PM Housing Scam: पीएम आवास योजना भ्रष्टाचार मामले में चार अफसर गिरफ्तार

Share

PM Housing Scam: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सात महीने पहले उप चुनाव प्रचार के वक्त मंच से किया था निलंबित

PM Housing Scam
सांकेतिक ग्राफिक डिजाईन टीसीआई।

निवाड़ी। प्रधानमंत्री आवास योजना में हुए भ्रष्टाचार (PM Housing Scam) मामले में चार अफसरों की गिर​फ्तारी की गई है। इसमें दो मुख्य नगर पालिका अधिकारी और दो उप यंत्री है। गिरफ्तारी आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ ने की है। यह मामला मध्यप्रदेश के निवाड़ी जिले का है। भ्रष्टाचार का मामला उस वक्त सुर्खियों में आया था जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पृथ्वीपुर विधानसभा के उप चुनाव के दौरान प्रचार करने पहुंचे थे। उन्होंने मंच से ही एक मुख्य नगर पालिका अफसर और एक उपयंत्री को निलंबित करने का ऐलान कर दिया था। जिसके बाद जांच की जिम्मेदारी आर्थिक प्रकोष्ठ विंग को सौंपी गई थी।

मुख्यमंत्री ने कहा था गड़बड़ी करने वालों को नहीं छोड़ूंगा

जानकारी के अनुसार जांच की यह जिम्मेदारी जबलपुर ईओडब्ल्यू इकाई के पास थी। इससे पहले शुरुआती जांच सागर इकाई ने की थी। इस मामले में ईओडब्ल्यू ने 13 आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण समेत अन्य धारा में प्रकरण दर्ज किया है। जिसके बाद जेरोन खालसा नगर परिषद के तत्कालीन मुख्य नगर पालिका अधिकारी उमाशंकर मिश्रा, नवाब सिंह, उपयंत्री सृजन गुप्ता और अभिषेक सिंह राजपूत को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों को टीकमगढ़ स्थित जिला अदालत में पेश किया गया। इस कार्रवाई की पुष्टि ईओडब्ल्यू निरीक्षक स्वर्ण सिंह धामी ने की है। मंच में भाषण देते वक्त मुख्यमंत्री ने कहा कि वे डंडा लेकर निकले हैं और गड़बड़ी करने वाले को नहीं छोड़ेंगे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

PM Housing Scam
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: लापता युवक की पेड़ पर लटकी मिली लाश
Don`t copy text!