World Crime: India’s Most Wanted की आवाज सुनने को तरस गई Agencies

Share

पाकिस्तान में छुपा अंडरवर्ल्ड का ऐसा कुख्यात बदमाश जो डर के मारे मोबाइल फोन को हाथ भी नहीं लगाता

India's Most Wanted
भारत का मोस्ट वांटेड आतंकी दाउद इब्राहिम

दिल्ली। आपने डी कंपनी (D Company) का नाम तो सुना ही होगा। इस कंपनी का मुखिया है अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम (Under World Don Daud Ibrahim)। दाउद इब्राहिम एक जमाने में फिल्म निर्माता, कलाकारों और बिल्डरों से जबरन उगाही करता था। आज वही बॉलीवुड उसके नाम पर फिल्म बनाकर करोड़ों रुपए कमा चुका है। भारत का मोस्ट वांटेड (#India’S Most Wanted) यह बदमाश फिलहाल पाकिस्तान (Pakistan) की सरपर​स्ती में दुबका हुआ है। वह भारत से अभी इतना आतंकित है कि वह डर के मारे मोबाइल या फिर टेलीफोन को भी हाथ नहीं लगाता है। उसे भय है कि यदि उसने फोन छुआ तो वह भारत की नजर में आ जाएगा। इधर, भारत की सीबीआई (CBI), रॉ (Research Analysis Wing) समेत तमाम बड़ी सुरक्षा एजेंसियां उसकी आवाज सुनने को तरस रही है।

दाउद इब्राहिम मुंबई बम धमाकों (Mumbai Bomb Blast) के बाद सुर्खियों में आया था। इस धमाके में दर्जनों बेगुनाहों की मौत हुई थी। उसे वैश्विक आतंकी (Global Terrorist) की सूची में शामिल किया गया है। दाउद इब्राहिम (@Daud Ibrahim) को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (Inter-Services Intelligence) की पनाह मिली हुई है। इस बात के सबूत भारत ने दिए हैं। उसकी आखिरी बार 2016 में आवाज सुनी थी। उसके बाद से दाउद ने तकनीकी व्यवस्थाओं से दूरी बना ली है। बताया जाता है कि वह डॉन जो फोन लगाकर चमकाता था अब तीन साल से उसने फोन पर बातचीत ही नहीं की है। मीडिया रिपोर्ट की माने तो वह ​अभी भी पाकिस्तान में छुपा हुआ है।

यह भी पढ़ें:   Video : फिल्मी अंदाज में बदमाशों ने रोकी कार, युवक पर 17 गोलियां दागकर हुए फरार

छोटा शकील भी डरता है
दाउद इब्राहिम ने 15 मिनट 2016 में आखिरी बार बातचीत की थी। यह बातचीत भारतीय एजेंसियों को मिल गई थी। बातचीत जिस व्यक्ति से की गई थी वह दुबई (Dubai) में रहता है। उस वक्त यह बात पता चली थी कि वह दिल की बीमारी से ग्रसित हैं। हालांकि बाद में इसका खंडन किया गया था। दिल्ली (Delhi) के एक अफसर की माने तो दाउद अभी भी कराची में हैं। उसके साथ ही उसका खास छोटा शकील (Chhota Shakil) भी फोन रखने से ऐतराज करने लगा है।

यह भी पढ़ें: कौन था वह मंत्री जिसकी खबर दिखाने के बाद टारगेट पर आया न्यूज पेपर

दाउद की आवाज 2016 से पहले 2013 में रिकॉर्ड की गई थी। उस वक्त यह आवाज दिल्ली पुलिस के पूर्व कमिश्नर नीरज कुमार (IPS Neeraj Kumar) ने सुनी थी। वह आईपीएल मैच में जांच के लिए पाकिस्तानी कनेक्शन की पड़ताल कर रहे थे। नीरज कुमार कुख्यात बदमाश दाउद इब्राहिम को काफी करीब से अध्ययन कर चुके हैं। उन्होंने ही इकबाल मिर्ची के खिलाफ कई मामलों की जांच कराई थी।

Don`t copy text!