Bhopal News: एमपी की राजधानी बनी उड़ता भोपाल…

Share

Bhopal News: दो महीने तक नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराकर उसकी बुरी लत छुड़ाने के परिजनों ने काफी किए प्रयास, अब लौटकर आया तो उठाया यह कदम

Bhopal News
जनहित में संदेश: आत्महत्या के विचार आना मानसिक अवसाद के लक्षण है। अकेलापन, खामोशी, चिढ़चिढ़ापन, गुस्सा आना उसके लक्षण हैं। ऐसी अवस्था में परिवार से बातचीत करें और चिकित्सकों से सलाह अवश्य ले।

भोपाल। एमपी की राजधानी भोपाल नशा माफिया की गिरफ्त में हैं। यहां गांजा, अफीम, एमकैट से लेकर तमाम नशे के सामान आसानी से उपलब्ध है। नतीजतन, कई नशा मुक्ति केंद्र धड़ल्ले से खुल रहे हैं। ताजा घटना भोपाल (Bhopal news) शहर के चूना भट्टी थाना क्षेत्र की है। यहां रहने वाले एक युवक को नशे की बुरी लत थी जिसको छुड़ाने के परिजनों ने काफी प्रयास किए थे। लेकिन, आखिर में उस युवक ने जो फैसला लिया वह परिवार को हैरान करने वाला रहा।

इस तरह से करने लगा था नशा

चूना भट्टी (Chuna Bhatti) थाना पुलिस के अनुसार यहां कोलार बस्ती में आशु पिता धीरज उम्र 25 साल रहा था। उसके पिता बैंक में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं। आशु फिलहाल चाउमीन का ठेला लगाता था। वह नशे की बुरी लत से घिरा हुआ था। उसको परिजनों ने नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था। वहां से दो महीने बाद वह लौट आया था। लेकिन, उसकी लत खत्म नहीं हो रही थी। आशु सुलोचन का सेवन करने लग गया था। इस बात को लेकर उसके भाई ने उसे फटकारा भी था। वह बुरी लत को लेकर परेशान भी चल रहा था। उसने एक जून की दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे फांसी लगा ली। उसे फंदे पर लटके हुए उसकी मां ने देखा था। परिजन उसे फंदे से उतारकर जेपी अस्पताल (JP Hospital) ले गए थे। यहां चिकित्सकों ने उसको मृत घोषित कर दिया। चूना भट्टी पुलिस मर्ग 15/24 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। जांच हवलदार रणवीर सिंह कलम (HC Ranveer Singh Kalam) कर रहे हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Fisheries Contract Dispute: छोटे तालाब के लिए बड़ा खेल!
Don`t copy text!