BMC News: दफन शव निकालकर पीएम के लिए भेजा शव

Share

BMC News: जीवित मासूम बच्चे को स्ट्रीट डॉग के नोंचकर खाने के मामले में थाना पर निगम अफसरों के खिलाफ कार्रवाई होना तय, पूरे विवाद से एक बार फिर निगम की महापौर ने चुप्पी साधी

BMC News
सांकेतिक चित्र—टीसीआई

भोपाल। स्ट्रीट डॉग ने सात महीने के मासूम बच्चे को नोंचकर खा लिया। जिसके बाद काफी हंगामा भी हुआ। यह मामला तब पुलिस संज्ञान में लिया गया जब प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। अब मीडिया रिपोर्टिंग के बाद नगर निगम और पुलिस थाना (BMC News) स्तर पर कार्रवाई होना तय माना जा रहा है। दोनों ही विभाग एक—दूसरे पर जिम्मेदारियों का ठीकरा फोड़ रहे हैं। यह सनसनीखेज वारदात भोपाल शहर के अयोध्या नगर थाना क्षेत्र की है। जिसमें पुलिस ने दफन शव को निकालकर उसका पीएम कराने के लिए भेज दिया है।

पुलिस ने निगम कर्मचारियों के खिलाफ विधिक सलाह मांगी

अयोध्या नगर (Ayodhya Nagar) थाना पुलिस ने 12 जनवरी की रात लगभग आठ बजे मर्ग कायम किया। जिसके बाद शनिवार सुबह शव शमशान से निकालकर पीएम के लिए भेजा गया। परिवार अयोध्या नगर में रहता है जबकि बच्चे को बिलखिरिया इलाके में दफनाया गया था। अयोध्या नगर पुलिस मर्ग 01/24 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि अयोध्या नगर थाना प्रभारी महेश लीलारे (TI Mahesh Lilare) से सफाई मांगी गई है। हालांकि डीसीपी जोन—2 श्रद्धा तिवारी (DCP Shraddha Tiwari) का कहना है कि पुलिस ने एक्शन लेने में कोई देरी नहीं की है। घटना मिनाल रेसीडेंसी गेट—5 के नजदीक की है। यहाँ काम कर रहे देवेंद्र मेहतर (Devendra Mehtar) पिता अशोक मेहतर के सात महीने के बेटे केशव मेहतर (Keshav Mehtar) को कुत्ते ने चबाकर मार डाला था। परिवार बिलखिरिया थाना क्षेत्र स्थित छावनी पठार में रहता है। हालांकि परिवार गुना जिले के ग्राम पोस्ट प्यासी का रहने वाला है। यहां साफ—सफाई का देवेंद्र मेहतर काम करता है। आवारा कुत्ते उसके सात महीने के बेटे केशव को घसीट ले गए थे। फिर उसे नोंच—नोंचकर मार डाला। जब मां-बाप लौटे तो बच्चा गायब था। बच्चे को उसके परिजन के अलावा आसपास के लोग भी तलाशने लगे थे। उन्हें बच्चा कुत्तों के जबड़े में दिखाई दिया।

राजधानी की निष्क्रिय महापौर पूरे घटना में चुप

थाना प्रभारी महेश लीलारे ने कहा कि जांच के बाद यदि निगम डॉग स्क्वायड की लापरवाही पता चलती है तो उसके संबंध में विधिक सलाह के बाद मामला दर्ज किया जाएगा। इधर, खबर है कि मामले की जानकारी लगते ही नगर निगम (Nagar Nigam) सक्रिय हुआ। वह शहर में भोपाल को स्वच्छता में पांचवां पायदान मिलने पर जश्न मना रहा था। गलती छुपाने आनन—फानन में निगम का डॉग स्क्वायड मौके पर पहुंचा था। वह आवारा कुत्तों को पकड़ रहा था। जिसका पेट लवर्स ने विरोध किया तो वीडियो बनाया गया। यह वायरल होते हुए पुलिस के पास पहुंचा था। लेकिन, पुलिस ने उस वक्त भी कोई स​क्रियता नहीं दिखाई। मामला निगम का मानकर चुप बैठी रही। उधर, निगम कमिश्नर फ्रैंक ए नोबल का कहना है कि पुलिस जांच में यदि निगम की गलती पाई जाती है तो जिम्मेदारों पर कार्यवाही होगी। वहीं डीसीपी जोन—2 श्रद्धा तिवारी ने कहा कि पुलिस के पास कोई सूचना नहीं थी। मामला तब संज्ञान में आया जब घटना से संबंधित विवाद का वीडियो वायरल हुआ। वहीं राजधानी भोपाल की मेयर मालती राय पूरे एपिसोड से गायब थीं। मेयर शहर के किसी भी अच्छे—बुरे विषय पर कभी भी प्रतिक्रिया ही नहीं देती हैं। इसी तरह निगम का विपक्ष भी मुद्दों को लेकर सड़क पर कभी नहीं दिखता।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

BMC News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime : जीजा को इतनी बुरी लगी छोटी सी बात, साले की शादी से पहले ही उसे मारना चाहता था
Don`t copy text!