Bhopal News: डबल इंजन सरकार की खुल रही पोल

Share

Bhopal News: मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव मरीजों को अस्पताल पहुंचाने के लिए एयर एम्बुलेंस के विज्ञापनों पर करोड़ों रुपए का पैसा बहा रहे हैं, भोपाल एम्स अस्पताल में शव रखने के लिए फ्रीजर एक महीने से पड़ा हुआ है खराब, जिम्मेदारों से प्रति​क्रिया मांगी तो अवकाश का हवाला देकर पल्ला झाड़ा, बदबू वाली लाश लेकर पुलिस इस अस्पताल से उस अस्पताल भटकती रही, यह है भोपाल पुलिस की बुरी हालत, कैबिन में बैठे अफसरों को मैदानी कर्मचारियों की नहीं रहती भनक

Bhopal News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश में मेडिकल माफिया के आप किस्से मीडिया में पढ़ ही रहे होंगे। पहले व्यापमं घोटाला जिसमें पीएमटी की परीक्षा पास करके फर्जी डॉक्टर बन रहे थे। ताजा नर्सिग घोटाला तो फिर नीट प्रवेश परीक्षा घोटाला। मैन स्ट्रीम मीडिया में यह सबकुछ एक पखवाड़े से छाया हुआ है। केंद्र में भाजपा और एमपी में उसी पार्टी की सरकार है। यानि डबल इंजन, हर काम दुगनी रफ्तार पर चलना चाहिए। लेकिन, हकीकत इससे परे हैं। भोपाल एम्स अस्पताल में शव को सुरक्षित रखने वाला फ्रीजर पिछले एक महीने से खराब पड़ा हुआ है। इस समस्या (Bhopal News) को लेकर द क्राइम इंफो एक पखवाड़े पहले भी रिपोर्ट दे चुका है। तब तीन दिन में इसका समाधान करने का दावा किया गया था।

बदबू वाले शव को लेकर परेशान होती रही पुलिस, हर दिन होता है विवाद

मिसरोद (Misrod) थाना क्षेत्र स्थित जाटखेड़ी में फारच्यून कस्तूरी मल्टी (Fortune Kasturi Multi) है। इसमें अमनदीप सिंह (Amandeep Singh) पिता बलवंत सिंह उम्र 32 साल किराए से रहता था। वह मूलत: छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले का रहने वाला था। यहां भोपाल में रहकर वह प्रॉपर्टी डीलिंग (Property Dealing) का काम करता था। वह काफी दिनों से कमरे से बाहर भी नहीं आया था। जब लोगों ने उसके फ्लैट के नजदीक जाकर पता लगाना चाहा तो दुर्गंध आ रही थी। इसलिए कॉलोनी में आने वाले किराएदारों का हिसाब रखने वाले नारायण सिंह मालवीय ने मिसरोद थाना पुलिस को फोन घुमा दिया। वहां से पुलिस आई और दरवाजा को तोड़ा गया। अमन दीप सिंह बिस्तर पर मृत हालत में पड़ा हुआ था। उसके शरीर पर कीड़े लग गए थे और काफी दुर्गध उससे आ रही थी। मिसरोद पुलिस मर्ग 45/24 दर्ज कर उसे पीएम केे लिए भोपाल एम्स अस्पताल में भेज दिया। पुलिस ने उसके मौत की सूचना बलवंत सिंह(Balwant Singh)  को दी। वे छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में रहते हैं और वे भी प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि अभी सीधे ट्रेन नहीं हैं और दूसरे साधनों से आने पर उन्हें कम से कम एक दिन लगेगा। इसलिए तब तक शव को सुरक्षित रख दिया जाए। शव को भोपाल एम्स (Bhopal AIIMS Hospital) में सुरक्षित रखने के लिए मॉर्चुरी (Mortuary) में पुलिस ने संपर्क किया तो बताया गया कि वह एक महीने से खराब पड़ा हुआ है। इसके बाद मिसरोद पुलिस उस दुर्गंध मार रहे शव को वापस वाहन में लोड करके हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) लेकर पहुंची। यह अवस्था अमूमन हर दूसरे—तीसरे दिन भोपाल एम्स अस्पताल में बनती है।

जिसको फोन लगाया वह बोला मैं तो छुट्टी पर हूं

भोपाल एम्स अस्पताल की मॉर्चुरी का फ्रीजर बहुत अरसे से खराब पड़ा है। यहां काफी संख्या में आस—पास जिलों से भी इलाज करने पर मृत्यु होने के बाद सुरक्षित रखे जाते हैं। इसके अलावा सभी केंद्रीय संस्थानों के गंभीर मामले भी यहां भोपाल एम्स पहुंचते हैं। यहां मॉर्चुरी में शव रखने को लेकर कई दिनों से विवाद की स्थिति बन रही है। सूत्रों ने बताया कि फ्रीजर में तकनीकी समस्या है जिसके एक्सपर्ट दिल्ली से ही आकर उसे ठीक कर सकते हैं। जब जनता से जुड़े इस संवेदनशील मुद्दे पर जनसंपर्क अधिकारी केडी शुक्ला (KD Shukla) से प्रतिक्रिया मांगी तो वे कहने लगे कि मैं अवकाश पर हूं। जबकि उन्होंने ही 10 जून को द क्राइम इंफो में प्रकाशित समाचार में तीन दिन के भीतर में समस्या को सुलझाने का दावा किया था। इसके बाद भोपाल एम्स के डॉक्टर केवल पंडित (Dr kewal Pandit) से चर्चा की गई। उन्होंने भी आधिकारिक प्रतिक्रिया देने से इंकार करते हुए बोला कि वे अभी अवकाश पर हैं। उनकी जगह कोई महिला चिकित्सक का नाम और नंबर देने का बोलकर उन्होंने फोन काट दिया। इससे साफ है कि भोपाल में सांसद भाजपा का, मेयर भाजपा का, मुख्यमंत्री भाजपा का यहां तो ठीक है केंद्र में प्रधानमंत्री भी भाजपा का। इस कारण भोपाल एम्स में पीड़ित कई लोग यह जुमला बोलकर सिस्टम का मजाक उड़ा रहे हैं ‘यह है गारंटी’। बहरहाल हमारी तरफ से यह समाचार प्रकाशन करने का ही अधिकार है। आगे इस समस्या पर हमारी नजर टिकी रहेगी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: युवक समेत 3 लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत
Don`t copy text!