BJP Farmer Convention : बीजेपी का फाइव-स्टार किसान सम्मेलन

Share

BJP Farmer Convention : बस से लाए गए किसान, नाश्ते पानी का भी था इंतज़ाम

BJP Farmer Convention
किसान सम्मेलन में शिवराज 

भोपाल। भाजपा नए कृषि कानूनों को लेकर डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraaj Singh Chauhan) की अगुवाई में सरकार 15 और 16 दिसंबर को प्रदेशभर में किसान सम्मेलन (BJP Farmer Convention) आयोजित करा रही है। इसी कड़ी में आज राजधानी भोपाल में किसान सम्मेलन था। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज और कृषि मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) समेत सरकार के कई अन्य मंत्री मौजूद थे। शिवराज सिंह चौहान ने ने कृषि कानून के फायदे गिनाते हुए विपक्ष पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया।

नए कृषि कानूनों का समर्थन

सम्मेलन भोपाल के भेल दशहरा मैदान पर था। जिसमें भोपाल और नर्मदा पुरम संभाग के किसान लाए गए थे। किसानों के आने-जाने और खाने-पीने की पूरी व्यवस्था की गई थी। प्रदेशभर के सात अलग-अलग संभागों में मंगलवार और बुधवार को ऐसे ही किसान सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। सम्मेलन का आयोजन नए कृषि कानूनों का समर्थन जुटाने के लिए किया जाएगा। भोपाल सम्मेलन में मौजूद सभी किसान कानूनों का समर्थन कर भी रहे थे। हालांकि उनके हाव-भाव से साफ समझ में आ रहा था कि किस तरह से उन्हें ऐसा बोलने की ट्रेनिंग दी गई थी।

नही पता किसलिए है आयोजन

सम्मेलन में कुछ किसान ऐसे भी मौजूद थे जिन्हें हैं नहीं पता था कि यह आयोजन किस लिए है। कुछ ने कहा वह शिवराज को सुनने आए हैं। कुछ ने कहा कि उन्हें किसानों की रैली बताकर लाया गया है। और कुछ को तो यह भी नहीं मालूम था कि ऐसा कोई कानून भी सरकार लेकर आई है। लेकिन वहां मौजूद किसी भी किसान ने नए कृषि कानूनों का विरोध नहीं किया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Eye: कैमरा आपका पर निगरानी करेगी पुलिस

किसान हमारे भगवान हैं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने संबोधन में कहा कि किसान हमारे भगवान हैं। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून किसान की आमदनी बढ़ाने वाले हैं। उन्होंने साफ किया कि प्रदेश में कोई भी मंडी बंद नहीं होगी। साथ ही उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर आरोप लगाया कि वह किसानों के बीच अफवाह फैला रही हैं। सम्मेलन में आए किसान भाजपा के लिए संजीवनी बन पाएंगे यह भविष्य में पता चल सकेगा। लेकिन, आज सम्मेलन में आए हुए जिन किसानों से बात हुई उनके इशारे गलत दिशा की तरफ इशारा कर रहे हैं। भारी सरकारी विज्ञापन कब तक आवाज को दबा सकेंगे यह भी जल्द पता चल जायेगा।

यह भी पढ़ें – दिल्ली का यह एसीपी जिसके कारनामे जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!