MP Cop News: खौफ फैलाने के लिए फोर्स की आवश्यकता, लेकिन सीएम को बताए कौन

Share

MP Cop News: थानों में पुलिस कर्मियों की भारी कमी, जुगाड़ से महिला अपराधों की करनी पड़ रही एफआईआर, सड़कों पर नहीं दिखती पुलिस

MP Cop News
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री- File Photo

भोपाल। एमपी में इस साल विधानसभा चुनाव है। इस कारण प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) हर विभाग को फोकस कर रहे हैं। इसी दौरान उन्हें पता चला कि चार साल पहले कांग्रेस सरकार ने एमपी पुलिस (MP Cop News) हेल्थ स्कीम बंद कर दी थी। यह उन्हें भी नहीं पता था। अब जब उन्हें पता चला तो पांच साल के लिए उसे फिर अनिवार्य कर दी गई। मुख्यमंत्री ने यह बात कानून—व्यवस्था की समीक्षा के दौरान हुई बातचीत में बोली। ऐसा मीडिया रिपोर्ट में सामने आया है। उन्होंने गुंडों—बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई करने और पुलिस का खौफ उनमें दिखने के लिए कहा। हालांकि इस दौरान कौई भी अधिकारी यह नहीं बोला कि थानों में पर्याप्त स्टाफ नहीं हैं।

कार्यालयों में अटैच महिला अधिकारियों को मैदान पर उतारने की आवश्यकता

एमपी में इस साल विधानसभा चुनाव होना है। जिसमें कई पोलिंग बूथों को लेकर रिपोर्ट कार्ड बनाने का भी काम चल रहा है। यह काम मैदानी कर्मचारियों से ही कराया जाता है। इसके अलावा उन्हें दर्ज होने वाली एफआईआर भी देखनी होती है। इसके अलावा पूर्व की जांच पर बयान और केस में कोर्ट हाजिर होकर गवाही भी देना होती है। वहीं चुनावी साल है तो वी​आईपी ड्यूटी, धरना—प्रदर्शन का भार अतिरिक्त होता है। इन सबके बीच सबसे बड़ी समस्या मैदानी कर्मचारियों की है। भोपाल शहर के ही कई थानों में महिला अधिकारियों की भारी कमी है। जुगाड़ से कई थानों में महिला अपराधों की विवेचना की जा रही है। पुलिस सूत्रों की माने तो कुछ महिला अधिकारी जुगाड़ के जरिए मैदान में होने के बावजूद कार्यालयों में अटैच हैं। जिस पर आला अधिकारी भी मौन हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft Case: नौकर के ऐसे बने हालात कि उसको चुराने पड़े 400 सौ रुपए
Don`t copy text!