Bhopal Fraud News: साढ़े चार लाख रुपए रुपए का फर्जीवाड़े में खुलासा 

Share

Bhopal Fraud News: इंदौर में किराए के मकान से चला रहे थे फर्जी ट्रेडिंग वेबसाइट, लोगों को कॉल करके विदेशी मुद्रा में निवेश करने पर मोटा मुनाफा कमाने का देते थे लालच, तीन आरोपियों के खातों से दर्जनों लोगों के साथ फर्जीवाड़ा होने का मिला सुराग

Bhopal Fraud News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। फॉरेन करेंसी में निवेश करने पर मोटा मुनाफा मिलने का लालच देकर एक व्यक्ति के साथ साढ़े चार लाख रुपए का फर्जीवाड़ा (Bhopal Fraud News) किया गया। इस मामले की जांच भोपाल सायबर क्राइम ब्रांच (Bhopal Cyber Crime Branch) की टीम कर रही थी। जिसने जांच के बाद तीन आरोपियों को इंदौर शहर से गिरफ्तार किया है। आरोपी किराए के मकान से फर्जी ट्रेडिंग वेबसाइट चला रहे थे। पुलिस को प्राथमिक जांच में अब तक सौ लोगों के साथ फर्जीवाड़ा करने की जानकारी मिली है।

इस तरह से शातिर जालसाज देते थे वारदात को अंजाम

भोपाल पुलिस की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार आरोपियों ने OCTA TRADING नाम से फर्जी वेबसाईट बनाई थी। वे शेयर मार्केट (Share Market) में ट्रेडिंग करने वाले ग्राहकों के नंबर और उनकी जानकारी निकालने के बाद उनसे संपर्क करते थे। पुलिस का कहना है कि आरोपी यह काम एक साल से कर रहे थे। ठगी करने के लिये आरोपी फर्जी बैंक खाते और मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर रहे थे। इस मामले की शिकायत 25 अप्रैल को दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) ने दर्ज कराई थी। उससे आरोपियों ने कॉल करके करीब साढ़े चार लाख रुपए निवेश के नाम पर ऐंठ लिए थे। पुलिस ने 91/2024 धारा 420 (जालसाजी का प्रकरण) दर्ज कर मामले की जांच शुरु कर दी थी। आरोपी OCTA ट्रेडिंग वेबसाइट पर डिमैट अकाउंट खुलवाते थे। जिसमें करंसी में इन्वेस्टमेंट हेतु फर्जी ट्रैड कराये और दिखाएं जाते थे। पीड़ितों को फर्ज़ी मुनाफा OCTA ट्रेडिंग वेबसाइट पर ही दिखाकर ग्राहक के वॉलेट में उसे शो किया जाता था। जिसको देखकर पीड़ित और ज्यादा रकम लगा देते थे।

यह है वह जालसाज जिन्हें पुलिस ने दबोचा

फर्जी वेबसाईट (Fake Website) के वास्तविक उपयोग करने वालों की जानकारी के लिए तकनीकी टीम ने जानकारी जुटाई। बैंक खाते और मोबाईल नंबर के आधार पर गिरोह के अन्य आरोपीगणों की पहचान हुई। आरोपियों से दो लैपटॉप, दो आईफोन मोबाईल, तीन एंड्रॉयड फोन, 07 कीपेड मोबाईल फोन जब्त किए गए। पुलिस ने इस मामले में आयुष ठाकुर (Ayush Thakur) पिता अंगूर सिंह ठाकुर उम्र 19 साल को गिरफ्तार किया। वह सीहोर (Sehore) जिले में ग्राम जावर का रहने वाला है। फिलहाल आयुष ठाकुर इंदौर (Indore) में रहता है। वह ग्राहकों से काल के जरिए संपर्क करता था। इसके अलावा नितिन ठाकुर (Nitin Thakur) पिता ज्ञान सिंह ठाकुर उम्र 21 साल भी गिरफ्तार किया गया। देवास (Dewas) जिले में रहने वाला नितिन ठाकुर इंदौर में रहता है। आरोपी फर्जी वेबसाईट पर डीमेट अकाउंट खुलवाना और इनवेस्टमेंट के नाम पर पैसे डलवाता था। तीसरा आरोपी पृथ्वीराज सिंह सेंधव (Prithviraj Singh Sendhav) पिता लखन सिंह उम्र 24 साल है। वह भी देवास जिले का रहने वाला है। आरोपी इंदौर में रहकर फर्जी वेबसाइट की जानकारियों को संभालने का काम करता था। पुलिस को इसके अलावा कई अन्य फरार आरोपियों की भी तलाश है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Fraud News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: एलएनसीटी छात्र की मौत से पहले जल गई सस्पेंस वाली डायरी
Don`t copy text!