MP Election News: सोशल मीडिया चुनाव के लिए बहुत ज्यादा चुनौती

Share

MP Election News: एमपी पुलिस के अफसरों ने कुछ महीनों बाद होने वाले चुनाव के दौरान निष्पक्षता और शांतिपूर्ण संपन्न करने के विषय को लेकर मंथन किया

MP Election News
मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय भवन- फ़ाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश में कुछ महीने बाद विधानसभा चुनाव होना है। जिसको लेकर चुनाव आयोग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। इधर, एमपी पीएचक्यू (MP Election News) ने भी चुनाव को लेकर मंथन और चिंतन शुरू कर दिया है। इसी तारतम्य को लेकर भौंरी स्थित पुलिस प्रशिक्षण अकादमी में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के राज्य स्तरीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। जिसमें विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण और निष्पक्ष कराने के लिए मंथन किया गया। खासतौर पर संवेदनशील क्षेत्रों में भयमुक्त वातावरण में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर पाएं, इसे लेकर विशेष रणनीति तैयार की गई।

फ्री, फेयर एंड पीसफुल इलेक्शन करवाना ही पुलिस का मुख्य उद्देश्य

पुलिस मुख्यालय (PHQ) की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार डीजीपी सुधीर सक्सेना (DGP Sudhir Saxena) ने कहा कि वारंटों की तामीली पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन संबंधी एक्ट की हर ऑफिसर को जानकारी हो, यह सुनिश्चित करें। उन्होंने संख्यात्मक की बजाए बड़ी कार्रवाई करने पर जोर दिया। साथ ही माइनर एक्ट, अवैध शराब, अवैध शस्त्र, मादक पदार्थों से संबंधित अपराधों पर प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बॉर्डर मीटिंग पर चुनाव आयोग का विशेष फोकस रहता है। इसके दृष्टिगत सीमावर्ती जिलों के एसपी अन्य प्रदेशों के पुलिस अधिकारियों से समन्वय और बॉर्डर चेकपोस्ट पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि फ्री, फेयर एंड पीसफुल इलेक्शन करवाना ही पुलिस का मुख्य उद्देश्य है। ट्रेनिंग शाखा की तरफ से प्रशिक्षण की विस्तृत रूपरेखा समझाई गई। जिसमें बूथ स्तर तक लगे कर्मचारियों के प्रशिक्षण के बारे में विशेष ध्यान रखा जाए। इस अवसर पर समस्त जोनल एडीजी, इंदौर और भोपाल के पुलिस आयुक्त, डीसीपी, आईजी, डीआईजी, सभी जिलों के एसपी और सभी बटालियन के कमांडेंट ने प्रशिक्षण में सहभागिता की।

यह परीक्षा की घड़ी: डीजीपी

MP Election News
File Photo

डीजीपी सुधीर कुमार सक्सेना ने कहा कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद सतर्क रहें, समय पर मौके पर पहुंचें और तुरंत एक्शन लें। उन्होंने कहा कि आधी समस्या पुलिस के समय पर पहुंचने से हल होती है। त्योहारों के मद्देनजर सभी ध्यान रखें कि सांप्रदायिक सद्भाव बना रहे। इस दौरान सभी को सतर्क रहना होगा। यह आपके कार्य की परीक्षा है। यह सुनिश्चित करें कि मीडिया तक सही जानकारी समय पर पहुंचे। एसीएस गृह राजेश राजौरा (Rajesh Rajaura) ने कहा कि चुनावों में पुलिस के समक्ष सोशल मीडिया जैसी कई चुनौतियां सामने आएंगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशों का यदि उचित ढंग से पालन किया जाए तो इन चुनौतियों को खत्म किया जा सकता है। प्रयास करें कि हम जो भी कार्रवाई करें, वह पुख्ता हो। प्रजातांत्रिक प्रणाली में निष्पक्ष चुनाव करवाना हर पुलिसकर्मी का दायित्व है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: बेटी से मिलने आया लड़का तो मां ने भागते देख लिया

सोशल मीडिया पर भ्रामक खबरें चैलेंज: राजन

मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन (Anupam Rajan) ने कहा कि निष्पक्ष चुनाव (MP Election News) करवाने के लिए जिला स्तर पर भी इलेक्शन मैनेजमेंट प्लान तैयार करने की आवश्यकता है। सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक जिला— निर्वाचन अधिकारी के साथ इसे तैयार करने में अपना योगदान दें। सोशल मीडिया पर भ्रामक खबरों का प्रसारण एक चैलेंज की तरह है। इसके लिए प्रत्येक जिले में सोशल मीडिया सेल स्थापित की गई है। सभी से अनुरोध है कि इसकी सूक्ष्मता से मॉनिटरिंग करें और उचित कार्रवाई करें। बॉर्डर चेक पोस्ट यथाशीघ्र प्रारंभ करें, इसके लिए आदर्श आचार संहिता के लागू होने का इंतजार न करें। पुलिस महानिरीक्षक कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा अनुराग ने चुनाव संबंधी प्रजेंटेशन दिया। उन्होंने कहा कि संपूर्ण प्रदेश में लगभग 65 हजार मतदान केंद्र है और वल्नरेबलिटी मैपिंग के लिए चुनाव आयोग द्वारा जारी मार्गदर्शिका अनुरूप संपूर्ण कार्यवाही की जाना अपेक्षित है।
संदिग्ध लोगों पर रखें निगरानी: एडीजी देशमुख
एडीजी सायबर योगेश देशमुख (ADG Yogesh Deshmukh) ने निर्वाचन व्यय और निगरानी के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी रखी जाएगी। इन स्थानों से आने-जाने वाले संदिग्धों की जानकारी जुटाई जाएगी। आचार संहिता लगने के बाद से पुलिस की तरफ से जब्त की गई अवैध धनराशि, मादक पदार्थ और अन्य बहुमूल्य वस्तुओं की जानकारी चुनाव आयोग को प्रतिदिन समय सीमा में प्रेषित की जाएगी। एडीजी दूरसंचार विपिन माहेश्वरी ने चुनाव के मद्देनजर पुलिस के कम्युनिकेशन प्लान की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चुनाव में कम्युनिकेशन अहम रोल निभाता है। सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक यथाशीघ्र कम्युनिकेशन प्लान तैयार करवाएं और उसका अध्ययन करें।

इवीएम, वीवीपैट मशीन और स्ट्रांग रूम के बारे में दी विस्तृत जानकारी

MP Election News
मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग का भोपाल स्थित भवन

माहेश्वरी ने शेडो एरिया की समीक्षा करने के साथ ही संवेदनशील क्षेत्र तथा ऐसे क्षेत्र जहां नेटवर्क की समस्या हो, उन्हें चिन्हित करने की बात कही। चुनाव के पूर्व कम्युनिकेशन प्लान के अतिरिक्त कार्यरत स्टेटिक सेटों को चुनाव (MP Election News) में प्रयोग में लाना सुनिश्चित किया जाएगा। निर्वाचन कार्यालय से आए नेशनल लेवल मास्टर ट्रेनर प्रमोद शुक्ला ने पुलिस अधिकारियों को इवीएम, वीवीपैट मशीन और स्ट्रांग रूम के बारे में जानकारी दी। उन्होंने इवीएम और वीवीपैट का संचालन, मशीन के खराब या नष्ट होने की स्थिति में निर्वाचन आयोग क्या व्यवस्था करता है, इवीएम में मतों का स्टोरेज किस तरह होता है और उनके सुरक्षा इंतजाम क्या है, आदि की जानकारी प्रदान की। उन्होंने बताया कि ईवीएम की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है। इवीएम और वीवीपैट के लिए सभी जिलों में निर्वाचन आयोग के नियमों के अनुसार वेयरहाउस बनाए गए हैं। इनमें वीवीपैट को डबल लॉक कर सुरक्षित रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें:   MP Scam News: चीनी कंपनियों के उत्पाद किसानों को देने वाले अफसर पर एफआईआर

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Election News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!