Podar School Raid: पोद्दार इंटरनेशनल स्कूल पर छापा

Share

Podar School Raid: सीबीएसई पैटर्न पर चलने वाला स्कूल बच्चों को महंगी किताबें खरीदने के लिए कर रहा था मजबूर, निरीक्षण के बाद थाने में ​जिला शिक्षा अधिकारी ने दर्ज कराई एफआईआर, कलेक्टर के आदेशों की अवहेलना का मामला दर्ज

Podar School Raid
पोद्दार स्कूल में कार्रवाई के दौरान प्रशासन की टीम।

भोपाल। एमपी में इस साल विधानसभा चुनाव है। इस कारण प्रदेश की शिक्षा नीति को लेकर सरकार एक्शन में हैं। इसके लिए एमपी में सीएम राईज स्कूल से लेकर कई प्रयोग किए जा रहे हैं। क्योंकि शिक्षा और चिकित्सा जगत को लेकर मध्यप्रदेश में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने सरकार की घेराबंदी पहले ही शुरू कर दी है। इन्हीं कारणों के चलते पिछले दिनों निजी स्कूलों (Podar School Raid) को कई जिलों के कलेक्टर ने प्रकाशकों को लेकर अपनी स्थिति सूचना पटल पर साफ करने के निर्देश दिए थे। जिसकी जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी के जरिए प्रशासन को भी देना थी। ऐसा कई स्कूल नहीं कर रहे हैं। जिसकी शिकायत मिलने पर मंगलवार को  भोपाल के अयोध्या बायपास स्थित पोद्दार स्कूल पर छापा मारा गया।

इसलिए मारा गया छापा

छापामार की कार्रवाई में भोपाल जिला प्रशासन के अलावा स्कूल शिक्षा विभाग की संयुक्त टीम शामिल हुई थी। पोद्दार स्कूल (Podar School) अयोध्या बायपास पर है। उसके यहां छापा मारने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना (Nitin Saxena) ने छोला मंदिर थाने में जाकर 144/23 धारा 188 (कलेक्टर के आदेशों की अवहेलना का मामला) दर्ज कराया गया। जिसमें आरोपी अंकित जैन (Ankit Jain) को बनाया गया है। गोविंदपुरा अनुविभागीय अधिकारी मनोज वर्मा (Manoj Verma) ने बताया जिला कलेक्टर से आदेश क्रमांक 1512/अजिद/2023 भोपाल 15/2/2023 जारी किया गया था। जिसके अनुसार गोविंदपुरा क्षेत्र अंतर्गत अयोध्या बायपास स्थित पोद्दार इंटरनेशनल स्कूल (Podar International School) को जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना के साथ जाकर चेक किया गया। यहां स्कूल प्रबंधन ने तीन बिंदुओं की जानकारी सूचना पटल पर सार्वजनिक नहीं की थी। दरअसल, इसमें शिक्षा सत्र प्रारंभ होने के पूर्व एवं वर्तमान में लेखक एवं प्रकाशक के नाम तथा मूल्य के साथ कक्षा के अनुसार पुस्तकों की सूची सार्वजनिक करनी थी।

इसलिए इन्हें बनाया गया आरोपी

Podar School Raid
पोद्दार स्कूल में कार्रवाई के दौरान प्रशासन की टीम।

इस संबंध में कई अभिभावकों ने पुस्तकों को लेकर शिकायत की थी। स्कूल की पुस्तकें और किताबे केवल एक ही दुकान अरुणा सेल्स (Aruna Sales) जेके रोड पर मिल रही थी। इसके अलावा अन्य किसी जगह पर यह किताबें नहीं मिल रही थी। इसके अलावा स्कूल (Podar School Raid) की यूनिफॉर्म भी एक ही जगह से खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा था। अंकित जैन स्कूल में किताब सप्लाई करने वाले प्रकाशक हैं। मौके पर राजस्व निरीक्षक जगदीश पटेल (Jagdish Patel) और पटवारी विमलेश गुप्ता (Vimlesh Gupta) समेत अन्य ने पंचनामा बनाया। एसीपी रिचा जैन (ACP Richa Jain) ने बताया कि स्कूल के प्रशासक को नोटिस जारी किया जा रहा है। जिसमें उसे कोर्ट में प्रस्तुत होना पड़ेगा। जिस धारा में कार्रवाई की गई है उसमें सजा और जुर्माना दोनों का प्रावधान है।

यह भी पढ़ें:   MP By Election : भाजपा जीत को लेकर आश्वस्त नहीं, आशंकित

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Political Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!