Bharat Jodo Yatra: आरएसएस देश में सांप्रदायिकता की राजनीति करती रही है: कन्हैया कुमार

Share

Bharat Jodo Yatra: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने वाशिंगटन जाकर जो बोला था वह बुरहानपुर में मुझे देखने नहीं मिला, दक्षिण से अब भाजपा शासित राज्य में ज्यादा सहयोग बुद्धिजीवियों का मिला, कांग्रेस से निकलकर कई नेता दूसरी पार्टी में मुख्यमंत्री बने, देश की सबसे पुरानी ने कई झंझावतों को देखा, महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी को मिटाने में नाकाम दो दशक से भाजपा की सरकारें अभी भी दिग्विजय सिंह को कोस रही

Bharat Jodo Yatra
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भारत जोड़ो यात्रा पर निकले राहुल गांधी से मुलाकात करते हुए। यह यात्रा इसी महीने मध्यप्रदेश में प्रवेश करने जा रही है। जिसकी तैयारियों को लेकर पार्टी सक्रिय है। तस्वीर पूर्व मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार पीयूष बबेले की तरफ से जारी। File Photo

भोपाल। कांग्रेस नेता राहुल गांधी बुरहानपुर के बाद खरगौन पहुंच गए। उनकी यात्रा के दूसरे दिन कन्हैया कुमार ने पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उनके साथ पूर्व सांसद जयराम रमेश भी थे। दोनों ही नेता ने मध्यप्रदेश (Bharat Jodo Yatra) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को निशाने पर लिया। उन्होंने प्रदेश की खराब सड़कों को कोसते हुए कहा कि अमेरिका में जाकर झूठी वाहवाही बटोरी। इसी तरह प्रदेश में किसानों की माली हालत काफी ज्यादा खराब है। इन बातों पर चर्चा करने की बजाय सिर्फ कांग्रेस को कोसने में फुर्सत नहीं है। दल बदलने को लेकर कन्हैया कुमार ने कहा कि यह पुरानी पार्टी है। कई कांग्रेसी नेता दूसरे दलों के जरिए मुख्यमंत्री भी बने। लेकिन, संगठन कभी भी कमजोर नहीं रहा।

नफरत फैलाने की राजनीतिक चेष्टा की जा रही

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने कहा कि भाजपा ने यात्रा को लेकर अक्सर हमला किया। यात्रा का थीम कन्याकुमारी से एमपी तक नहीं बदली। उत्तर—दक्षिण का भेद मिटाने में यात्रा सफल हुई है। इसी मकसद के साथ राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा शुरू की गई है। भारत में डर, महंगाई और बेरोजगारी पर बातचीत नहीं होती। बल्कि देश में मीडिया के जरिए नफरत और भेदभाव पर चर्चा कराई जा रही है। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के टी शर्ट पहनने, जूता का फीता बांधने और महिलाओं के हाथ पकड़कर चलने पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की जा रही है। देश में महिलाएं असुरक्षित महसूस कर रही है। इसलिए वे उनका हाथ थामती है। तब वे अहसास कराते हैं कि वे उनके साथ है। यह करना कहां से गलत हो गया। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का नाम न लेते हुए हंसते हुए इशारों में कहा कि जो लोग परिवार और उनकी जिम्मेदारियों से भाग जाते हैं उन्हें इस बात का अहसास नहीं होगा। कन्हैया कुमार ने कहा कि भाजपा की ट्रोल आर्मी राहुल गांधी के चरित्र को लेकर अपमानजनक टिप्पणियां कर रहे है। उन्होंने इसके लिए भाजपा की ट्रोल आर्मी काम कर रही है।

बेरोजगारों के लिए यह यात्रा की जा रही है

Bharat Jodo Yatra
पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए जयराम रमेश।

राहुल गांधी की दाड़ी को लेकर चिंता जताई जा रही है। कन्हैया कुमार ने कहा कि भाजपा उनकी दाड़ी की चिंता  छोड़कर गाड़ी कैसे रखे उस पर बात कीजिए। प्रधानमंत्री रैलियों में कहते हैं कि मैं गाली खाता हूं। देश जानना चाहता है कि वह थाली में क्या खाए यह बताईए। कन्हैया कुमार ने कहा कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा था कि वाशिंगटन की सड़क से बेहतर सड़क एमपी की बताई थी। जबकि बुरहानपुर में बहुत बुरे हालात है। सोयाबीन और कपास की खेती के चलते कई किसान कर्ज के बोझ तले दब गया है। किसानों को फसल की उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। कन्हैया कुमार ने कहा कि यह पा​र्टी या किसी नेता के कैरियर को लेकर चिंता नहीं की जा रही। हमारी चिंता देशभर के युवा बेरोजगारों के लिए हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: पुलिस ने जिसको चार दिन पहले पकड़ा उसने फांसी लगाई

सरकार भाजपा चलाए विपक्ष से प्रगति को लेकर सवाल पूछा जाए

कन्हैया कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पूरा देश कांग्रेस की चिंता कर रहा है। देश की सबसे पुरानी पार्टी है। कई लोग गए और आए। कांग्रेस (Bharat Jodo Yatra ) से निकलकर कई मुख्यमंत्री भी बने। यह समस्या आज की नहीं हैं। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत और सचिन पायलट के बीच चल रहे कलह को लेकर उनका इशारा था। उन्होंने कहा कि किसी भी विवाद का इस यात्रा में कोई असर नहीं डाल पाएगा। उन्होंने राजस्थान के अलावा किसी भी नेता का नाम नहीं लिया। प्रधानमंत्री की रैली में दिए गए बयान का हवाला देकर कन्हैया कुमार ने कहा कि अभी भी कांग्रेस को भाजपा को कोसा जा रहा है। आज भी दिग्विजय सिंह (EX PM Digvijay Singh) को निशाने पर लिया जाता है। जबकि चार बार से भाजपा की सरकार है। देश में दो राज्यों में गुजरात और मध्यप्रदेश में सरकारें किसकी है। सिर्फ कांग्रेस से सवाल पूछा जा रहा है। भारत जोड़ो यात्रा सिर्फ राजनीतिक नहीं है। इसमें कई बुद्धिजीवियों का साथ मिल रहा है।

आरएसएस सांप्रदायिकता की राजनीति करती रही है

Bharat Jodo Yatra
पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कन्हैया कुमार।

कन्हैया कुमार ने कहा कि देश में महात्मा गांधी ने 1942 में अंग्रेजों के खिलाफ भारत छोड़ो यात्रा शुरू की थी। उस वक्त आरएसएस अंग्रेजों के साथ थी। उसके 70 साल बाद राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। अब भी भाजपा समाज को पहचान केे आधार पर बांटने का काम कर रही है। आज रोजी—रोटी की बात नहीं होती। रोजी—रोजगार छीनने वाली पॉलि​सी के खिलाफ हम हैं। उन्होंने कहा कि लाइक का पैमाना आज केवल चुनावी जीतने वाला विजन हो गया है। चुनावी रिजल्ट से कोई पैमाना नहीं हो सकता। भाजपा गोडसे विचारधारा वाली है। फिर दो अक्टूबर को गांधी की मूर्ति पर फूल क्यों चढ़ाते हैं। आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि माफ कीजिए हिंदू धर्म एक महान धर्म हैं। इसको किसी राजनीतिक विचाराधारा से जोड़कर बदनाम मत कीजिए। कांग्रेस सर्वधर्म समभाव में भरोसा रखती हैं। हमारा धर्म किसी भी दूसरे धर्म को मारने या नफरत फैलाने की इजाजत नहीं देता। प्रभु का नाम लेकर लोग अपनी दुकान चलाते हैं। यह एक अलग बात है। लेकिन, देश में आरएसएस सांप्रदायिकता की राजनीति करती आई है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: पीएचक्यू कांस्टेबल पर प्रताड़ना के आरोप

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bharat Jodo Yatra
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!