MP Political News: एमपी की राजनीति में बड़े बदलाव के संकेत

Share

MP Political News: प्रदेश भाजपा संगठन के भीतर चल रही है हलचल, बंद कमरों के बीच हुई बैठकों के बाद अफवाहों का बाजार गर्म, चर्चाओं के केंद्र बिंदु में केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का अचानक भोपाल दौरा

Jyotiraditya Scindia
ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद, फाइल फोटो

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजनीति बहुत बड़े उलटफेर के संकेत दिख रहे हैं। यदि यह अफवाहें साबित हुई तो चालीस महीने के भीतर इसे बहुत बड़ा ट्रंप कार्ड कहा जा सकता है। यह सारी कवायद भारतीय जनता पार्टी (MP Political News) के भीतर संगठन में चल रही हैं। जिसके केंद्र बिंदु में केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं। पार्टी के भीतर ही भीतर चल रहे इस अफवाह को तब बल और मिला जब अचानक दिल्ली से भोपाल सिंधिया आ गए। राजनीतिक जानकार मान रहे हैं कि यदि जिस तरह की अटकलें चल रही हैं वह सही साबित हुई तो कांग्रेस के लिए इस साल होने वाला विधानसभा चुनाव काफी मायने में मशक्कत वाला बन जाएगा। बहरहाल सोशल मीडिया से लेकर तमाम राजनीतिक गलियारों के बीच चल रही बातों को हमारी तरफ से पुष्टि नहीं की जा सकती।

इस कारण दिखाई दे रही है हलचल

भाजपा पार्टी सूत्रों की माने तो यह बाजार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 27 जून की यात्रा से चल रही है। दरअसल, मोदी केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Mantri Jyotiraditya Scindia) को अपने साथ विमान में दिल्ली ले गए थे। यह बेहद अचानक हुआ घटनाक्रम था। इसके बाद मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) भोपाल आए थे। उस वक्त वे पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को एकजुट होने का संदेश देकर गए। इसके भी राजनीतिक मायने निकाले जा रहे थे। इसी बीच बुधवार को अचानक ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल आ गए। यह दौरा कार्यक्रम पहले से तय नहीं था। क्योंकि वे दिल्ली में आयोजित कैबिनेट की बैठक के बाद यहां पहुंचे। इन्हीं सभी घटनाक्रमों को लेकर भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के भीतर संगठन में काफी हलचल चल रही है।

एमपी के युवाओं के बीच चर्चित है सिंधिया का चेहरा

मध्यप्रदेश की राजनीति में मार्च, 2020 में ज्योतिरादित्य सिंधिया सुर्खियों में आए थे। वे अपने विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए थे। जिस कारण पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सरकार अल्पमत में आ गई थी। इस कारण भाजपा को अपनी खोई सत्ता वापस पाने का मौका मिल गया। एमपी में अभी भाजपा के खिलाफ काफी सत्ता विरोधी लहर चल रही है। जिसको थामने में कई प्रयास केंद्र और राज्य के विफल साबित हो रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया, युवाओं के बीच चिर—परिचित चेहरा है। जिसको भुनाने का प्रयास किया जा रहा है। क्योंकि अगले साल लोकसभा चुनाव है। यदि एमपी हाथ से गया तो भाजपा को लोकसभा चुनाव में भी मुश्किलें खड़ी हो सकती है। इसलिए वह एमपी के विधानसभा चुनाव को काफी गंभीरता से ले रही है।
यह भी पढ़िएः तीन सौ रूपए का बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटने के लिए आने वाला अमला, लेकिन करोड़ों रूपए के लोन पर खामोश सिस्टम और सरकार का कड़वा सच

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Political News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: नाबालिग को अगवा कर ज्यादती करने वाला दोषी करार
Don`t copy text!