपने क्षेत्र के नेता की तस्वीर दिख जाएगी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Murder News: अवैध संबंध उजागर होने का था भय, गला घोंटा 

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Political Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!