ICICI Bank Gold Loan Fraud: गोल्ड लोन के नाम पर फर्जीवाड़ा

Share

ICICI Bank Gold Loan Fraud: क्राइम ब्रांच ने साढ़े चार करोड़ रुपए से अधिक के फर्जीवाड़े मामले में चार बैंक अधिकारियों समेत 17 लोगों के खिलाफ दर्ज किया प्रकरण

ICICI Bank Gold Loan Fraud
ग्राफिक्स डिजाईन टीसीआई

भोपाल। आईसीआईसीआई बैंक के भीतर चल रहे गोल्ड लोन फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है। यह सनसनीखेज पर्दाफाश आईसीआईसीआई (ICICI Bank Gold Loan Fraud) अफसरों के आवेदन पर किया गया है। जिसमें आरोपी चार बैंक अधिकारी समेत 17 लोग है। मामले की जांच भोपाल शहर के क्राइम ब्रांच की तरफ से की जा रही थी। इस मामले की शुरुआती जांच कोलार रोड थाना पुलिसने कीथी। प्रकरण में जब करोड़ों रुपए की जानकारी सामने आई तो पुलिस ​कमिश्नर हरि​नारायण चारी मिश्र को बताया गया। जिसके बाद आगे की जांच क्राइम ब्रांच को करनी पड़ी। पुलिस ने 17 में से चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में ग्राहक, सुनार और बैंक कर्मचारी भी शामिल है।

तीन दर्जन खातों में ट्रांसफर हुई थी रकम

भोपाल पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसारइस मामले में 06/24 धारा 409/420/120-बी (गबन, जालसाजी और साजिश के तहत प्रकरण) दर्ज किया गया था। जिसमें सोने का मूल्यांकन करने वाले सुनारों की भी मिलीभगत सामने आई। जांच टीम में डीसीपी क्राइम श्रुतकीर्ति सोमवंशी और एडीसीपी शैलेन्द्र सिंह चौहान, एसीपी मुख्तार कुरैशी की अगुवाई में टीम बनी थी। इस संबंध में आईसीआईसीआई बैंक रीजनल हेड कंचन राजदेव (Kanchan Rajdev) और एरिया मैनेजर भानु उमरे (Bhanu Umre) ने कोलार रोड थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें बताया गया था कि कोलार रोड स्थित ब्रांच में आकस्मिक निरीक्षण/आडिट में फर्जीवाड़ा पाया गया है। शाखा में बैंक अधिकारियों/कर्मचारियों तथा स्वर्ण का मूल्यांकन करने वाले अधिकृत सुनारों (एवरेजर) की मिली भगत से संदिग्ध ग्राहकों के जरिए नकली सोना गिरवी रखकर करोडों रुपए का गोल्ड लोन लिया गया। यह रकम लगभग साढ़े चार करोड़ रूपये की थी। पहले जांच उनि मनोज रावत (SI Manoj Rawat) ने की थी। करोड़ों का घोटाला पाया जाने पर पुलिस कमिश्नर को इस बात की जानकारी दी गई। साजिश में कोलार शाखा के चार अधिकारी/कर्मचारी सहित स्वर्ण का मूल्यांकन करने वाले अधिकृत तीन सुनारों (एवरेजर) ने 10 ग्राहकों के 36 खातों में नकली सोना (फेक गोल्ड) गिरवी रखकर बैंक से लोन लिया था।

एक व्यक्ति को आधा दर्जन लोन मंजूर

क्राइम ब्रांच (Crime Branch) को जांच में पता चला कि 22 खाते ऐसे है, जिनमें नकली सोना गिरवी रखा गया। जबकि 14 खाते ऐसे है जिनमें बिना सोना गिरवी रखे गोल्ड लोन (ICICI Bank Gold Loan Fraud) मंजूर कर दिया गया। यह रकम लेकर आरोपी बाजार में सूदखोरी कर रहे थे। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें लगातार धरपकड़ में लगाई गई है। आरोपियों में शामिल सेल्स मैंनेजर सौरभ खरे (Saurabh Khare) और रिलेशन शिप मैनेजर पवन सेन (Pawan Sen) ग्राहक लाते थे। उनके बैंक में गिरवी रखने वाले गोल्ड की जाॅच बैंक के अधिकृत सुनारों (एवरेजर) राम कृष्ण, राकेश सोनी और जगदीश कुमार सोनी (Jagdish Kumar Soni) करते थे। जिनसे रिपोर्ट लेकर नकली और कम कैरेट के गोल्ड को अधिक प्रमाणित किया जाता था। इसके बाद बैंक मैंनेजर अमित पीटर (Amit Peeter) तथा डिप्टी मैंनेजर दीक्षा मीणा (Diksha Meena) की मिलीभगत से गोल्ड लोन मंजूर होता था। आरोपियों ने एक ग्राहक को आधा दर्जन से अधिक लोन मंजूर किए हैं। पहला आरोपी अमित पीटर पिता स्व.सी पीटर उम्र 42 साल है। वह जबलपुर में थियेटर रोड, इस्ट छाया, केन्ट सदर लेव, कंम्पाउन्ढ में रहता है। अमित पीटर ब्रांच मैनेजर का काम करता है।

यह है वह आरोपी जिन्होंने साजिश रची

ICICI Bank Gold Loan Fraud
सांकेतिक फोटो

दूसरी आरोपी दीक्षा मीणा पुत्री श्यामसिंह मीणा उम्र 29 साल है। वह भोपाल के अयोध्या नगर स्थित एमआईजी कॉलोनी (MIG Colony) में रहती है। दीक्षा मीणा ब्रांच मैनेजर हैं। तीसरा आरोपी सौरभ खरे पिता सतीश चंन्द्र खरे उम्र 35 साल है। वह रातीबड़ स्थित नीलबड़ के नजदीक भावना परिसर (Bhawna Parisar) में रहता है। चौथा आरोपी पवन सेन पिता शिवकरण सेन उम्र 35 साल है। वह कोलार रोड स्थित गणपति इन्क्लेव (ganpati Enclave) में रहता है। इसी तरह पांचवा आरोपी राम कृष्ण पिता कल्याण सिंह राजपूत उम्र 28 साल है। वह रायसेन जिले के बरेली थाना क्षेत्र स्थित ग्राम खैरी प्रताप सिंह में रहता है। फिलहाल किराए से वह कोलार के राजहर्ष कॉलोनी में अभी रहता है। छठवां आरोपी राकेश सोनी (Rakesh Soni) पिता गोपीकिशन सोनी उम्र 54 साल को बनाया गया है। वह हनुमानगंज स्थित अखाडा के सामने, इब्राहिमगंज में रहता है। सातवां आरोपी जगदीश कुमार सोनी पिता शिवप्रसाद सोनी उम्र 55 साल है। वह स्टेशन बजरिया थाना क्षेत्र स्थित जैन धर्मशाला के पास, शंकराचार्य नगर (Shankracharya Nagar) में रहता है। उक्त तीनों आरोपी सोने की कीमतों का मूल्यांकन करके रिपोर्ट देते थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Loan Fraud: फर्जी तरीके से सिंडिकेट बैंक से लोन हुआ जारी 

फर्जी तरीके से लोन लेने वाले तीन ग्राहक

ICICI Bank Gold Loan Fraud
क्राइम ब्रांच थाना— जिला भोपाल— फाइल फोटो।

क्राइम ब्रांच ने आठवां आरोपी मोहम्मद उमर फारुख खान (Umar Farukh Khan) पिता रफत अजीज खान उम्र 36 साल को बनाया है। वह निशातपुरा थाना क्षेत्र के हाउसिंग बोर्ड कालोनी में रहता है। वहीं नौवा आरोपी शोभित कुमार जैन (Shobhit Kumar Jain) पिता स्वर्गीय शोभालाल जैन उम्र 31 साल है। वह छतरपुर जिले के बडा धुवारा में स्थित जैन मंदिर के पास रहता है। दसवां आरोपी हिमांशु मालवीय (Himanshu Malviya) पिता राधेश्याम मालवीय उम्र 22 साल है। वह रायसेन जिले के औबेदुल्लागंज में स्थित पीडब्ल्यूडी कॉलोनी वार्ड—2 में रहता है। पुलिस ने ग्यारहवां आरोपी अक्षय कुमार जैन (Akshay Kumar Jain) पिता महेश कुमार जैन उम्र 28 साल को बनाया है। वह भी छतरपुर के ग्राम छुवारावार्ड—5 में रहता है। इसके अलावा बारहवां आरोपी करण सिंह (Karan Singh) पिता शंकर लाल सिंह जाटव उम्र 34 साल है। वह एमपी नगर में चेतक ब्रिज के पास, शिक्षा मंडल के नजदीक रहता है। क्राइम ब्रांच ने तेरहवां आरोपी शक्ति सिंह तोमर (Shakti Singh Tomar) पिता सरदार सिंह तोमर उम्र 27 साल को बनाया है। विदिशा जिले के बरेठ में रहता है। चौदहवां आरोपी मीना शर्मा (Meena Sharma) पति संतोषीलाल शर्मा है। उसका पता बारह बीघा कालोनी, विनय नगर-4, कोठेश्वर ग्वालियर आया है। इसी तरह अंकित श्रीवास्तव (Ankit Shrivastav) पिता स्व.रविन्द्र कुमार श्रीवास्तव उम्र 35 साल को भी आरोपी बनाया गया। वह भोपाल शहर के अयोध्या नगर स्थित एचआईजी कॉलोनी के—सेक्टर में रहता है। सोलहवां आरोपी रवि गुप्ता (Ravi Gupta) पिता कौशल प्रसाद गुप्ता उम्र 28 साल है। वह सीधी जिले के ग्राम देवा, पोस्ट टिंगवाह, तहसील उस्मी चिंगवा मझोली में रहता है। सत्रहवां आरोपी अरुण शर्मा (Arun Sharma) पिता संतोषीलाल शर्मा है। वह मिसरोद स्थित फ्लाॅवर सिटी (Flower City) के पास रहता है। आरोपियों के पते अभी पुलिस की टीम तस्दीक कर रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: मेडिकल शॉप के नौकर ने फांसी लगाई

खबर के लिए ऐसे जुड़े

ICICI Bank Gold Loan Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!