Bhopal News: ट्रिनिटी कॉलेज के छात्र ने फांसी लगाई 

Share

Bhopal News: मैनिट के बाद फिर दूसरे कॉलेज के छात्र से जुड़ी यह घटना, एक सप्ताह के भीतर में छात्र से जुड़ी तीसरी मार्मिक कहानी सामने आई

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। पिछले एक सप्ताह में तीन अलग—अलग स्थानों पर छात्रों ने फांसी लगाई है। ताजा घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के पिपलानी इलाके में हुई। यहां ट्रिनिटी कॉलेज के छात्र ने किराए के कमरे में फांसी लगाई। इससे पूर्व कमला नगर में मैनिट तो कोलार इलाके में दूसरे निजी कॉलेज के छात्र ने फांसी लगाई थी। इनमें से दो छात्र मूलत: बिहार के रहने वाले हैं। पिपलानी इलाके में हुई घटना के संबंध में अभी ठोस कारण सामने नहीं आए हैं। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पीएम के लिए भेज दिया है।

यह पता लगा रही है पुलिस

पिपलानी थाना प्रभारी अजय नायर (TI Ajay Nair) ने बताया कि घटना सच्चिदानंद इलाके में हुई। यहां ऋषिकेश पांडे (Rishikesh Pandey) के कमरे में छात्र किराए से रहता था। घटना 12 अप्रैल की दोपहर में हुई थी। कमरे में बिहार केे रोहतक जिले के सासाराम थाना क्षेत्र में रहने वाला रवि रंजन कुमार (Ravi Ranjan Kumar) पिता हृदय नंद सिंह कुमार उम्र 25 साल किराए से रहता था। वह यहां पर ट्रिनिटी कॉलेज (Trinity College)  से इंजीनियरिंग का कोर्स कर रहा था। घटना स्थल से पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस रवि रंजन कुमार के दोस्तों से वजह जानने का प्रयास कर रही है। पिपलानी पुलिस मर्ग 14/23 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। जनहित में संदेश: अकेलापन, मायूसी, चुप रहना मानसिक अवसाद के लक्षण है। यह संके​त मिलने पर तुरंत 18005990019 पर संपर्क करें। यहां चौबीस घंटे मनोचिकित्सक निशुल्क परामर्श के लिए उपलब्ध रहते हैं। 

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News : गले में ब्लैड मारकर किया जानलेवा हमला
Don`t copy text!