Coronavirus : इंदौर में मिले 7 नए पॉजीटिव, प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 47

Share

बिगड़ती स्थिति के बीच इंदौर में तीन दिनों तक न दूध मिलेगा, न सब्जी

कोरोना वायरस की साइंटिफिक इमेज

भोपाल। MP Coronavirus Update मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। एक बार फिर इंदौर (Indore) में कोविड-19 (COVID-19) से पीड़ित मरीजों के नए मामले सामने आए है। सोमवार को 7 मरीजों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। वहीं उज्जैन (Ujjain) में भी एक नए मामले की पुष्टि हुई है। प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 47 हो गई है। इंदौर में सबसे ज्यादा 27 मामले है। महात्मा गांधी मेमोरियरल मेडिकल कॉलेज की डीन डॉक्टर ज्योति बिंदल (Dean Jyoti Bindal) ने न्यूज एजेंसी को जानकारी देते हुए बताया कि 8 नए मामलों में 7 इंदौर के है और एक उज्जैन का। इसी तरह प्रदेश के अन्य शहरों में भी कोरोना संक्रमित मरीज मिले है। जबलपुर (Jabalpur) में 8, उज्जैन (Ujjain) में 5, भोपाल (Bhopal) में 3 और शिवपुरी (Shivpuri), ग्वालियर (Gwalior) में 2-2 मरीजों की पुष्टि हुई है। प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में कोरोना वायरस से संक्रमित 45 मरीज भर्ती है। बता दें कि इस बीमारी से अब तक इंदौर के एक शख्स और उज्जैन की महिला की मौत हुई है।

यह भी पढ़ेंः अर्थी उठाने नहीं आए रिश्तेदार, मुस्लिम युवकों ने राम नाम सत्य है बोलते हुए पहुंचाया श्मशान घाट

वहीं इंदौर में बढ़ते कोरोना संकट के बीच प्रशासन ने सख्त कदम उठा लिए है। रविवार को नवागत कलेक्टर मनीष सिंह ने अगले तीन दिनों के लिए आदेश जारी किया। जिसके बाद अब 30, 31 मार्च और 1 अप्रेल को इंदौर में सब्जी और दूध भी नहीं मिलेगा। जानकारी के मुताबिक कलेक्टर ने इस सख्ती के पीछे कोरोना की चैन को तोड़ने का हवाला दिया है।

यह भी पढ़ें:   Corona संकट पर सीएम शिवराज ने 16 मिनट में की ये 12 बड़ी बातें

इंदौर को पूरी तरह बंद करने के निर्णय पर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आपत्ति जताते हुए ट्वीट किया कि- शिवराज जी,प्रदेश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन का सख़्ती से पालन हो,इसमें किसी को गुरेज़ नहीं है लेकिन इंदौर में जिस प्रकार से दूध की सप्लाई को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है वो बेहद ही आपत्तिजनक है। दूध-दवाई आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में आती है।

दूसरे ट्वीट में कमल नाथ ने लिखा कि- देश भर में आवश्यक वस्तुओं पर कोई रोक नहीं है।इस निर्णय से उन बच्चों , बुजुर्गों , मरीज़ों का क्या होगा जो दूध पर ही आश्रित है ? उन पशु पालकों के बारे में भी सोचे , जो पूर्व से ही दोहरी मार झेल रहे है। जनहित में इस निर्णय को तत्काल बदला जावे।

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   जीतू पटवारी के खिलाफ FIR पर भड़के कमलनाथ, शिवराज सरकार को दी खुली चेतावनी
Don`t copy text!