MP Cop Gossip: रेस्टोरेंट मालिक से थाना प्रभारी परेशान

Share

MP Cop Gossip: मंत्री के एक मामले में पड़ चुकी है फटकार, अब रेस्टोरेंट में होने वाली हर गतिविधि की थाने से लेना पड़ती है अनुमति

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। हमारा साप्ताहिक नियमित कॉलम एमपी कॉप गॉसिप है। इस बार आपको एक नई जानकारी दे रहे हैं। यह आपको गुदगुदाएगी जरुर। यदि आपके पास भी कोई जानकारी हो तो वह हमसे साझा की जा सकती है। हमारा मकसद सिर्फ यह संदेश देना है कि जानकारियां छुपाई नहीं जा सकती। एमपी में भाजपा की सरकार है। उसका हर स्थान पर कितना नियंत्रण होता हैं, यह रोचक विषय से आपको पता चल जाएगा। मामला भोपाल (MP Cop Gossip) शहर के एक थाने से जुड़ा है। घटना में थाना प्रभारी और रेस्टोरेंट मालिक सीधे—सीधे जुड़े हैं।

राजधानी में पत्रकारिता के बुरे हालात के लिए जिम्मेदार सरकार

शहर में आम पीड़ितों के लिए पत्रकार वार्ता के लिए कोई अदद ठिकाना नहीं हैं। पत्रकार भवन जमींदोज कर दिया गया है। उसकी जगह मीडिया कन्वेंशन सेंटर बनना है। यह निर्णय शिवराज सिंह चौहान सरकार में हुआ था। उनके जाने के बाद अब तक उसको लेकर आगे कोई कार्रवाई नहीं चल रही। शहर में कुछ चुनिंदा जगह ही शेष है जहां आम नागरिक, संगठनों की तरफ से पत्रकार वार्ता की जाती है। ऐसे ही एक रेस्टोरेंट शहर में चर्चित है। यहां अक्सर पत्रकार वार्ताएं आयोजित की जाती है। पिछले दिनों यहां प्रदेश के एक मंत्री के खिलाफ पत्रकार वार्ता आयोजित हो गई। जिसकी जानकारी जनसंपर्क संचालनालय को लगती तब त​क वह न्यूज जगह—जगह चल पड़ी। यह बात यहां—वहां होते हुए मंत्री तक पहुंची। उन्होंने अपने नेटवर्क के जरिए संबंधित रेस्टोरेंट के थाने में तैनात थाना प्रभारी की हवा निकाल दी। फिर क्या था उसके बाद रेस्टोरेंट में जब भी कोई पत्रकार वार्ता होना है तो उसकी अनुमति पहले थाने से लेना होती हैं। यह राजधानी भोपाल शहर में बोलने के अधिकार की नीतियों का हाल हैं। जिस पर भोपाल शहर के अधिकारी भी खामोश हैं। वे थाना प्रभारी के सामने आकर मातहत के सामने कप्तान होने की भूमिका ही नहीं निभा पाए।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   एसटीएफ की एफआईआर को सीबीआई ने पलटा
Don`t copy text!