Bhopal Property Fraud: छह महीने की जांच के बाद केस दर्ज

Share

Bhopal Property Fraud: किसान के पास पहुंचने लगे खरीददार तो पैरों तले जमीन खिसक गई

Bhopal Property Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। किसान की जमीन को फर्जी (Bhopal Property Fraud) तरीके से बेचने का एक मामला सामने आया है। यह घटना भोपाल के रातीबड़ इलाके की है। जिसकी जांच पुलिस छह महीने से कर रही थी। पुलिस ने इस मामले में फिलहाल नामजद व्यक्ति को आरोपी नहीं बनाया है। हालांकि प्राथमिक पड़ताल में बिलखिरिया में रहने वाले एक व्यक्ति की जानकारी मिल रही है।

दस साल बाद पता चला राज

रातीबड़ थाना पुलिस के अनुसार 04 अप्रैल की शाम लगभग छह बजे 162/22 धारा 467/468 (दस्तावेजों की कूटरचना कर उसका इस्तेमाल करने) का मामला दर्ज किया गया है। जिसकी शिकायत अक्टूबर, 2020 में आमला निवासी देवीराम सिसोदिया पिता हरचंद सिसोदिया उम्र 55 साल ने दर्ज कराई है। उसकी गांव में साढ़े आठ एकड़ जमीन है। जिसको खरीदने के लिए ग्राहक उसके पास आए थे। तब देवीराम सिसोदिया (Deviram Sisodiya) को पता चला कि उसकी जमीन की नकली बही बन गई। वह हासिल करने के बाद वह चाचा सामत सिंह (Samat Singh) और उनके बेटे चैन सिंह (Chain Singh) को लेकर पुलिस के पास पहुंचा। पुलिस ने बही के संबंध में तहसील कार्यालय से रिपोर्ट मांगी गई। जिसमें बताया गया कि उनके कार्यालय से बही जारी ही नहीं की गई। नकली बही 2012 में बनी थी जिसको बिलखिरिया निवासी हरचंद (Harchand) ने बनाया है। पुलिस इस नाम के व्यक्ति की अभी तलाश कर रही है।

नेपाली लड़की की दीवानगी की कहानी पढ़िए जिसमें वह अपने दो मासूम बच्चों को छोड़कर भोपाल में लड़की से शादी करने शिमला से भागकर आई

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दो अस्पतालों के एक मालिक नहीं बचा सका किसान के बेटे की जान

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Property Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!