MP Cop Gossip: हनी—मनी की फाइल घुमकर वहीं पहुंचीं

Share

MP Cop Gossip: बहन की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में पोस्टमार्टम नहीं कराने वाले थाने के अधिकारियों की शिकायत डीजीपी से करने पर बिफरे एसपी ने भाई को तमाचा मारा, सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कराई फर्जी शिकायत

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस विभाग काफी बड़ा है। उसमें भीतर ही भीतर बहुत कुछ चल रहा होता है। इसमें कुछ बातें सामने आती है तो कुछ दबी रह जाती हैं। उन्हीं बातों का हमारा साप्ताहिक कॉलम एमपी कॉप गॉसिप (MP Cop Gossip) हैं। इसमें प्रदेश पुलिस की अंदरुनी खबरें दी जाती हैं। यह प्रयास मैदानी अमले से मिलने वाली सूचनाओं से ही संभव होता है। यदि आपके पास भी कोई रोचक जानकारी है तो हमसे जरुर साझा करें। हमारा मकसर किसी व्यवस्था, विभाग या अफसर को कमतर आंकना नहीं होता। इस कारण हमारी तरफ से अधिकारियों का नाम नहीं दिया जाता।

घुम—फिरकर फाइल वहीं पहुंची

एमपी का चर्चित मामला हनी मनी हैं। इसमें कई सफेदपोश की अस्मत और उसके भाग्य का पिटारा छुपा हुआ है। इनकी खबरों को लेकर एक मीडिया हाउस भी जमींदोज कर दिया गया है। कोई भी व्यक्ति छोटा नहीं हैं। इसलिए पिछले कई साल से इसमें गठित एसआईटी जांच कर रही हैं। हालांकि यह जांच किन बिंदुओं पर उसके निष्कर्ष पर अब तक क्या हुआ यह साफ नहीं हो सका है। अब घुमते—फिरते नए अफसर इसके तैनात कर दिए गए हैं। यह वही अफसर है जो पहले मार्गदर्शन दिया करते थे जांच को लेकर। अब उन्हें यह जांच देने को लेकर पीएचक्यू में कानाफूसी होने लगी हैं। इसी एसआईटी को लेकर एक अन्य अफसर भी पहले ही मीडिया की सुर्खियों में आ चुके हैं।

राजनीति में जाने का हल्ला मचाया

भारतीय पुलिस सेवा के एक अफसर ने राजनीति में जाने का हल्ला मचा दिया हैं। यह अफसर (MP Cop Gossip) अपने पत्नी के साथ रिश्तों को लेकर अक्सर विवादों में रहे हैं। उनका एक वीडियो भी जमकर वायरल हुआ था। जिसमें वे एक महिला के घर पर थे। जहां उनकी पत्नी पहुंच जाती है और भारी घमासान होता है। जिस कारण उन्हें नौकरी में हटाने से लेकर कई अन्य निर्णय सरकार लेती है। हालांकि वे कैट की मदद से बहाल तो हो जाते हैं। अब उन्हीं अधिकारी की खबर चल रही है कि वे एक राष्ट्रीय पार्टी के दल से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। यदि ऐसा हुआ तो पुराने वीडियो के साथ महिला हिंसा को लेकर होने वाली बात का दौर चलना लाजिमी हैं।

एसपी बोले सीधा मत समझ, उलझा दूंगा

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

प्रदेश के एक जिले में नव विवाहिता की मौत हो गई। मामला थाने पहुंचा लेकिन मर्ग कायम नहीं किया गया। नतीजतन, पीएम भी नहीं हुआ। फर्जीवाड़ा कागजों पर जमकर किया गया। इस बात का अहसास नव विवाहिता के भाई को पता चला तो उसने राष्ट्रपति से लेकर एमपी डीजीपी को पत्र भेज दिया। यह बात राजधानी भोपाल में स्थित पुलिस मुख्यालय के गलियारों से होकर जिले के एसपी तक पहुंच गई। यह जानने के बाद एसपी आगबबूला हुए और उन्होंने नव विवाहिता के भाई के गाल पर ताबड़तोड़ अपने हाथों की लकीरें कितनी गहरी हैं यह बता दी। इस दौरान युवक को उलझाने की धमकी भी दी गई। जिसके बाद एक दूसरे थाने (MP Cop Gossip) में फर्जी मोबाइल नंबर से उस युवक के मोबाइल नंबर का हवाला देकर सीएम हेल्प लाइन में फर्जी शिकायत दर्ज करा दी गई। अब उस थाने की पुलिस उस युवक पर दबाव डाल रही है कि वह मोबाइल से फोन करके सीएम हेल्प लाइन की शिकायत बंद कराए। पुलिस मुख्यालय के सूत्र बता रहे हैं कि इसमें यदि बारीकी से जांच हो गई तो आधा दर्जन अफसर और मैदानी कर्मचारियों को नपना तय है। यदि यह विषय राष्ट्रीय महिला आयोग के संज्ञान में भी आ गया तो मामला तूल पकड़ सकता है। इसके अलावा अशासकीय संस्था को इस फर्जीवाड़े की भनक लगी तो कोहराम मच सकता है। यह बोलकर पीएचक्यू के अफसर ने संबंधित जिले के एसपी को जमकर लताड़ा भी था। हालांकि वे अफसर अपनी आदतों से बाज नहीं आए और उन्होंने दूसरी बड़ी भूल करके पुलिस मुख्यालय के सामने संकट पैदा कर दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दो बहनों के बीच एक दीवार को लेकर कहासुनी

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!